कलेक्टर ने बैठक में की अभियान की तैयारियों की समीक्षा…

“हर घर तिरंगा” अभियान के तहत जिले में फहरायेंगे साढ़े तीन लाख राष्ट्रीय ध्वज

ग्वालियर। “हर घर तिरंगा” अभियान को पूरी गंभीरता से लें। इस अभियान का मूल उद्देश्य हर नागरिक में देशभक्ति की भावना जागृत करना है। इसलिए प्रयास ऐसे हों जिससे यह अभियान केवल शासकीय अभियान नहीं बल्कि जन – जन का अभियान बने। इस आशय के निर्देश कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने अंतरविभागीय समन्वय बैठक में सभी संबंधित अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा 11 से 17 अगस्त तक चलने वाले इस अभियान के तहत जिले में 3 लाख 50 हजार राष्ट्रीय ध्वज लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। मंगलवार को यहाँ कलेक्ट्रेट के सभागार में आयोजित हुई बैठक में कलेक्टर श्री सिंह ने निर्देश दिए कि हर घर तिरंगा अभियान का व्यापक प्रचार-प्रसार करें, जिससे नागरिक स्वत: ही अपने घर पर राष्ट्रीय ध्वज लगाने के लिये आगे आएँ। उन्होंने कहा अभियान के तहत जिले के हर घर, हर व्यवसायिक प्रतिष्ठान तथा शासकीय एवं अशासकीय कार्यालयों पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाए। श्री सिंह ने कहा कि इस राष्ट्रीय अभियान में अधिक से अधिक जनभागीदारी होना चाहिए। 

जिला प्रशासन ने राष्ट्रीय ध्वज निर्माण में योगदान देने के लिये रेडक्रॉस का बैंक खाता निर्धारित किया गया है। सभी शासकीय एवं अशासकीय संस्थायें रेडक्रॉस में पैसा जमा कर राष्ट्रीय ध्वज प्राप्त कर सकेंगे। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी आशीष तिवारी ने बैठक में जानकारी दी कि जिले में अब तक लगभग 80 हजार झण्डे तैयार हो गए हैं। साथ ही लक्ष्य के अनुसार स्व-सहायता समूहों के माध्यम से राष्ट्रीय ध्वज तैयार कराए जा रहे हैं। बैठक में जिला पंचायत के सीईओ आशीष तिवारी व एडीएम एच बी शर्मा सहित जिले के सभी एसडीएम एवं विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद थे। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने बैठक में जोर देकर कहा कि सभी एसडीएम एंटी माफिया अभियान में तेजी लाएँ। मिलावटखोरी व अवैध उत्खनन को सख्ती से रोका जाए। साथ ही सरकारी जमीन से अवैध अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई अभियान बतौर करें, इस कार्य में कोई ढ़िलाई न हो। उन्होंने कहा सभी एसडीएम अपने-अपने क्षेत्र में भू-माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई के लिये विशेष मुहिम चलाएँ। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने अंकुर अभियान के तहत वृहद स्तर पर पौधरोपण करने पर विशेष बल दिया। 

उन्होंने सभी जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों सहित सभी संबंधित अधिकारियों को आगाह किया कि जिस विभाग में लक्ष्य की पूर्ति नहीं हुई, उन विभागों के कार्यालय प्रमुखों के खिलाफ सख्त अनुशासनात्मक कार्रवाई की जायेगी। अंतरविभागीय समन्वय बैठक में कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने सीएम हैल्पलाइन की शिकायतों में तेजी लाने के निर्देश सभी संबंधित अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा इसमें किसी भी प्रकार की बहानेबाजी बर्दाश्त नहीं होगी। उन्होंने नामांकन, बँटवारा व सीमांकन प्रकरणों के निराकरण में तेजी लाने पर भी विशेष बल दिया। जिले के ग्रामीण अंचल में तैयार हो चुकीं नई नल-जल योजनाओं को जल्द से जल्द शुरू करने के निर्देश भी बैठक में दिए गए। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंधक को निर्देश दिए कि नल-जल योजनाओं के लिये बिजली कनेक्शन देने में कदापि देरी न हो। उन्होंने कार्यपालन यंत्री पीएचई एवं विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंधक से आपसी समन्वय बनाकर नल-जल योजनाओं को सुचारू करने के निर्देश दिए।