G News 24 : गौतम गंभीर बन गए हैं नए कोच उनके सामने हैं अब ये 5 बड़े चैलेंज !

 टीम को चैंपियन बनाकर गए हैं द्रविड़...

गौतम गंभीर बन गए हैं नए कोच उनके सामने हैं अब ये 5 बड़े चैलेंज !

भारतीय क्रिकेट टीम के नए कोच गौतम गंभीर बन गए हैं.  कभी हार न मानने के जज्बे के कारण भारतीय क्रिकेट में अलग पहचान बनाने वाले गौतम गंभीर को अपनी शर्तों पर काम करने वाला व्यक्ति भी माना जाता है और यह देखना दिलचस्प होगा कि भारतीय टीम के मुख्य कोच की भूमिका में वह किस तरह से आगे बढ़ते हैं.  गंभीर वह खिलाड़ी रहे हैं जिन्होंने वीरेंद्र सहवाग के साथ मिलकर भारतीय सलामी जोड़ी को नई दिशा दी थी. आईपीएल में कोलकाता नाइट राइडर्स को दो बार चैंपियन बनाकर उन्होंने साबित कर दिया कि वह एक कुशल रणनीतिकार हैं. इस साल आईपीएल में वह कोलकाता के मेंटर बने थे और यह टीम तीसरी बार खिताब जीतने में सफल रही थी. एक क्रिकेटर के रूप में गंभीर की बात करें तो यह कहा जा सकता है कि वह अपने साथी बल्लेबाजों वीरेंद्र सहवाग, राहुल द्रविड़, सचिन तेंदुलकर और वीवीएस लक्ष्मण के कुछ न कुछ गुण खुद में समाहित किये हुए है. अब गंभीर भारतीय टीम के कोच है. उनका कार्यकाल श्रीलंका के दौरे से शुरू होगा.

गौतम गंभीर के सामने बतौर कोच कौन- कौन से चैलेंज आने वाले हैं-

सीनियर खिलाड़ियों के साथ तालमेल बिठाना 

गौतम गंभीर को सीनियर खिलाड़ियों के साथ तालमेल बैठाकर आगे बढ़ना होगा. गंभीर को कप्तान रोहित शर्मा का भरपूर सपोर्ट चाहिए होगा. रोहित वनडे और टेस्ट में भारतीय टीम की कप्तानी करने वाले हैं. विराट कोहली भी वनडे और टेस्ट मैच खेलेंगे. भारतीय टीम में इस समय अश्विन, जडेजा, कोहली और रोहित ऐसे खिलाड़ी हैं जिनकी उम्र 35 से ज्यादा है .गंभीर को इन खिलाड़ियों के रिप्लेसमेंट के तौर पर भी खिलाड़ियों की खोज अभी से ही करनी होगी. जिससे इन खिलाड़ियों के जाने के बाद वे खिलाड़ी टीम इंडिया का हिस्सा बन सके. ऐसे में गंभीर के पास युवा खिलाड़ियों को मैच विनर बनाने का भी जिम्मा होगा. 

चैंपियंस ट्रॉफी में विजेता बनने की चुनौती

कोच गंभीर के सामने सबसे बड़ी चुनौती में से एक 2025 का चैंपियंस ट्रॉफी  का खिताब जीतना होगा. चैंपियंस ट्रॉफी में भारतीय टीम ने दो बार खिताब अपने नाम किया है. 2002 और 2013 में भारतीय टीम चैंपियंस ट्रॉफी का खिताब जीतने में सफल रही है. 2013 में धोनी की कप्तानी में भारत ने चैंपियंस ट्रॉफी का खिताब जीता था. अब इस बार 2025 में पाकिस्तान में चैंपियंस ट्रॉफी का खिताब होना है. ऐसे में गंभीर के लिए कोच के रूप में यह अग्नि परीक्षा होने वाली है. 

टेस्ट में भारत को चैंपियनशिप का खिताब दिलाना

भारतीय क्रिकेट टीम वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का खिताब दो बार जीत पाने में असफल रही है. पहली बार भारत को फाइनल में न्यूजीलैंड ने हराया था. वहीं, दूरी बार ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत को वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप  में हार का सामना करना पड़ा था. अब 'गुरु गौतम' के सामने भारत को विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का खिताब दिलाने की जिम्मेदारी होगी. 2025 के वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचने के लिए भारत को न्यूजीलैंड, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया  के खिलाफ टेस्ट सीरीज में कमाल का खेल दिखाना होगा. भारतीय टीम घरेलू मैदान पर बांग्लादेश से 2 टेस्ट, न्यूजीलैंड से 3 टेस्ट मैच खेलेगी. इसके बाद नवंबर से जनवरी में भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर जाकर टेस्ट सीरीज खेलने वाली है. गंभीर के सामने ऑस्ट्रेलिया में जीत की हैट्रिक लगाने की चुनौती होगी. 

एशिया कप

राहुल द्रविड़ की कोचिंग में भारत ने एशिया कप का खिताब जीता था. गंभीर की कोचिंग में भारतीय टीम दो दफा एशिया कप टूर्नामेंट खेलने वाली है. 2025 और 2027 में एशिया कप का आयोजन होना है. 2025 टी-20 फॉर्मेट में तो वहीं, 2027 का टूर्नामेंट वनडे फॉर्मट में खेला जाएगा. कोच गंभीर पर एशिया कप का खिताब बरकरार रखने की जिम्मेदारी होगी. 

टी-20 वर्ल्ड कप 2026

अब 2026 में टी-20 वर्ल्ड कप खेला जाएगा. गंभीर पर बतौर कोच अभी से ही ऐसे खिलाड़ियों को तैयार करने की जिम्मेदारी होगी जो 2026 का टी-20 वर्ल्ड कप खेलेंगे. भारत ने इस बार खिताब जीता है. ऐसे में गंभीर पर टी-20 वर्ल्ड कप के खिताब को बचाने की जिम्मेदारी होगी.

2027 का वनडे वर्ल्ड कप 

2027 में वनडे वर्ल्ड कप खेला जाएगा. गंभीर 2027 तक भारत के कोच रहेंगे. भारतीय टीम 2023 के फाइनल में पहुंची थी लेकिन जीत नहीं पाई थी. ऐसे में गंभीर के लिए सबसे बड़ी चुनौती भारत को वनडे का वर्ल्ड कप जीताना होगा. भारत ने 1983 और 2011 में वनडे का वर्ल्ड कप जीतने में कामयाबी पाई है. 

गौतम गंभीर के कोचिंग करियर का शेड्यूल 

- 2024 में ऑस्ट्रेलिया में 5 टेस्ट

- 2025 में चैंपियंस ट्रॉफी

- 2025 में WTC फाइनल

- 2025 में इंग्लैंड में 5 टेस्ट

- 2026 में T20I विश्व कप

- 2026 में न्यूज़ीलैंड में 2 टेस्ट

- 2027 में WTC फाइनल

- 2027 में वनडे विश्व कप

G News 24 : टी20 विश्व कप की विजेता टीम इंडिया का किया गया,अभूतपूर्व सम्मान,रोहित-कोहली हुए भावुक !

 मुंबई पहुंचने पर वानखेड़े स्टेडियम के अंदर और बाहर मरीन ड्राइव पर  फैंस द्वारा ...

टी20 विश्व कप की विजेता टीम इंडिया का किया गया,अभूतपूर्व सम्मान,रोहित-कोहली हुए भावुक !

टी20 विश्व कप की विजेता टीम मुंबई पहुंच चुकी है और टीम के सदस्यों ने खुली बस में चढ़कर विजय जुलूस में हिस्सा लिया। इसके बाद वानखेड़े स्टेडियम पर बीसीसीआई ने खिलाड़ियों का सम्मान किया और 125 करोड़ रुपये का चेक सौंपा।सम्मान समारोह समाप्त होने के बाद खिलाड़ियों ने वानखेड़े स्टेडियम के चारों ओर चक्कर काटे और लैप ऑफ ऑनर लिया। इस दौरान टीम के सदस्यों ने प्रशंसकों का आभार जताया और दर्शकों के साइन की हुई गेंदें दी। 

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने सम्मान समारोह के दौरान भारतीय टीम के खिलाड़ियों को 125 करोड़ रुपये का चेक दिया। टीम की जीत के बाद बीसीसीआई सचिव जय शाह ने भारतीय टीम के सदस्यों के लिए 125 करोड़ रुपये की इनामी राशि की घोषणा की थी। 

कोहली ने रोहित के भावुक होने को लेकर कहा, मैं इंटरनेट ब्रेक करने के बारे में नहीं जानता, लेकिन 15 साल के करियर में मैंने रोहित को इतना इमोशनल होते हुए नहीं देखा। मैं ड्रेसिंग रूम जा रहा था और रोहित बाहर निकल रहे थे। दोनों इमोशनल थे और एक दूसरे को हग किया। वह पल मेरे लिए खास रहेगा।

कोहली ने कहा, जब 2007 या 2011 में हमने विश्व कप जीता था तो सीनियर खिलाड़ी खूब रोए थे, लेकिन मैं उनसे कनेक्ट नहीं कर पाया था और सोच रहा था कि क्यों इमोशनल हो रहे हैं। लेकिन अब जब हम सीनियर हो चुके हैं तो हम उसे महसूस कर सकते हैं। चाहे मैं हूं या रोहित दोनों पिछले काफी समय से ट्रॉफी जीतने में लगे थे। पहले मेरी कप्तानी में और फिर रोहित की कप्तानी में। हम दोनों इस ट्रॉफी को जीतने के लिए बेताब थे, लेकिन किसी न किसी वजह से हम जीत नहीं पा रहे थे। अब जब हम जीते हैं तो हमारे लिए यह खास है। जीत कर वापस से वानखेड़े आना हमारे लिए खास है।

तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह को लेकर कोहली ने कहा, मैं चाहूंगा कि सभी एक ऐसे खिलाड़ी के लिए ताली बजाएं, जिसने हर मैच में हमारी वापसी कराई वो हैं जसप्रीत बुमराह। फाइनल में आखिरी पांच ओवर में से दो ओवर गेंदबाजी की और गजब की वापसी कराई। बुमराह सदियों में से मिलने वाले एक गेंदबाज हैं। उनके लिए यह विश्व कप शानदार रहा है। मुझे पता था मैच के बाद कि अब युवाओं को मौका देने का समय आ गया है।

विराट कोहली ने कहा, मैं फैंस को थैंक यू कहना चाहूंगा। ये ऐसी चीज है जो मैं कभी नहीं भूलूंगा। पिछले चार दिन शानदार रहे हैं। हम बारबाडोस से जल्द से जल्द वापस आना चाहते थे, लेकिन बेरिल ने रोक लिया। हमारे लिए दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ फाइनल भी स्पेशल था। हर फैन की तरह हमें भी लगा था कि मैच फिसल रहा है, लेकिन आखिरी पांच ओवर में हमने बाजी पलट दी। 

 

 

G News 24 : टी20 विश्वकप के साथ चैंपियन बनकर वापस लौटी टीम इंडिया

 11 बजे PM मोदी से मुलाकात के बाद शाम को मुंबई में विजयी परेड...

टी20 विश्वकप के साथ चैंपियन बनकर वापस लौटी टीम इंडिया

नई दिल्ली। टी20 विश्वकप जीतने के बाद भारतीय टीम आखिरकार भारत पहुंच गई है। विश्वविजेता टीम के लिए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने स्पेशल फ्लाइट का इंतजाम किया था जिससे रोहित शर्मा की सेना और मीडियाकर्मी स्वदेश लौटें। एयर इंडिया की फ्लाइट AIC24WC (एयर इंडिया चैंपियंस 24 विश्व कप) आज सुबह भारत पहुंची। गौरतलब है कि रोहित शर्मा की अगुआई वाली टीम, उसके सहयोगी स्टाफ, कुछ बीसीसीआई अधिकारी और खिलाड़ियों का परिवार तूफान बेरिल के कारण बारबाडोस में फंसे हुए थे। टीम ने शनिवार को फाइनल में दक्षिण अफ्रीका को सात रन से हराकर खिताब जीता था। इसके बाद से टीम वहीं अपने होटल में थी।

भारत लौटी टीम इंडिया

फाइनल मुकाबला जीतने के बाद नियमित विमान से भारतीय टीम को वापस भारत रवाना होना था लेकिन बारबाडोस में चक्रवाती तूफ़ान की वजह से कर्फ्यू के हालात थे। सभी उड़ाने रद्द थी और खिलाडी व् स्टाफ अपने होटलों में फंसे हुए थे। जिसके बाद सरकार की तरफ से विशेष विमान बारबाडोस के लिए रवाना किया गया था।

फैंस का लगा दिल्ली एयरपोर्ट पर जमावड़ा

भारतीय टीम के स्वागत के लिए फैंस का जमावड़ा दिल्ली हवाईअड्डे के बाहर देखने को मिला। भारी संख्या में लोग रोहित शर्मा की सेना के स्वागत के लिए पहुंचे। 17 सालों का उनका इंतजार आज खत्म हो गया। भारत ने इससे पहले 2007 में तत्कालीन कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व में टी20 विश्व कप का खिताब जीता था। 

 कप्तान रोहित शर्मा और सूर्यकुमार यादव ने जमकर डांस किया

नई दिल्ली में सुबह उतरने के बाद भारतीय टीम आईटीसी दिल्ली पहुंची। यहां उनके स्वागत के लिए खास तैयारियां की गई हैं। होटल पहुंचते ही भारतीय क्रिकेट टीम के लिए ढोल और ताशे की व्यवस्था की गई थी। इस दौरान ढोल की बीट पर कप्तान रोहित शर्मा और सूर्यकुमार यादव ने जमकर डांस किया। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर लोगों को काफी पसंद आ रहा है। इस वीडियो में ढोल-नगाड़ों की बीट पर देखा जा सकता है कि कैसे रोहित शर्मा और सूर्य कुमार यादव हंसते हुए डांस कर रहे हैं। साथ ही वहां मौजूद लोगों में भी भारतीय टीम के जीत का उत्साह दिख रहा है। 

सुबह 11 बजे पीएम से मुलाकात करेगी भारतीय टीम

बीसीसीआई के उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला के मुताबिक, भारतीय टीम सुह छह बजे दिल्ली पहुंचेगी। इसके बाद सुबह 11 बजे प्रधानमंत्री से मुलाकात करेंगे। इसके बाद रोहित शर्मा एंड कंपनी स्पेशल विमान से मुंबई के लिए रवाना होगी। यहां उनके सम्मान में विजय परेड का आयोजन होगा। इसके अलावा उन्होंने बताया कि वानखेड़े स्टेडियम में भारतीय टीम को बीसीसीआई की तरफ से घोषित 125 करोड़ की इनामी राशि भी दी जाएगी।

बीसीसीआई के उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला ने कहा, "भारतीय टीम को वापस लाने के लिए बीसीसीआई ने एयर इंडिया का विशेष विमान भेजा था। इसके अलावा, फंसे हुए मीडियाकर्मियों को भी उसी विमान से वापस लाया जा रहा है। वे कल सुबह 6 बजे दिल्ली पहुंचेंगे। प्रधानमंत्री ने सुबह 11 बजे अपने आवास पर टीम के लिए स्वागत समारोह का आयोजन किया है। इसके बाद वे विशेष विमान से मुंबई के लिए रवाना होंगे, जहां उनके सम्मान में नरीमन प्वाइंट से वानखेड़े स्टेडियम तक रोड शो का आयोजन किया गया है। वानखेड़े स्टेडियम में उनके लिए एक स्वागत समारोह आयोजित किया गया है, जहां भारतीय क्रिकेट टीम, कोच और सहयोगी स्टाफ को सम्मानित किया जाएगा और बीसीसीआई द्वारा घोषित 125 करोड़ रुपये के नकद पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा।"

शाम 5:00 बजे से नरीमन ड्राइव से वानखेड़े स्टेडियम तक विजय परेड का आयोजन होगा।

बीसीसीआई सचिव जय शाह ने ट्वीट कर इस बात की पुष्टि की है कि चार जुलाई को शाम पांच बजे मुंबई में भारतीय टीम जोरदार स्वागत है। उनके लिए विजय परेड का आयोजन किया जाएगा, जिसकी शुरुआत मरीन ड्राइव से होगी और वानखेड़े स्टेडियम तक जाएगी। दिलचस्प बात यह है कि फाइनल मुकाबला जीतने के बाद जिस तरह रोहित ने शाह से विश्व कप ट्रॉफी ली थी, उसे दोहराया जाएगा। इस बात की जानकारी भी शाह ने दी।

शाह ने ट्वीट कर कहा, "टीम इंडिया की विश्व कप जीत का सम्मान करने के लिए विजय परेड में हमारे साथ शामिल हों! 4 जुलाई को शाम 5:00 बजे से मरीन ड्राइव और वानखेड़े स्टेडियम में हमारे साथ जश्न मनाने के लिए आएँ! तारीख याद रखें!

मुंबई में टी20 विश्व कप विजेता भारतीय टीम के विजयी परेड के लिए कड़ी सुरक्षा का इंतजाम

विजयी टीम नई दिल्ली से आने के बाद दक्षिण मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में एक सम्मान समारोह के बाद एक खुली बस रोड शो में भाग लेगी। अधिकारी ने कहा कि विजय जुलूस शाम पांच से सात बजे के बीच नरीमन पॉइंट से वानखेड़े स्टेडियम तक निकाला जाएगा। उन्होंने कहा कि जुलूस देखने के लिए बड़ी संख्या में क्रिकेट प्रशंसकों के इकट्ठा होने की उम्मीद है, इसलिए पुलिस किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए पूरी सावधानी बरत रही है। अधिकारी ने कहा कि नरीमन पॉइंट और वानखेड़े स्टेडियम के बीच मरीन ड्राइव पर पर्याप्त पुलिस कर्मियों को तैनात किया जा रहा है।

G News 24 : 17 साल पहले टी20 टीम इंडिया का 12.5 करोड़ से शुरू होने के बाद 125 करोड़ तक का सफर !

 17 साल बाद BCCI ने खिलाड़ियों के लिए खोल दिया खजाना...

17 साल पहले टी20 टीम इंडिया का 12.5 करोड़ से शुरू होने के बाद 125 करोड़ तक का सफर !

टी20 वर्ल्ड कप 2024 में जब भारतीय टीम ने जिस तरह से अपने सफर का आगाज किया उसी तरह उसे अंजाम भी देने में कामयाबी हासिल की। टीम इंडिया ने ग्रुप स्टेज में जहां सभी मैचों में जीत हासिल की तो वहीं सुपर 8 राउंड में उनका यही सफर देखने को मिला। इसके बाद सेमीफाइनल में टीम इंडिया का सामना इंग्लैंड की टीम से हुआ था जिसमें वह एकतरफा तरीके से जीत हासिल करने में कामयाब हुए और फाइनल में अपनी जगह को पक्का किया। खिताबी मैच में भारतीय टीम का सामना हुआ जिसमें उन्होंने साउथ अफ्रीका को 7 रनों से मात दी और ट्रॉफी को 17 साल के लंबे इंतजार के बाद फिर अपने नाम किया। इस जीत के बाद बीसीसीआई की तरफ से भी भारतीय टीम को बड़ा तोहफा दिया गया जिसमें सेक्रेट्री जय शाह की तरफ से 125 करोड़ रुपए की प्राइज मनी का ऐलान किया गया।

साल 2007 की विजेता टीम के मुकाबले इस बार मिली बड़ी प्राइज मनी

महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में जब भारतीय टीम ने साल 2007 में पहली बार टी20 वर्ल्ड कप की ट्रॉफी को जीता था तो उस समय बीसीसीआई की तरफ से टीम इंडिया के प्लेयर्स और सपोर्ट स्टाफ के लिए 3 मिलियन यूएस डॉलर की प्राइज मनी का ऐलान किया गया था, जो उस समय के डॉलर रेट के अनुसार लगभर 12.5 करोड़ रुपए के आसपास था। वहीं इस बार जब टीम इंडिया ने रोहित शर्मा की कप्तानी में इस ट्रॉफी को अपने नाम किया तो बीसीसीआई ने अपना खजाना पूरी तरह से खोलते हुए 125 करोड़ रुपए की प्राइज मनी का ऐलान किया है जिसे  बता दें कि सभी खिलाड़ियों, कोच और सपोर्टिंग स्टाफ में बांटा जाएगा साथ ही इसका कुछ हिस्सा चयनकर्तओं के खाते में भी आएगा।

आईसीसी की तरफ से भारतीय टीम को मिली इतनी प्राइज मनी

रोहित शर्मा की कप्तानी में टी20 वर्ल्ड कप 2024 का खिताब जीतने वाली भारतीय टीम को प्राइज मनी के रूप में 20.36 करोड़ रुपए मिले हैं, जो अभी तक के हुए सभी टी20 वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम के मुकाबले सबसे अधिक है। वहीं रनरअप टीम साउथ अफ्रीका खाते में इसके ठीक आधी धनराशि 10.64 करोड़ रुपए हैं। बता दें कि ये पहला टी20 वर्ल्ड कप था जिसमें कुल 20 टीमों ने हिस्सा लिया था। वहीं अब इस फॉर्मेट का अगले विश्व कप की मेजबानी भारत और श्रीलंका संयुक्त रूप से करेंगे जो साल 2026 में खेला जाएगा।

G News 24 : भारत के तेज गेंदबाजों ने कमाल की गेंदबाजी की और दक्षिण अफ्रीका से जीत छीन ली !

 हार्दिक-बुमराह और अर्शदीप ने द. अफ्रीका को 30 गेंद में नहीं बनाने दिए 30 रन...

भारत के तेज गेंदबाजों ने कमाल की गेंदबाजी की और दक्षिण अफ्रीका से जीत छीन ली !

भारत ने दक्षिण अफ्रीका को बेहद रोमांचक मैच में सात रन से हराकर टी20 विश्व कप जीत लिया। पिछले साल 19 नवंबर को अहमदाबाद में अधूरा रहा सपना आखिरकार वेस्टइंडीज में पूरा हुआ तो रोहित शर्मा की टीम के साथ टीवी के आगे नजरें गड़ाए बैठे भारतीय क्रिकेटप्रेमियों की आंखों में आंसू आ गए। भारत ने 17 साल बाद टी20 विश्व कप का खिताब जीता है। जीत के नायक रहे विराट कोहली और रोहित शर्मा ने टी20 विश्व कप ट्रॉफी जीत के साथ ही टी20 क्रिकेट को अलविदा भी कह दिया।

भारत ने 2007 में पहला टी20 विश्व कप जीता था और आखिरी आईसीसी खिताब 2013 में महेंद्र सिंह धोनी की अगुआई में दक्षिण अफ्रीका में चैम्पियंस ट्रॉफी जीती थी । पिछले साल भारत में वनडे विश्व कप फाइनल में टीम आस्ट्रेलिया से हार गई थी। हालांकि, इस फाइनल में टीम इंडिया ने कोई चूक नहीं की। हालांकि, फाइनल में भारत की बैटिंग और बॉलिंग, दोनों में एक वक्त ऐसा आया था जब लगा कि मैच भारत के हाथ से निकल जाएगा।

भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 34 रन पर तीन विकेट गंवा दिए थे। हालांकि, इसके बाद विराट कोहली (76) ने अक्षर पटेल (47) और शिवम दुबे के साथ गजब की बल्लेबाजी की। विराट ने अक्षर के साथ 72 रन और शिवम के साथ 57 रन की साझेदारी निभाई और टीम इंडिया को चैंपियन बनने में मदद की। ऐसा ही गेंदबाजी के समय हुआ था, जब हेनरिक क्लासेन ने अपनी तूफानी बल्लेबाजी से मैच को दक्षिण अफ्रीका के पाले में डाल ही दिया था। तभी हार्दिक पांड्या, जसप्रीत बुमराह और अर्शदीप सिंह ने कमाल की गेंदबाजी की दक्षिण अफ्रीका के जबड़े से जीत छीन ली।

14 ओवर में दक्षिण अफ्रीका ने चार विकेट पर 123 रन बना लिए थे। 15वें ओवर में कप्तान रोहित ने अक्षर पटेल को गेंद सौंपी। इस ओवर में क्लासेन ने चौके से शुरुआत की और कुल दो चौके और दो छक्के लगाते हुए 24 रन बटोरे। 15 ओवर के बाद दक्षिण अफ्रीका का स्कोर चार विकेट पर 147 रन बना लिए थे। हर फैंस इस वक्त कप्तान रोहित के अक्षर को गेंदबाजी देने को कोस रहा था। तब क्लासेन 22 गेंद में 49 रन और डेविड मिलर 14 रन बनाकर क्रीज पर थे। यही वो पल था जहां से मैच बदल गया।

दक्षिण अफ्रीका को आखिरी 30 गेंद में 30 रन की जरूरत थी। 15वें ओवर में बुमराह गेंदबाजी के लिए आए और चार रन देकर दबाव बनाया। इसका फायदा अगले ओवर में हार्दिक को मिला। आखिरी 24 गेंद में दक्षिण अफ्रीका को 26 रन की जरूरत थी।

17वें ओवर में हार्दिक ने पहली ही गेंद पर क्लासेन को पंत के हाथों कैच कराकर पवेलियन भेजा। क्लासेन 27 गेंद में 52 रन की तूफानी पारी खेलकर आउट हुए। इस ओवर में हार्दिक ने सिर्फ चार रन खर्च किए और क्लासेन का विकेट लिया। क्लासेन के आउट होने पर मिलर और यानसेन क्रीज पर थे।

आखिरी 18 गेंद में दक्षिण अफ्रीका को 22 रन की जरूरत थी। 18वें ओवर में बुमराह गेंदबाजी के लिए आए और उन्होंने ओवर की चौथी गेंद पर यानसेन को पवेलियन भेजा। इस ओवर में बुमराह ने सिर्फ दो रन दिए। आखिरी 12 गेंद पर दक्षिण अफ्रीका को 20 रन चाहिए थे। मिलर और केशव महाराज क्रीज पर थे।

19वें ओवर में अर्शदीप सिंह गेंदबाजी के लिए आए। ऐसा कहा जाता है कि चेज में कोई भी बल्लेबाज 19वें ओवर में अटैक करता है। हालांकि, अर्शदीप ने चुनौती स्वीकार की और सिर्फ चार रन खर्च किए। 

आखिरी ओवर का रोमांच

अब सारा दारोमदार हार्दिक पांड्या पर था। आखिरी ओवर में उन्हें 16 रन बचाने थे। हार्दिक ने फैंस को निराश नहीं किया और पहली ही गेंद पर मिलर को सूर्यकुमार के हाथों कैच कराया। मिलर 21 रन बना सके। दूसरी गेंद पर रबाडा ने चार रन बटोरे। तीसरी गेंद पर रबाडा ने एक रन लिया। चौथी गेंद पर महाराज ने एक रन लिया। इसकी अगली गेंद वाइड रही। पांचवीं गेंद पर हार्दिक ने रबाडा को आउट किया। आखिरी गेंद पर एक रन आया और भारत ने सात रन से जीत हासिल की। मैच जीतते ही हार्दिक घुटने के बल बैठ गए और रोने लगे। 

कुछ महीने पहले तक हार्दिक को काफी आलोचना मिल रही थी और मुंबई इंडियंस का कप्तान बनने पर उन्हें आलोचना मिल रही थी। वहीं, इस मैच को जिताकर वह नेशनल हीरो बन गए। कप्तान रोहित ने खुद आकर हार्दिक को चूमा और उनका आभार जताया। आखिरी 30 गेंद में दक्षिण अफ्रीका की टीम 30 रन नहीं बना सकी और चोक कर गई। 20 ओवर के बाद दक्षिण अफ्रीका का स्कोर आठ विकेट पर 169 रन था और भारतीय टीम ने इस मैच को सात रन से जीता।

G News 24 : 17 साल बाद भारत फिर से आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप का विजेता बना

 यूं तो नम आंखों में आंसू अच्छे नहीं लगते,लेकिन कुछ ख़ास मौकों पर मज़ा देते हैं ...

17 साल बाद भारत फिर से आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप का विजेता बना

17 साल बाद भारत फिर से आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप का विजेता बना. उस पल न सिर्फ दुनिया भर में भारतीयों खिलाड़ियों के फैंस बल्कि खुद खिलाड़ी भी अपने-आप पर काबू नहीं रख पाए. आलम यह था कि हमेशा शांत और गंभीर दिखने वाले राहुल द्रविड़ भी आंसुओं पर काबू नहीं रख पाए. जब भारत ने आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप के फाइनल में दक्षिण अफ्रीका को हराकर दूसरी बार टी20 विश्व कप का खिताब अपने नाम किया तो भारतीय खिलाड़ियों ने अपने कोच राहुल द्रविड़ को कंधे पर उठा लिया. और करें भी क्यूं ना, आखिर भारतीय टीम ने साल 2007 में इससे पहले विश्व कप अपने नाम किया था.

विजेता टीम के कप्तान रोहित शर्मा तो जीत मिलने के बाद जमीन पर लेट गए. काफी देर तक वह लेटे रहे. इसके बाद फिर वह अपनी टीम के खिलाड़ियों से गले मिलने लगे. रोहित ने बाद में कहा भी कि वह हर हाल में यह मैच जीतना चाहते थे.

इस मैच की जीत के हीरो रहे विराट कोहली तो मानो खुशी से दीवाने हो गए. वह एक-एक खिलाड़ी से गले मिल रहे थे. मगर इन सबसे पहले वह आसमान में देखते हुए ऊपर वाले को बड़े ही जोश से शुक्रिया करते दिखे. विराट कोहली का यह अंदाज स्टेडियम और टीवी पर मैच देख रहे करोड़ों लोगों ने देखा तो मुस्कुराए बगैर न रह सके.

जसप्रीत बुमराह, चहल सहित टीम इंडिया के सभी खिलाड़ी इस पल को अपनी यादों में हमेशा के लिए बसा लेना चाहते थे. यह टीम इंडिया की ग्रुप फोटो में भी दिखाई दिया. टीम का एक-एक सदस्य भारत की जीत पर खुशियां लुटाए जा रहा था.

टीम इंडिया ने टी20 विश्व कप 2024 का खिताब जीत लिया है. भारत की जीत में ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या की अहम भूमिका रही. पांड्या ने भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेले गए फाइनल मैच में 3 ओवरों में 20 रन देकर 3 विकेट झटके. पांड्या ने दक्षिण अफ्रीका की पारी के दौरान आखिरी ओवर किया, जो कि काफी अहम रहा. हार्दिक भारत की जीत के बाद फूट-फूट कर रोए. उन्होंने अपना दर्द बयां किया. उन्होंने बताया कि पिछले छह महीने कितने मुश्किल रहे.

हार्दिक पांड्या आईपीएल 2024 से ही ट्रोल्स के निशाने पर थे. पांड्या को मुंबई इंडियंस का कप्तान बना दिया गया था. रोहित शर्मा को मुंबई की कप्तानी से हटा दिया गया था. इसके बाद से पांड्या काफी ट्रोल हुए. उनके लिए पिछला आईपीएल सीजन अच्छा भी नहीं रहा. लेकिन टी20 विश्व कप 2024 की फाइनल में जीत के बाद वे खुद को रोक नहीं पाए और खूब रोए. 

हार्दिक ने मैच के बाद कहा, ''मेरे छह महीने काफी खराब गुजरे. मैंने ये महीने कैसे गुजारे कह नहीं सकता हूं. जब मुझे रोना भी था तो नहीं रोया. क्यों कि मैं लोगों को नहीं दिखाना चाहता था. जो लोग मेरे मुश्किल दौर में खुश हो रहे थे, मैं उन्हें और खुशी नहीं देना चाहता था. मेरे छह महीने जैसे भी गुजरे, आज ऊपर वाले ने मौका भी ऐसा दिया कि मुझे आखिरी ओवर मिला.

टी20 विश्व कप 2024 के फाइनल में भारत ने पहले बैटिंग करते हुए 176 रन बनाए थे. इस दौरान विराट कोहली ने 76 रनों की अहम पारी खेली. इसके जवाब में दक्षिण अफ्रीका की टीम 169 रन ही बना सकी. कप्तान रोहित ने दक्षिण अफ्रीका की पारी का आखिरी ओवर पांड्या को दिया था. उन्होंने इस ओवर में 8 रन देकर 2 विकेट लिए थे. 

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार (30 जून) को भारतीय क्रिकेट टीम से फोन पर बात की और पूरी टीम को बधाई दी. उन्होंने रोहित शर्मा को उनकी शानदार कप्तानी के लिए बधाई दी और उनके टी20 करियर की सराहना की. पीएम मोदी ने फाइनल में विराट कोहली की पारी और भारतीय क्रिकेट में उनके योगदान की भी सराहना की. रोहित शर्मा और विराट कोहली ने टी20 वर्ल्ड कप जीतने के बाद क्रिकेट के इस सबसे छोटे फॉर्मेट से संयास का ऐलान भी कर दिया है.

पीएम मोदी ने हार्दिक पांड्या को उनके अंतिम ओवर और सूर्यकुमार यादव को उनके कैच के लिए सराहा. उन्होंने जसप्रीत बुमराह के योगदान की भी तारीफ की. पीएम ने भारतीय क्रिकेट में उनके योगदान के लिए राहुल द्रविड़ को भी धन्यवाद दिया. 

G News 24 : भारतीय बल्लेबाजों के फ्लॉप शो के बाद,गेंदबाजों ने मोर्चा संभालाऔर हारी बाजी जीत ली !

PAK को चाहिए थे 6 गेंदों में,18 रन, और फिर यहीं से  पलट गया मैच !

भारतीय बल्लेबाजों के फ्लॉप शो के बाद,गेंदबाजों ने मोर्चा संभालाऔर हारी बाजी जीत ली !

भारत ने रविवार को खेले गए टी20 वर्ल्ड कप 2024 के रोमांचक मुकाबले में पाकिस्तान को 6 रन से हरा दिया. पाकिस्तान की टीम यह मैच बड़ी आसानी से जीत सकती थी, लेकिन टीम इंडिया ने अपनी क्लास दिखाते हुए हार के जबड़े से भी जीत को छीन लिया. भारतीय बल्लेबाजों के फ्लॉप शो के बाद गेंदबाजों ने मोर्चा संभाला और कोई गलती नहीं की. टीम इंडिया के गेंदबाजों ने 120 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी पाकिस्तानी टीम को 113 रन के स्कोर पर ही रोक दिया. हालांकि यह जीत भारत के लिए आग में से बचकर निकलने जैसी थी.

PAK को 6 गेंदों में चाहिए थे 18 रन

भारत के खिलाफ रविवार को खेले गए टी20 वर्ल्ड कप के मैच में पाकिस्तान को आखिरी 6 गेंदों पर जीत के लिए 18 रन की जरूरत थी, लेकिन अर्शदीप सिंह ने आखिरी ओवर में बाजी पलट दी. पाकिस्तान का स्कोर 19वें ओवर के बाद 6 विकेट पर 102 रन था और जीत के लिए आखिरी 6 गेंदों में 18 रन की जरूरत थी, जिसे बनाया जा सकता था. पाकिस्तान के लिए उस वक्त इमाद वसीम और नसीम शाह क्रीज पर मौजूद थे. अर्शदीप सिंह ने अपना कमाल दिखाया और आखिरी ओवर में सिर्फ 11 रन दिए. 

अर्शदीप सिंह ने तोड़ा पाकिस्तान का दिल 

अर्शदीप सिंह ने इसी के साथ ही पाकिस्तानी की उम्मीदों पर पानी फेर दिया. ऐसा लग रहा था कि पाकिस्तान यह मैच जीत लेगा, लेकिन भारतीय टीम ने बाजी मारते हुए 6 रन से रोमांचक जीत दर्ज कर ली. पाकिस्तान के खिलाफ इस लो स्कोरिंग मैच में भारतीय टीम पहले बैटिंग करते हुए 19 ओवर में 119 रन पर ऑलआउट हो गई थी. जवाब में भारतीय गेंदबाजों ने पाकिस्तान को 20 ओवर में 7 विकेट पर 113 रन के स्कोर पर रोक दिया. जसप्रीत बुमराह ने 4 ओवर में 14 रन देकर 3 विकेट चटकाए. हार्दिक पांड्या ने 4 ओवर में 24 रन देकर 2 विकेट झटके. 

IND vs PAK मैच का आखिरी ओवर

  1. पहली गेंद - अर्शदीप सिंह ने इमाद वसीम को ऋषभ पंत के हाथों कैच आउट करा दिया. इमाद वसीम 15 रन के निजी स्कोर पर आउट हुए. (102/7 - 19.1 ओवर)
  2. दूसरी गेंद - अर्शदीप सिंह की गेंद पर इमाद वसीम ने 1 रन लिया. (103/7 - 19.2 ओवर)
  3. तीसरी गेंद - अर्शदीप सिंह की गेंद पर शाहीन शाह अफरीदी ने लेग बाई का 1 रन दौड़ लिया. (104/7 - 19.3 ओवर)
  4. चौथी गेंद - अर्शदीप सिंह की गेंद पर नसीम शाह ने चौका जड़ दिया. (108/7 - 19.4 ओवर)
  5. पांचवीं गेंद - अर्शदीप सिंह की गेंद पर नसीम शाह ने चौका जड़ दिया. (112/7 - 19.5 ओवर)
  6. छठी गेंद - अर्शदीप सिंह की गेंद पर नसीम शाह को 1 रन ही मिला और भारत ने 6 रन से मैच जीत लिया (113/7 - 20 ओवर)

G News 24 : भारत-पाक का मैच देखने के लिए 1 लाख पार्किंग में और 8.3 लाख का टिकट लेना होगा !

 टी20 वर्ल्ड कप टूर्नामेंट के महंगे  टिकिट्स को लेकर फैंस काफी परेशान... 

भारत-पाक का मैच देखने के लिए 1 लाख पार्किंग में और 8.3 लाख का टिकट लेना होगा !

टी20 वर्ल्ड कप 2024 का आगाज तो हो चुका है, लेकिन क्रिकेट प्रेमियों को टूर्नामेंट के सबसे बड़े मुकाबले का इंतजार है. हां, हम बात करें रहे हैं भारत और पाकिस्तान के मैच के बारे में. दोनों टीमों के बीच हाई वोल्टेज मुकाबला 9 जून को न्यूयॉर्क स्थित नासाउ काउंटी अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में खेला जाएगा. इस मैच के लिए दोनों टीमें तैयार हैं. 

भारत बनाम पाकिस्तान मैच की पार्किंग फीस 

जाहिर सी बात है जो फैंस मैच देखने जाएंगे उन्हें अपने वाहनों को खड़ा करने के लिए पार्किंग एरिया की जरूरत पड़ेगी. हालांकि, भारत बनाम पाकिस्तान मैच के लिए पार्किंग एरिया की फीस कुछ ज्यादा हो बढ़ गई है. 

देश के पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू ने भारत बनाम आयरलैंड मुकाबले के दौरान भारत बनाम पाकिस्तान मैच में पार्किंग के लिए कितनी रकम खर्च करनी पड़ेगी. उसका खुलासा किया है.

सिद्धू ने कमेंट्री के दौरान बताया कि इस मैच के लिए फैंस को 1200 डॉलर (करीब 100000 रूपये) चुकाने पड़ेंगे. पूर्व क्रिकेटर के मुताबिक उनको इस खबर से अवगत उनके ड्राइवर ने कराया है.

भारत बनाम पाकिस्तान मैच के लिए टिकट का दाम

भारत बनाम पाकिस्तान मुकाबले के लिए जैसे-जैसे दिन नजदीक आ रहे हैं. वैसे-वैसे टिकटों का दाम भी आसमान छूता जा रहा है. महामुकाबले के लिए शुरुआती टिकटों के दाम 300 यूएस डॉलर रखे गए हैं. अगर भारतीय रुपयों में देखें तो इसकी राशि करीब 25000 रूपये होती है.

वहीं सबसे महंगे टिकटों के दाम पर गौर करें तो यह 10000 हजार यूएस डॉलर का बताया जा रहा है, जो भारतीय रूपये में 8.3 लाख के करीब होता है. खबरों के मुताबिक 300 यूएस डॉलर और 10000 हजार यूएस डॉलर के बीच के भी टिकट हैं.

G News 24 : रोहित को मिली कप्तानी,हार्दिक पांड्या होंगे वाइस कैप्टन,2024,T-20, विश्व कप का पहला मैच 05 जून को होगा

 T20 वर्ल्ड कप के लिए टीम इंडिया का ऐलान 

रोहित को कप्तानी,हार्दिक पांड्या होंगे वाइस कैप्टन,2024,T-20, विश्व कप का पहला मैच  05 जून को होगा 

आईपीएल 2024 के ठीक बाद टी20 क्रिकेट का सबसे बड़ा टूर्नामेंट टी20 विश्व कप खेला जाना है। जिसकी शुरुआत 1 जून से होने जा रही है, जो वेस्टइंडीज और अमेरिका की संयुक्त मेजबानी में खेला जाएगा। इस टूर्नामेंट के लिए भारतीय टीम का ऐलान हो चुका है। मंगलवार 30 अप्रैल को अहमदाबाद में हुई बैठक में 15 सदस्यीय टीम का चयन किया गया। इस टूर्नामेंट में टीम इंडिया की कप्तानी रोहित शर्मा संभालेंगे।

बता दें कि आईपीएल में फॉर्म से जूझ रहे हार्दिक पंड्या को उपकप्तान चुना गया हैं। हालांकि, केएल राहुल टीम से बाहर हैं, जबकि ऋषभ पंत और संजू सैमसन के रूप में दो विकेटकीपर हैं। रोहित शर्मा के ओपनिंग पार्टनर यशस्वी जायसवाल होंगे। वहीं विराट कोहली तीसरे नंबर पर दिखाई देंगे। माना जा रहा था कि हार्दिक पंड्या को टीम में शामिल नहीं करना चाहिए, लेकिन ऐसा हुआ नहीं। चयनकर्ताओं ने उनपर विश्वास जताया है।

टीम में देखा जाए तो संजू सैमसन, विराट कोहली दो ऐसे खिलाड़ी हैं, जो रोहित शर्मा और यशस्वी जायसवाल के अलावा ओपनिंग कर सकते हैं। बता दें कि भारत अपने विश्व कप अभियान की शुरुआत 05 जून, 2024 को न्यूयॉर्क के नासाउ काउंटी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में आयरलैंड के खिलाफ करेगा, इसके बाद 09 जून, 2024 को उसी स्थान पर पाकिस्तान के खिलाफ अहम मुकाबला खेलेगा। इसके बाद भारत क्रमशः 12 और 15 जून को यूएसए और कनाडा से भी खेलेगा।

जिम्बाब्वे के खिलाफ T20 सीरीज के लिए बांग्लादेश ने टीम का किया ऐलान

T20 वर्ल्ड कप के लिए टीम इंडिया का ऐलान, रोहित शर्मा को मिली कप्तानी और शिवम दुबे, संजू सैमसन, यजुवेंद्र चहल, ऋषभ पंत को मौका, केएल राहुल टीम से बाहर हुए। 

टी20 विश्व कप 2024 की भारतीय टीम

रोहित शर्मा (कप्तान), शिवम दुबे, संजू सैमसन, यजुवेंद्र चहल, ऋषभ पंत, यशस्वी जैसवाल, सूर्यकुमार यादव, हार्दिक पांड्या (उपकप्तान), कुलदीप यादव, जड़ेजा, मो.सिराज, बुमराज, अर्शदीप सिंह, अक्षर पटेल और किंग कोहली टीम में शामिल है।

ट्रैविलिंग रिजर्व

रिंकू सिंह, शुभमन गिल, खलील अहमद और आवेश खान


G.NEWS 24 : कोहली ने बनाया एक ऐसा रिकॉर्ड जो IPL में अभी तक कोई भी खिलाड़ी नहीं बना सका !

इतिहास में इससे पहले कोई भी खिलाड़ी नहीं बना सका...

         कोहली ने बनाया एक ऐसा रिकॉर्ड जो IPL में अभी तक कोई भी खिलाड़ी नहीं बना सका !

हैदराबाद के राजीव गांधी स्टेडियम में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु और सनराइजर्स हैदराबाद की टीमें आमने-सामने हैं। इस मैच में आरसीबी की टीम टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी कर रही है। वहीं, मुकाबले की शुरुआत होते ही विराट कोहली ने एक अनोखा रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है। उन्होंने एक ऐसा रिकॉर्ड बनाया है जो आईपीएल के इतिहास में इससे पहले कोई भी खिलाड़ी नहीं बना सका था। 

सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ खेला जा रहा मैच रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के आईपीएल इतिहास का 250वां मैच है। वहीं, विराट कोहली आरसीबी के पहले सीजन से टीम के साथ हैं। वह आईपीएल इतिहास के पहले खिलाड़ी बन गए हैं जो किसी टीम के पहले और 250वें दोनों मैचों की प्लेइंग 11 का हिस्सा बने हैं। इससे पहले सिर्फ मुंबई इंडियंस ने ही आईपीएल में 250 या उससे ज्यादा मैच खेले हैं। लेकिन मुंबई के 250वें मैच में कोई भी ऐसा खिलाड़ी नहीं था जो टीम के पहले मैच में खेला हो। 

G.NEWS 24 : अंपायर से भिड़ने पर विराट कोहली पर लगा जुर्माना !

आईपीएल आचार संहिता का किया उल्लंघन...

अंपायर से भिड़ने पर विराट कोहली पर लगा जुर्माना !

नई दिल्ली। ईडन गार्डन्स में केकेआर और आरसीबी के मैच में विराट कोहली अंपायर से भिड़ लिए थे। उनकी इस व्यवहार के चलते उन पर मैच फीस का 50 प्रतिशत जुर्माना लगाया गया है। आरसीबी यह मैच केकेआर से एक रन से हार गई थी। रॉयल चैलेंजर्स बैंगलुरु ने जानकारी दी कि केकेआर के खिलाफ ईडन गार्डन्स में खेले गए मैच में विराट कोहली ने आईपीएल आचार संहिता का उल्लंघन किया है। उन पर मैच फीस का 50 प्रतिशत जुर्माना लगा है। विराट कोहली ने अपनी गलती को मान लिया है। 

विराट कोहली आईपीएल कोड ऑफ कंडक्ट के आर्टिकल 2.8 के लेवल 1 के दोषी हैं। तीसरे ओवर में हर्षित राणा की पहली गेंद हाई फुलटॉस थी, जिसको विराट कोहली ने मारने का प्रयास किया। उनकी इस कोशिश में बॉल हर्षित के हाथों में आ गई। केकेआर ने विराट के आउट होने को लेकर अंपायर के सामने अपील की। विराट को लगा कि बॉल कमर से ऊपर थी, इसलिए नॉ बोल होगी। विराट ने तुरंत डीआरएस की मदद ली। 

थर्ड अंपायर ने हॉक आई के जरिए देखा तो कोहली क्रीज से आगे निकलते दिखाई दिए। थर्ड अंपायर ने विराट को आउट करार दे दिया। कोहली इस फैसले से काफी नाराज दिखाई दिए। वह अपना गुस्सा अंपायर को दिखाते नजर आए। विराट कोहली जब पवेलियन से जा रहे थे, तब उन्होंने बल्ले को पटककर अपना गुस्सा सबको दिखाया। उसके बाद मैदान से बाहर निकलकर उन्होंने डगआउट पास रखे डस्टबिन को गलब्स से गिरा दिया। उनकी इस हरकत के बाद उन पर जुर्माना लगा दिया।

G.NEWS 24 : टेस्ट क्रिकेट में दुनिया की नंबर वन टीम बनी "टीम इंडिया"

4-1 से जीत दर्ज करने के बाद...

टेस्ट क्रिकेट में दुनिया की नंबर वन टीम बनी "टीम इंडिया"

इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) ने टेस्ट क्रिकेट में टीमों की ताजा रैंकिंग जारी कर दी है. इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की टेस्ट सीरीज में 4-1 से जीत दर्ज करने के बाद टीम इंडिया टेस्ट क्रिकेट में दुनिया की नंबर वन टीम बन गई है. वनडे और टी20 इंटरनेशनल में भी भारतीय टीम आईसीसी रैंकिंग में पहले स्थान पर है. ऐसे में अब टीम इंडिया तीनों फॉर्मेट में विश्व की नंबर वन टीम बन गई है. आईसीसी के ताजा अपडेट में टीम इंडिया के नाम 4636 प्वाइंट्स और 122 रेटिंग है. 

वहीं दूसरे नंबर पर मौजूद ऑस्ट्रेलिया की 117 रेटिंग है. वहीं इंग्लैंड 111 रेटिंग के साथ तीसरे और न्यूजीलैंड 101 रेटिंग के साथ चौथे नंबर पर है. अगर ऑस्ट्रेलियाई टीम न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरा टेस्ट जीत भी लेती है तो भी वो भारत को पहले नंबर से नहीं हटा पाएगी. इंग्लैंड के खिलाफ पांचवां टेस्ट रोहित ब्रिगेड ने पारी और 64 रनों से जीता. इसके साथ ही टीम इंडिया ने पांच मैचों की सीरीज 4-1 से अपने नाम की. इसके साथ ही टीम इंडिया वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप की प्वाइंट्स टेबल में भी पहले नंबर पर काबिज है. 

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में भारतीय टीम के 74 अंक हैं. वहीं उसका जीत प्रतिशत 68.51 है. गौरतलब है कि अब टीम इंडिया तीनों फॉर्मेट में दुनिया की नंबर वन टीम बन गई है. वनडे में टीम इंडिया के 121 रेटिंग अंक हैं. वहीं दूसरे नंबर पर मौजूद ऑस्ट्रेलिया के 118 रेटिंग अंक हैं. 110 रेटिंग प्वाइंट के साथ दक्षिण अफ्रीका तीसरे नंबर पर है. इसके अलावा टी20 इंटरनेशनल में भी भारतीय टीम शीर्ष पर काबिज है. टी20 इंटरनेशनल में टीम इंडिया के 266 रेटिंग प्वाइंट हैं. वहीं दूसरे नंबर पर मौजूद इंग्लैंड के 256 रेटिंग अंक हैं. 

G.NEWS 24 : 22 मार्च से शुरू होगा इंडियन प्रीमियर लीग 2024

CSK vs RCB होगा पहला मुकाबला...

22 मार्च से शुरू होगा इंडियन प्रीमियर लीग 2024

इंडियन प्रीमियर लीग 2024 की शुरुआत 22 मार्च से होनी है. सीजन का पहला मुकाबला चेन्नई सुपर किंग्स बनाम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर होगा. अभी सिर्फ 17 दिन- 22 मार्च से 7 अप्रैल के बीच के शेड्यूल का ऐलान किया गया है. 22 मार्च से 17 अप्रैल के बीच कुल 21 मुकाबले खेले जाएंगे. इस दौरान चार डबल हेडर होंगे. दिल्ली कैपिटल्स अपने दो मुकाबले विशाखापट्टनम में खेलेगी. 2023 सीज़न की फाइनलिस्ट - गुजरात टाइटन्स - 24 मार्च को अहमदाबाद में अपने पूर्व कप्तान हार्दिक पंड्या की मुंबई इंडियंस के खिलाफ अपने अभियान की ब्लॉकबस्टर शुरुआत करेंगी. 

आईपीएल 2024 का पहला डबल हेडर मैच पंजाब किंग्स और दिल्ली कैपिटल्स के बीच 3 मार्च को मोहाली में खेला जाएगा, उसी दिन दूसरा मुकाबला जबकि कोलकाता नाइट राइडर्स और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच होगा. यह मैच कोलकाता में खेला जाएगा. इसके बाद 24 मार्च को डबल हेडर होगा. 24 मार्च को पहला मैच जयपुर में राजस्थान रॉयल्स और लखनऊ सुपर जांयट्स के बीच होगा. यह मैच जयपुर में होगा. 24 मार्च को दूसरा मुकाबला अहमदाबाद में गुजरात जायंट्स और मुंबई इंडियंस के बीच खेला जाएगा. इसके बाद 31 मार्च को डबल हेडर होगा. 31 मार्च को डबल हेडर में दिन का पहला मुकाबला गुजरात और हैदराबाद के बीच होगा, जबकि दूसरा मुकाबला दिल्ली और चेन्नई के बीच खेला जाएगा. 

वहीं 7 अप्रैल को भी डबल हेडर होंगे. 7 अप्रैल को मुंबई और दिल्ली के बीच मैच पहला मुकाबला मुंबई में खेला जाएगा, जबकि दूसरा मुकाबला लखनऊ और गुजरात के बीच लखनऊ में खेला जाएगा. चेन्नई सुपर किंग्स डिफेंडिंग चैंपियन है और इसके चलते वो सीजन का पहला मुकाबला खेलेगी. आईपीएल 2024 का पूरा शेड्यूल इसलिए जारी नहीं किया गया है क्योंकि इस साल लोकसभा चुनाव होने हैं और चुनाव आयोग द्वारा मतदान की तारीखों के ऐलान के बाद आईपीएल द्वारा टूर्नामेंट के पूरे शेड्यूल का ऐलान किया जाएगा. 

वहीं आईपीएल 2024 के शेड्यूल के ऐलान से पहले भारत के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी टखने की चोट के कारण कथित तौर पर टूर्नामेंट से बाहर हो गए हैं. आईपीएल चेयरमैन अरुण धूमल पहले ही साफ चुके थे कि आईपीएल का शेड्यूल पहले केवल पहले 15 दिनों का ही जारी किया जाएगा. सीज़न के इस पहले चरण में दिल्ली में कोई मैच नहीं होगा और दिल्ली कैपिटल्स अपने दो घरेलू मैच विशाखापट्टनम में खेलेगी. इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) ने 13 दिनों के भीतर 11 महिला प्रीमियर लीग (डब्ल्यूपीएल) मैचों की मेजबानी करने के चलते अपने मैच शिफ्ट करने की बात मांग बोर्ड से की थी.

G.NEWS 24 : इंग्लैंड के खिलाफ शतक बनाकर रोहित शर्मा ने लगाई रिकॉर्ड्स की झड़ी

बने टेस्ट फॉर्मेट में शतक लगाने वाले सबसे उम्रदराज भारतीय कप्तान...

इंग्लैंड के खिलाफ शतक बनाकर रोहित शर्मा ने लगाई रिकॉर्ड्स की झड़ी

राजकोट टेस्ट के पहले दिन भारत ने 5 विकेट पर 326 रन बनाए. भारत के लिए कप्तान रोहित शर्मा और रवीन्द्र जडेजा ने शतक जड़ा. टीम इंडिया के कप्तान रोहित शर्मा ने 196 गेंदों पर 131 रन बनाए. उन्होंने अपनी इनिंग में 14 चौके और 3 छक्के जड़े. वहीं, रोहित शर्मा ने कई बड़े रिकॉर्ड्स अपने नाम कर लिए. दरअसल, रोहित शर्मा टेस्ट फॉर्मेट में शतक लगाने वाले सबसे उम्रदराज भारतीय कप्तान बन गए हैं. इसके अलावा रोहित शर्मा वनडे और टी20 फॉर्मेट में भी शतक लगाने वाले सबसे उम्रदराज कप्तान हैं. 

रोहित शर्मा ने अफगानिस्तान के खिलाफ यह कारनामा किया था. साथ ही रोहित शर्मा वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप 2023-25 में सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले भारतीय बल्लेबाज बन गए हैं. इससे पहले रोहित शर्मा वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप 2019-21 और वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप 2021-23 में भी सबसे ज्यादा शतक जड़े थे. इस तरह आंकड़ें बताते हैं कि वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में रोहित शर्मा का बल्ला खूब चला है. वहीं, इंग्लैंड के खिलाफ राजकोट में रोहित शर्मा ने अपने टेस्ट करियर का 11वां शतक जड़ा. रोहित शर्मा ने 57 टेस्ट मैचों में 45.51 की एवरेज से 3959 रन बनाए हैं. बताते चलें कि भारत और इंग्लैंड के बीच 5 टेस्ट मैचों की सीरीज का तीसरा टेस्ट राजकोट में खेला जा रहा है. 

फिलहाल, यह सीरीज 1-1 की बराबरी पर खड़ी है. राजकोट टेस्ट के पहले दिन भारतीय टीम के कप्तान रोहित शर्मा ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने का फैसला किया. पहले दिन का खेल खत्म होने तक भारतीय टीम का स्कोर 5 विकेट पर 326 रन है. भारत के लिए कप्तान रोहित शर्मा के अलावा रवीन्द्र जडेजा ने शतक बनाया. इसके अलावा सरफराज खान ने 62 रनों की अच्छी पारी खेली. लेकिन यशस्वी जयसवाल, शुभमन गिल और रजत पाटीदार जैसे टॉप ऑर्डर बल्लेबाजों ने निराश किया.

G News 24 : खेल प्रतियोगिता में खिलाड़ियों का उत्साहवर्धन करने पहुचे ऊर्जा मंत्री श्री तोमर

 विजेता व उपविजेता टीमों को दी बधाई ...

खेल प्रतियोगिता में खिलाड़ियों का उत्साहवर्धन करने पहुचे ऊर्जा मंत्री श्री तोमर

ग्वालियर । ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर फूलबाग मैदान पर आयोजित हो रही जिला स्तरीय सांसद (राज्यसभा) खेल प्रतियोगिता में सोमवार को खिलाड़ियों का उत्साहवर्धन करने पहुँचे। उन्होंने यहाँ पहुँचकर कबड्डी के सेमीफायनल मैच को देखा और दोनों खिलाड़ियों से परिचय प्राप्त कर उन्हें प्रोत्साहित किया। साथ ही पारंपरिक खेल सितौलिया की विजेता व उपविजेता टीमों के खिलाड़ियों से मुलाकात की और उन्हें अच्छे प्रदर्शन के लिए बधाई दी। 

इस अवसर पर ऊर्जा मंत्री श्री तोमर ने कहा कि अगले साल इस प्रतियोगिता को और भव्यता के साथ आयोजित किया जायेगा। प्रतियोगिता में नए आयाम जोड़े जायेंगे। उन्होंने प्रतियोगिता में मौजूद खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि वे खूब मेहनत व अभ्यास कर अपने खेल को निखारें। प्रतिभावान खिलाड़ियों को आगे बढ़ाने में सरकार हर संभव सहयोग करेगी। 

G News 24 : केपटाउन में भारत ने 31 साल के इतिहास में पहली बार जीत दर्ज कराई !

 भारत सात विकेट से जीतकर 92 साल पुराना रिकॉर्ड धवस्त किया 

केपटाउन में भारत ने 31 साल के इतिहास में पहली बार जीत दर्ज कराई !

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच टेस्ट सीरीज का दूसरा मैच टीम इंडिया ने सात विकेट से अपने नाम किया। इस मैच में जीत के साथ ही टीम इंडिया ने सीरीज 1-1 से ड्रॉ करा ली। सीरीज का पहला मैच दक्षिण अफ्रीका ने पारी और 32 रन से जीता था। इस मैच में जीत के साथ ही रोहित शर्मा दक्षिण अफ्रीका में सीरीज ड्रॉ कराने वाले दूसरे भारतीय कप्तान बन गए। इससे पहले 2011 में महेंद्र सिंह धोनी ने अफ्रीका में सीरीज ड्रॉ कराई थी। भारत ने 31 साल के इतिहास में पहली बार केपटाउन में कोई टेस्ट मैच जीता है।यह टेस्ट क्रिकेट के इतिहास का सबसे छोटा मैच रहा, जिसमें कोई टीम विजेता साबित हुई। यह मुकाबला सिर्फ 107 ओवर में खत्म हो गया। इसका मतलब है कि इस मुकाबले में सिर्फ 642 मान्य गेंदें (नो और वाइड बॉल को छोड़कर) की गईं। इससे पहले 1932 में ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच मैच 109.2 ओवर में खत्म हो गया था। यह मैच ऑस्ट्रेलिया ने जीता था।

अपना अंतिम टेस्ट मैच खेल रहे डीन एल्गर ने जब टॉस जीतकर बल्लेबाजी को चुना तो उन्हें भी नहीं मालूम था कि यहां की पिच बल्लेबाजों के लिए बड़ी मुसीबत बनने जा रहा है। यहां तक भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने भी कहा कि अगर वह टॉस जीतते तो पहले बल्लेबाजी को चुनते। सिराज ने अपने दूसरे ओवर की दूसरी ही गेंद पर मार्करम (2) को स्लिप में कैच कराया। अगले ओवर में उन्होंने एल्गर (4) को बोल्ड कर दिया। 15 रन के अंदर द. अफ्रीका ने 4 विकेट खो दिए। बेडिंघम (12) और वेरेने (15) ने 19 रन जोड़े, लेकिन सिराज ने इन दोनों को भी आउट कर दिया। शार्दुल की जगह खेलने आए मुकेश कुमार और बुमराह ने लंच से पहले ही प्रथम टेस्ट में पारी और 32 रन से जीतने वाली अफ्रीकी पारी 55 पर समाप्त कर दी।

सिराज ने तीसरी बार टेस्ट क्रिकेट में पारी में पांच या उससे अधिक विकेट लिए। द. अफ्रीका तीसरी बार भारत के खिलाफ सौ से कम स्कोर पर आउट हुआ। 2015 में नागपुर में 79 और 2006 में जोहानिसबर्ग में यह टीम 84 रन पर आउट हुई। यह टेस्ट इतिहास में 11वां मौका था जब कोई टीम भारत के खिलाफ 100 से कम स्कोर पर आउट हुई। भारत ने अफ्रीकी टीम को 23.2 ओवर में समेटा, यह सबसे कम गेंदों में उसने किसी टीम को समेटने का अपना रिकॉर्ड तोड़ा। इससे पहले उसने द. अफ्रीका को ही जोहानिसबर्ग में 2006 में 25.1 ओवर में समेटा था। द. अफ्रीकी पारी में सिर्फ दो बल्लेबाज दोहरे अंकों में पहुंच सके।9.4 ओवर में द. अफ्रीकी स्कोर पार किया

शुरुआत भारत की भी अच्छी नहीं रही। यशस्वी (0) को रबादा ने बोल्ड किया, लेकिन रोहित ने तेजी से रन बनाए। भारत ने सिर्फ 9.4 ओवर में द. अफ्रीकी स्कोर को पार कर लिया। उन्होंने गिल के साथ 55 रन की साझेदारी निभाई। यहां रोहित 39 रन बनाकर बर्गर का शिकार बने। गिल ने विराट के साथ 33 रन की साझेदारी, लेकिन बर्गर ने उन्हें भी 36 रन पर आउट किया। बर्गर ने इसके बाद श्रेयस (0) को भी आउट कर दिया। बावजूद इसके चायकाल तक भारत चार विकेट पर 111 रन बनाकर मजबूत स्थिति में था। कोहली 20 और राहुल 0 पर थे।

चायकाल के बाद वह घटा तो भारत के साथ कभी नहीं हुआ। कोहली और राहुल स्कोर 153 रन तक ले गए। पहले नगीदी ने राहुल (8) को आउट किया। उसके बाद उन्होंने इसी ओवर में अश्विन की जगह खेल रहे रविंद्र जडेजा (0), जसप्रीत बुमराह (0) को आउट किया। रबादा ने अगले ओवर में कोहली (46) को आउट किया। इसके बाद सिराज रन आउट हो गए। अगली ही गेंद पर उन्होंने प्रसिद्ध कृष्णा को आउट कर पारी 153 रन पर समेट दी। रबादा, नगीदी, बर्गर ने तीन-तीन विकेट लिए।भारतीय बल्लेबाजों ने नहीं की देरी

मैच की चौथी पारी दूसरे दिन दूसरे सत्र के साथ शुरू हुई। भारत के सामने जीत के लिए 79 रन का लक्ष्य था और भारतीय बल्लेबाजों ने ज्यादा समय नहीं लिया। रोहित और यशस्वी ने पहली गेंद से ही आक्रामक बल्लेबाजी की। दोनों ने पहले विकेट के लिए 34 गेंद में 44 रन की साझेदारी की। यशस्वी 23 गेंद में 28 रन बनाकर आउट हो गए, लेकिन तब तक आधा काम हो चुका था। इसके बाद शुभमन गिल भी आउट हुए, लेकिन रोहित और कोहली भारत को जीत के करीब ले गए। अंत में विराट कोहली भी आउट हो गए, लेकिन श्रेयस ने विजयी रन बनाकर भारत को ऐतिहासिक जीत दिलाई।

G.NEWS 24 : मैं पद्मश्री वापस नहीं लूंगा : बजरंग पूनिया

खेल मंत्रालय ने खत्म की WFI की मान्यता...

मैं पद्मश्री वापस नहीं लूंगा : बजरंग पूनिया

केंद्रीय खेल मंत्रालय ने भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) को निलंबित कर दिया है. इसको लेकर संजय सिंह ने कहा कि जब नया महासंघ बना था तो उन्हें (बृजभूषण सिंह को) विदा कर दिया गया था और साक्षी मलिक ने भी संन्यास की घोषणा कर दी. ऐसे में दोनों लोग शांति से संघ को चलने दें. 

कुश्ती संघ के फैसले के बाद खेल मंत्रालय तुरंत एक्शन में आया और डब्ल्यूएफआई और संजय सिंह को सस्पेंड कर दिया. खेल मंत्रालय ने कहा कि कुश्ती संघ का फैसला WFI के प्रावधानों और नेशनल स्पोर्ट्स डेवलेपमेंट कोड का उल्लंघन हैं. साथ ही इसमें WFI के संविधान के प्रावधानों का पालन भी नहीं किया गया है.

भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) की मान्यता रद्द होने बाद रविवार (24 दिसंबर) को दिग्गज पहलवान बजरंग पूनिया ने कहा है कि जब तक न्याय नहीं मिल जाता, वह पद्मश्री पुरस्कार वापस नहीं लेंगे. बजरंग पूनिया ने कहा, ''मैं पद्मश्री वापस नहीं लूंगा. न्याय मिलने के बाद ही मैं इसके बारे में सोचूंगा.'' उन्होंने कहा, ''कोई भी पुरस्कार हमारी बहनों के सम्मान से बड़ा नहीं है... हमें सबसे पहले न्याय मिलना चाहिए.''

बजरंग पूनिया ने बृजभूषण शरण सिंह के करीबी संजय सिंह के भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष पद पर चुने जाने के विरोध में अपना पद्मश्री लौटा दिया था. ओलंपिक पदक विजेता बजरंग शुक्रवार (22 दिसंबर) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने और अपना विरोध पत्र सौंपने के लिए कर्तव्य पथ पर पहुंचे थे. पुलिसकर्मियों ने हालांकि उन्हें वहां रोक दिया था. इसके बाद बजरंग ने अपना पद्मश्री पदक फुटपाथ पर पत्र के ऊपर रख दिया था.

इससे पहले टोक्यों ओलंपिक के कांस्य पदक विजेता बजरंग पूनिया ने अपने X हैंडल से एक बयान जारी कर कहा था, ‘‘मैं अपना पद्श्री सम्मान प्रधानमंत्री को वापस लौटा रहा हूं. कहने के लिए बस मेरा यह पत्र है. यही मेरा बयान है.’’ इस पत्र में उन्होंने बृजभूषण के खिलाफ विरोध प्रदर्शन से लेकर उनके करीबी के चुनाव जीतने तक और सरकार के एक मंत्री से हुई बातचीत और उनके आश्वासन के बारे में बताया था और अंत में पद्श्री लौटाने की बात कही थी.

G News 24 : साक्षी मलिक ने गुरुवार को कुश्ती से संन्यास लेने का ऐलान किया

 संजय सिंह 'बबलू' को  रेसलिंग फेडरेशन  का अध्यक्ष (WFI)नियुक्त किये जाने पर... 

 साक्षी मलिक ने गुरुवार को कुश्ती से संन्यास  लेने का ऐलान किया 

ओलंपिक मेडलिस्ट महिला पहलवान साक्षी मलिक (Sakshi Malik) ने गुरुवार को कुश्ती से संन्यास का ऐलान कर किया. उन्होंने दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस में रोते-रोते ये फैसला किया. साक्षी ने कहा कि वह कुश्ती को त्याग रही हैं. ये घोषणा उन्होंने संजय सिंह 'बबलू' के रेसलिंग फेडरेशन के अध्यक्ष (WFI) पद का चुनाव जीतने के थोड़ी देर बाद ही कर दी.

G News 24 : उम्मीदें बहुत कम हैं लेकिन हमें उम्मीद है कि हमें न्याय मिलेगा !

सहयोगी की जीत पर आया बृजभूषण सिंह का बयान, ...

उम्मीदें बहुत कम हैं लेकिन हमें उम्मीद है कि हमें न्याय मिलेगा !

WFI (भारतीय कुश्ती संघ) के चुनाव में संजय कुमार सिंह को नए अध्यक्ष के रूप में चुना गया है। बता दें कि संजय कुमार सिंह को WFI के पूर्व प्रमुख बृजभूषण शरण सिंह को बेहद खास माना जाता है। अब संजय सिंह अपनी जीत के बाद बृजभूषण सिंह से मिलने पहुंचे। पूर्व अध्यक्ष बृजभूषण सिंह ने भी संजय सिंह की जीत को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि भारतीय कुश्ती पर लगा ग्रहण अब जल्द ही समाप्त होने वाला है। 

WFI के पूर्व प्रमुख बृजभूषण शरण सिंह ने उनके सहयोगी संजय सिंह की जीत पर कहा है यह मेरी व्यक्तिगत जीत नहीं है, यह देश के पहलवानों की जीत है। मुझे उम्मीद है कि नए महासंघ के गठन के बाद कुश्ती प्रतियोगिताएं फिर से शुरू होंगी। उन्होंने कहा कि 11 महीनों से कुश्ती पर जो ग्रहण लगा था वो अब हटने जा रहा है। उन्होंने कहा कि मैं जीत का श्रेय देश के पहलवानों और WFI के सचिव को देना चाहता हूं। मुझे उम्मीद है कि नई फेडरेशन के गठन के बाद कुश्ती प्रतियोगिताएं फिर से शुरू होंगी।'

बृजभूषण सिंह के सहयोगी संजय सिंह की जीत को उन पहलवानों के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है कि जिन्होंने बृजभूषण पर यौन शोषण के आरोप लगाए थे। हालांकि, संजय सिंह की जीत के बाद माना जा रहा है कि कुश्ती संघ में बृजभूषण का दबदबा अब भी कायम है। बृजभूषण सिंह के बेटे प्रतीक भूषण सिंह ने भी पिता के समर्थन में पोस्टर लहराया है। पोस्टर पर लिखा है- "दबदबा तो है-दबदबा तो रहेगा, यह तो भगवान ने दे रखा है।"

संजय सिंह के WFI अध्यक्ष बनने पर बृजभूषण शरण सिंहके खिलाफ प्रदर्शन करने वाले पहलवानों ने दुख जताया है। हम 40 दिनों तक सड़कों पर सोए और देश के कई हिस्सों से बहुत सारे लोग हमारा समर्थन करने आए। अगर बृजभूषण सिंह के बिजनेस पार्टनर और करीबी सहयोगी को WFI का अध्यक्ष चुना जाता है, तो मैं कुश्ती छोड़ दूंगी। इसके बाद साक्षी मलिक रो भी पड़ीं। वहीं, विनेश फोगाट ने कहा कि उम्मीदें बहुत कम हैं लेकिन हमें उम्मीद है कि हमें न्याय मिलेगा। यह दुखद है कि कुश्ती का भविष्य अंधकार में है। हम अपना दुख किससे कहें।

G News 24 : अब कभी मैदान पर नहीं दिखेगा धोनी वाला 7 नंबर

 BCCI ने लिया बड़ा फैसला...

अब कभी मैदान पर नहीं दिखेगा धोनी वाला 7 नंबर

भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे सफल कप्तान एमएस धोनी की जर्सी नंबर 7 को रिटायर करने का फैसला किया गया है. बता दें कि इससे पहले महान भारतीय बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर की 10 नंबर जर्सी को भी BCCI ने रिटायर किया था. भारत के पूर्व कप्तान एमएस धोनी को ट्रिब्यूट देते हुए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने उनकी 7 नंबर की जर्सी को रिटायर करने का फैसला किया है. धोनी इसी नंबर की जर्सी पहनकर भारत के लिए तीनों फॉर्मेट क्रिकेट खेले. बता दें कि धोनी भारत को तीन ICC ट्रॉफी जिताने वाले इकलौते कप्तान हैं. उन्होंने ICC ODI वर्ल्ड कप, ICC टी20 वर्ल्ड कप और ICC चैंपियंस ट्रॉफी में भारत को चैंपियन बनाया है.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट मुताबिक BCCI ने नेशनल टीम के खिलाड़ियों, विशेषकर डेब्यू करने वाले खिलाड़ियों को सूचित कर दिया है कि उनके पास तेंदुलकर और धोनी से जुड़े नंबर की जर्सी चुनने का विकल्प नहीं है. बता दें कि धोनी की तरह ही इस तरह का सम्मान पाने वाले एकमात्र अन्य क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर हैं. BCCI ने 2017 में उनकी सिग्नेचर नंबर 10 जर्सी को भी रिटायर कर दिया था.

जर्सी रिटायर का मतलब है कि कोई अन्य भारतीय खिलाड़ी क्रिकेट खेलते हुए इन दोनों नंबर की जर्सी का इस्तेमाल नहीं कर सकता. रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि BCCI के एक अधिकारी ने बताया, 'युवा खिलाड़ियों और वर्तमान भारतीय टीम के खिलाड़ियों को एम एस धोनी की नंबर 7 जर्सी नहीं चुनने के लिए कहा गया है. बीसीसीआई ने खेल में उनके योगदान के लिए धोनी की टी-शर्ट को रिटायर करने का फैसला किया है. एक नए खिलाड़ी को नंबर 7 नहीं मिल सकता और नंबर 10 पहले से ही उपलब्ध नंबरों की सूची से बाहर है.'

जर्सी चुनने का यह है नियम  

बता दें कि एक नियम के रूप में ICC खिलाड़ियों को 1 और 100 के बीच कोई भी संख्या चुनने की इजाजत देता है, लेकिन भारत में लिमिटेड ऑप्शन हैं. BCCI अधिकारी ने कहा, 'वर्तमान में, भारतीय टीम के नियमित खिलाड़ियों और दावेदारों के लिए लगभग 60 नंबर हैं. इसलिए भले ही कोई खिलाड़ी लगभग एक साल तक भी टीम से बाहर हो, हम उसका नंबर किसी नए खिलाड़ी को नहीं देते हैं. इसका मतलब है कि हाल ही में डेब्यू करने वाले खिलाड़ी के पास चुनने के लिए लगभग 30 नंबर होते हैं.'

बता दें कि इस साल की शुरुआत में जब 21 साल सलामी बल्लेबाज यशस्वी जयसवाल भारत के लिए डेब्यू कर रहे थे, तो वह 19वें नंबर की जर्सी लेने के इच्छुक थे, जो कि आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स के लिए खेलते समय वह पहनते हैं. हालांकि, चूंकि यह नंबर क्रिकेटर से कमेंटेटर बने दिनेश कार्तिक को दिया गया था, जो अब भारत के लिए नहीं खेल रहे, लेकिन फिर भी एक एक्टिव प्लेयर हैं. इसलिए जयसवाल को 64 नंबर की जर्सी में देखा गया.