Featured

recent/hot-posts

G News 24 : अगर ऐसा ही चला तो में विधायक पद से इस्तीफा दे दूंगा : प्रीतम लोधी

 होमगार्ड सैनिक ने युवक को पीटते हुए MLA प्रीतम लोधी पर की जातिगण टिप्पणी...

अगर ऐसा ही चला तो में विधायक पद से इस्तीफा दे दूंगा : प्रीतम लोधी

शिवपुरी। विधायक प्रीतम लोधी ने भी एक वीडियो पोस्ट कर कहा कि उन्हें और उनके कार्यकर्ताओं को लगातार टारगेट किया जा रहा है। अगर ऐसा ही चला तो वह विधायक पद से इस्तीफा दे देंगे। उन्होंने किसी भी कांग्रेस नेता का नाम लिए बिना पूर्व विधायक केपी सिंह पर तंज कसा कि उनसे एक बार की हार बर्दाश्त नहीं हो पा रही है। इस समय सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। जिसमे एक होमगार्ड सैनिक एक युवक को पीटते हुए पिछोर विधायक प्रीतम लोधी का नाम लेकर उन पर और उनकी जाति पर तंज कस रहा है। वीडियो सामने आने के बाद पुलिस ने मामले में कार्रवाई करते हुए होमगार्ड सैनिक को थाने से हटा कर मुख्यालय भेज दिया है। वहीं डायल 100 के ड्रायवर को भी हटा दिया गया है। यह वीडियो वायरल होने के बाद मामले ने तूल पकड लिया है।

रास्तें में युवक को पकड़ा

जानकारी के अनुसार अमित नाम का एक युवक अपने गांव सालौरा से घाटी की तरफ जा रहा था। इसी दौरान उसे रास्ते में एक युवक रविन्द्र लोधी मिला। रविन्द्र व उसके दो साथियों ने अमित को रोका तथा पेट्रोल मांगने के बहाने उसे लूटपाट करने का प्रयास किया। इसी दौरान पीछे से अमित के रिश्तेदार आ गए और उन्होंने रविन्द्र लोधी को पकड़ लिया जबकि दो भाग निकले।

गांव लाकर पीटा

ग्रामीणों ने रविन्द्र को गांव लाकर रस्सी से एक बिजली के खंबे से बांधकर डायल-100 को फोन कर दिया। डायल-100 का चालक व एक होमगार्ड सैनिक सुरेंद्र चौहान गांव पहुंचे। वहां सुरेंद्र चौहान ने रविन्द्र की लात-घूसों से मारपीट करते हुए विधायक प्रीतम लोधी का नाम लेकर गाली देते हुए जातिगत तंज कसा। गांव वालों ने यह वीडियो बना लिया और सुरेंद्र चौहान की इस बात का विरोध दर्ज कराते हुए कहा कि क्या विधायक प्रीतम लोधी ने यह सब करने की कह दी है क्या।

G News 24 : ग्वालियर-झांसी हाईवे पर जाम फंसे कार्तिक आर्यन,निकलने के लिए पुलिस बुलानी पड़ी !

 ओरछा में 12 दिनों से जारी भूल भुलैया 3 की शूटिंग शेड्यूल पूरा होने के बाद लौटते समय ...

ग्वालियर-झांसी हाईवे पर जाम फंसे कार्तिक आर्यन,निकलने के लिए पुलिस बुलानी पड़ी !

ग्वालियर। कार्तिक आर्यन ओरछा में 12 दिनों से जारी निर्देशक अनीस बज्मी की मूवी भूल भुलैया 3 की शूटिंग शेड्यूल पूरा हो गया है। इस फिल्म के लिए बॉलीवुड एक्टर कार्तिक आर्यन, विजयराज, राजपाल यादव, एक्ट्रेस माधुरी दीक्षित, विद्या बालन और तृप्ति डिमरी यहां शूटिंग कर रहे थे। आमतौर पर ये कलाकार फिल्मों में अलग-अलग तरह के सीन क्रियेट करते है लेकिन यहां इनके साथ ऐसा ही फिल्मी सीन क्रियेट हो गया।

छोपहर में एक्टर कार्तिक आर्यन, विजयराज, राजपाल यादव, एक्ट्रेस तृप्ति डिमरी सहित निर्देशक अनीस बज्मी को ग्वालियर एयरपोर्ट से उडान भरनी थी। इसके लिए सभी ओरछा से फॉर व्हीलर से रवाना हुए थे। यहां सिकरोदा के पास हुए एक्सीडेंट के बाद गांव के लोगों ने ग्वालियर-झांसी हाईवे पर जाम लगा दिया था। ऐसे में यहां से गुजर रहे कलाकार भी जाम में फंस गए, चूंकि उन्हें फ्लाइट पकडनी थी ऐसे में क्रू और पुलिस की गाडी की मदद से जैसे-तैसे ये कलाकार एयरपोर्ट पहुंचे। 

हालांकि इस बीच मुंबई के लिए उडान भरने वाली फ्लाइट भी एक घंटा लेट हो चुकी थी इसके बाद सभी कलाकारों ने मुंबई के लिए उडान भरी। एक्ट्रेस माधुरी दीक्षित और विद्या बालन गुरूवार को ही अपनी शूटिंग पूरी करके मुंबई रवाना हो चुके थे। ग्वालियर एयरपोर्ट से मुंबई के लिए रवाना होने से पहले एक्टर कार्तिक आर्यन, विजयराज, एक्ट्रेस तृप्ति डिमरी ने अपने फैंस के साथ सेल्फी के साथ फोटो भी खिंचवाए।

कार्तिक आर्यन ब्लू शर्ट में गोगल लगाए अलग ही अंदाज में दिखाई दिए। इसी तरह से विजयराज ओरेंज कलर की जैकेट पहने गोगल लगाकर और तृप्ति डिमरी भी गोगल लगाए हुए दिखाई दीं। कार्तिक के फैंस उन्हें कोकी कहकर बुला रहे थे। मुंबई रवाना होने से पहले विजयराज और तृप्ति डिमरी ने कहा कि ओरछा में शूटिंग करके काफी अच्छा लगा। मध्यप्रदेश में ये जगह काफी सुंदर है।

G News 24 : देश के टॉप 10 में शामिल सिंधिया स्कूल में 7 वीं के छात्र से किया दुष्कर्म !

 पॉक्सो एक्ट के तहत थाने में किया गया केस दर्ज ...

देश के टॉप 10 में शामिल सिंधिया स्कूल में 7 वीं के छात्र से किया दुष्कर्म !

ग्वालियर। ग्वालियर फोर्ट पर स्थित सिंधिया स्कूल से आई एक आई खबर ने उन परिवार के बच्चों को चिंता में डाल दिया है जिनके बच्चे इस प्रतिष्ठित स्कूल में पढ़ते हैं। सिंधिया बायॅज स्कूल में कक्षा नौवीं के छात्र ने कक्षा सातवीं में पढऩे वाले एक छात्र को अपनी हवस का शिकार बनाया। आरोपी छात्र के खिलाफ स्कूल के प्राचार्य की शिकायत पर बहोड़ापुर थाने में पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है। 

आरोपी छात्र की इस करतूत की खबर उसके अभिभावकों को दे दी गई है। फिलहाल जब तक दोनों ही बच्चों के अभिभावक नहीं आ जाते तब तक स्कूल प्रबंधन ने दोनों ही बच्चों को अलग-अलग कमरे में अपनी कड़ी निगरानी में रखा है। स्कूल परिसर में घटी इस घटना ने स्कूल के सिस्टम-प्रबंधन पर सवालिया निशान लगा दिया है। क्योंकि पूरे देश के धनाढ्य और रसूखदार परिवारों के बच्चों को इस स्कूल में पढऩे का मौका मिलता है। 

सिंधिया स्कूल में इतनी बड़ी घटना घट जाने के बाद सभी मौन हैं। स्कूल प्राचार्य के लेकर स्कूल में हॉस्टल की देखरेख करने वाले वॉर्डन और स्कूल में तमाम गतिविधियों के संचालन के लिए गठित समितियों में शामिल लोगों के मोबाइल बंद हैं। वहीं पुलिस भी इस मामले में पूरी तरह से खामोशी अहितयार किए हुए हैं। 

थाना प्रभारी से लेकर आला अफसर तक इस पूरे मामले पर या तो बात ही नहीं कर रहे है या अनभिज्ञता जाहिर कर रहे हैं। वहीं स्कूल प्रबंधन का कहना है कि घटना के बाद दोनों ही बच्चों के अभिभावकों को सूचना देकर कहा गया है कि वे जल्द से जल्द स्कूल पहुंच जाए। तब तक दोनों ही बच्चों को अलग-अलग कमरों में रखा गया है।

इस पूरे मामले की शिकायत स्कूल के प्राचार्य अजय सिंह पुत्र कालिका सिंह ने बहोड़ापुर थाने में दर्ज करवाई। चूंकि मामला काफी हाई प्रोफाइल है। इसलिए बाहोडापुर थाने ने तुरंत ही घटना को आला अफसरों के संज्ञान में लाया और केस दर्ज करने में कोई देरी नहीं की। जो जानकारी मिली है उसके मुताबिक यह घटना गत रात की है। घटना स्कूल परिसर स्थित स्वास्थ्य केंद्र में घटी है। दोनों ही बच्चे अपनी-अपनी समस्या लेकर स्वास्थ्य केंद्र में तैनात डॉक्टर लेधिन बोधिडर से मिलने गए थे।

जब डॉक्टर ने दोनों ही बच्चों को स्वास्थ्य केंद्र में आराम करने को कहा तो कक्षा नौवीं में पढऩे वाले छात्र ने कक्षा सातवी के छात्र को मजबूर किया कि वह जैसा करना चाहता है। वैसा करते रहने दे। इसके बाद बेड पर उसके शॉट्स खोलने की कोशिश की। किसी बहाने से वॉथरूम में बुलाया और सातवीं में पढऩे वाले छात्र का आरोप है कि यहीं पर उसके सीनियर ने उसके साथ जबरन यौन संबंध बनाया। इतना ही नहीं जब उसने विरोध करने की कोशिश की तो उसने उसका मुंह भी दवा दिया। उसने इसकी सूचना सबसे पहले अस्पताल की नर्स को दी। उसने डॉक्टर को बताया और यह बात तुरंत ही स्कूल चलाने वालों तक पहुंच गई।

यह कोई पहला मौका नहीं है जब हाई प्रोफाइल सिंधिया स्कूल की छवि पर दाग लगा हो। करीब सात साल पहले यह स्कूल उस समय सुर्खियों में आया था जब इस स्कूल में रैगिंग का कांड उछला था। हालांकि तब भी स्कूल प्रबंधन ने कांड को पूरा दबाने की कोशिश की थी पर वे मामले को जितना भी दबाते, मामला उतना खुलकर सामने आता गया और सिंधिया स्कूल में होने वाली गतिविधियों की परत दर परत उधड़ती चली गई थी।

G News 24 : 24 घंटे में 12 लाख पेड़ लगाकर इंदौर ने रचा इतिहास

 बनाया गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड...

24 घंटे में 12 लाख पेड़ लगाकर इंदौर ने रचा इतिहास

एक पेड़ मां के नाम कार्यक्रम में इंदौर के लोगों ने 24 घंटे में 12 लाख पेड़ लगा दिए। इस दौरान राज्य के मुख्यमंत्री मोहन यादव और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी अपनी मां के नाम पेड़ लगाया। मुख्यमंत्री मोहन यादव को गिनीज बुक वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज होने के बाद सर्टिफिकेट दिया गया।

मुख्यमंत्री मोहन यादव ने लिया गिनीज बुक का प्रमाण पत्र

स्वच्छता में सात बार से देश में सिरमौर बन रहे इंदौर ने आखिरकार एक दिन में सर्वाधिक पौधे रोपने का विश्व रिकॉर्ड बना लिया है। इंदौर की रेवती रेंज टेकरी पर रविवार को यह रिकॉर्ड बनाया गया। इसमें सहभागी बनने के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह खासतौर से इंदौर आए हुए थे। उन्होंने यहां अपनी मां कुसुमबेन की याद में पौधा रोपा। मुख्यमंत्री डॉक्टर मोहन यादव, मेयर पुष्य मित्र भार्गव और नगरीय विकास मंत्री कैलाश विजयवर्गीय को गिनीज बुक की ओर से विश्व रिकॉर्ड का प्रमाण पत्र प्रदान किया गया। तीनों नेताओं ने शहरवासियों को इस रिकॉर्ड के लिए बधाई दी है।

300 से ज्यादा लोगों की टीम ने पौधों की गिनती की

रेवती पर्वत पर पौधारोपण के विश्व रिकॉर्ड को जांचने के लिए गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड की टीम आई हुई थी। 300 से ज्यादा लोगों की टीम ने पौधों की गिनती की। टीम का नेतृत्व कर रहे निश्चय ने बताया कि इंदौर में 24 घंटे के अंदर 12 लाख से ज्यादा पौधे लगाए गए हैं। 

शंखनाद से हुई शुरुआत

रविवार सुबह छह बजे से बीएसएफ की रेवती फायरिंग रेंज में स्थित टेकरी पर 12 लाख पौधे लगाने का अभियान शुरू हुआ था। सूर्योदय के बाद शंखनाद के साथ इंदौरवासी टेकरी पर पौधे लगाने के लिए उमड़ पड़े। मंत्री कैलाश विजयवर्गीय और मेयर पुष्य मित्र भार्गव ने विधि विधान से पूजन अर्चन के बाद अफसरों के साथ पौधे लगाए। इसके बाद विभिन्न सामाजिक संगठनों के लोगों ने पौधे रोपे। 

बारिश व कीचड़ से भी कम नहीं हुआ उत्साह

बारिश के कारण आयोजन स्थल पर थोड़ा कीचड़ भी हो गया था, लेकिन लोगों के उत्साह में कोई कमी नहीं आई। सुबह साढ़े दस बजे तक टेकरी पर चार लाख से ज्यादा पौधे लगाए जा चुके थे। 

रिकॉर्ड बनते ही शुरू हो गया जश्न का दौर 

शाम चार बजे इंदौरवासियों ने असम में पिछले साल लगाए गए 9.26 लाख पौधों के विश्व रिकॉर्ड को पछाड़ दिया। साढ़े पांच बजे तक इंदौर में 12 लाख से ज्यादा पौधे लगा दिए गए थे। यह सिलसिला शाम छह बजे तक चला। इसके साथ ही जश्न का दौर शुरू हो गया। मंत्री विजयवर्गीय और मेयर पुष्य मित्र भार्गव ने नाचकर खुशी जताई।

रात में हुई बारिश पर जारी रहा खड्ढे खोदने का काम

रेवती रेंज पर शनिवार शाम छह बजे से खड्ढे खोदने के काम शुरू हो गया था। लेकिन इसी बीच, रात आठ बजे से तेज बारिश का दौर शुरू हो गया। इससे थोड़ी देर के लिए काम प्रभावित हुआ, लेकिन बारिश रुकते ही बीएसएफ के जवानों ने कमान संभाल ली और गड्ढे खोदे गए। कलेक्टर आशीष सिंह और निगमायुक्त शिवम वर्मा ने गेती चलाकर खड्ढे खोदे। यह काम रविवार सुबह छह बजे तक चलता रहा।

गृहमंत्री अमित शाह हुए शामिल

प्रधानमंत्री मोदी की पहल 'एक पेड़ मां के नाम' अभियान के तहत इंदौर में यह कार्यक्रम आयोजित किया गया था। इसमें भाग लेने के लिए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह खासतौर से इंदौर आए थे। उन्होंने अपनी मां कुसुमबेन की स्मृति में पीपल का पौधा रोपा।

असम का रिकॉर्ड इंदौर में टूटा 

'गिनीज बुक आफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स' के मुताबिक, असम के उदलगुड़ी जिले में पिछले साल 13 और 14 सितंबर के बीच 24 घंटे में 9 लाख 26 हजार पौधे लगाए गए थे। इस रिकॉर्ड को इंदौर में 14 जुलाई 2024 को 11 लाख से ज्यादा पौधे रोप कर तोड़ दिया गया।

G News 24 : रास्ता ठीक बना दिया तो,दलित महिला और उसके पति के सामने निर्वस्त्र करके पीटा !

 पति के मारपीट करके मुंह में पेशाब की गई...

रास्ता ठीक बना दिया तो,दलित महिला और उसके पति के सामने निर्वस्त्र करके पीटा !

मुजफ्फरपुर। कहने को देश आजाद है लेकिन ये कैसी आजादी है जहां लोग आज भी उंच-नीच और दलित-दबंग जैसे मामलों को लेकर देश आए दिन बबाल मचा रहता है अभी हाल ही में बिहार के मुजफ्फरपुर में एक दलित महिला और उसके पति के साथ हैवानियत हुई है। दबंगों ने मामूली सी बात पर दलित महिला को निर्वस्त्र करके पीटा है और उसके पति के मुंह में पेशाब की है। मामला मनियारी थाना क्षेत्र के रघुनाथपुर मधुबन का है। पीड़ित ने 2 नामजद और 3 अज्ञात लोगों पर FIR दर्ज कराई है।

कीचड़ से सने गड्ढे नूमे पगडंडी को मिट्टी डालकर चलने लायक बनाया पर पीटा 

मनियारी थाना क्षेत्र के एक गांव में मानवता को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है। बाराती का रास्ता बनाने पर दबंगों ने दलित परिवार के साथ मारपीट की है। दबंगों ने महादलित दंपति को निर्वस्त्र कर पीटा और फिर महिला के पति के मुंह में पेशाब की।

पूरा मामला ये है कि महादलित टोले में पड़ोसी की बेटी की शादी में बारात आनी थी। बाराती को आने में कोई कठिनाई नहीं हो, इसके लिए कीचड़ से सने गड्ढे नूमे पगडंडी को सभी टोला निवासियों ने मिट्टी डालकर चलने लायक बनाया था। ये बात दबंगों को नागवार गुजरी।

आक्रोशित दबंगों ने मौके पर पहुंचकर दलितों को जातिसूचक शब्द कहे और उनके साथ मारपीट की। इस दौरान एक दबंग ने चाकू से सिर पर हमला कर दिया। पिटाई की सूचना पर बचाने आई पीड़ित की पत्नी को भी दबंगों ने नही छोड़ा और अर्धनग्न कर मारपीट की। इसके बाद दबंगों ने उसके पति को जमीन पर पटककर उसके मुंह में पेशाब की।

सभी दबंग पीड़ित को धमकी देकर गए हैं कि उनके घर में आग लगाकर उन्हें मार देंगे। पीड़ित दंपति ने मनियारी थाना में गांव के ही दबंग पिता-पुत्र को नामजद करते हुए तीन अज्ञात हमलावरों पर एफआईआर दर्ज कराई है।

पीड़ित ने सुनाई आपबीती

पीड़ित ने बताया कि मांझी टोला में देवेंद्र मांझी की बेटी की शादी थी। रास्ते में कीचड़ रहने के कारण ग्रामीणों ने मिट्टी डाल दी, जिससे बाराती गिरे नहीं। इसी से आक्रोशित दबंगों ने उनकी पिटाई कर दी और चाकू से हमला कर दिया। इसके बाद दबंगों ने मुंह में पेशाब कर दी। पत्नी को भी निर्वस्त्र करके पीटा। 

प्राथमिकी दर्ज कर जांच-पड़ताल चल रही है :थानाध्यक्ष 

इस मामले में थानाध्यक्ष देवव्रत कुमार ने बताया कि प्राप्त आवेदन के आलोक में प्राथमिकी दर्ज कर जांच-पड़ताल चल रही है। सभी आरोपियों पर लगे आरोपों की जांच की जाएगी। दोष साबित होने पर न्यायोचित कार्रवाई होगी। पुलिस सभी बिंदुओं पर गहराई से जांच कर रही है।

G.NEWS 24 : फिरोजाबाद में खाना पड़ने पर को लेकर दूल्हा-दुल्हन के परिवार में हुआ घमासान

कई लोग कुर्सियाँ फेंकते दिखे...

फिरोजाबाद में खाना पड़ने पर को लेकर दूल्हा-दुल्हन के परिवार में हुआ घमासान

फ़िरोज़ाबाद। शादियों में झगड़े होना आम बात हो गई है, खबरों और वायरल वीडियो में परिवारों के बीच खाने की कमी से लेकर बिरयानी में चिकन न मिलने तक की हर बात पर तीखी नोकझोंक देखने को मिल रही है। उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद में हाल ही में हुई एक घटना इस चलन को बखूबी दर्शाती है। एक शादी समारोह के दौरान, दावत ने नाटकीय मोड़ ले लिया जब खाने की कमी के कारण दूल्हा और दुल्हन के परिवारों के बीच झगड़ा हो गया, जो इस हद तक बढ़ गया कि लाठी और कुर्सियाँ हथियार बन गईं। 

वायरल हुए एक वीडियो में कई लोग कुर्सियाँ फेंकते और जो कुछ भी उनके हाथ लगा, उससे एक-दूसरे पर हमला करते नज़र आ रहे हैं। शादी की दावत में खाने की कमी के कारण इतनी भयंकर लड़ाई हुई कि कई लोगों को उड़ते हुए फर्नीचर और मारपीट से मामूली चोटें आईं। न्यूज के अनुसार, दुल्हन के भाई ने आरोप लगाया कि दूल्हे के परिवार ने भोजन की कमी के कारण दुल्हन के परिवार से पैसे मांगे। 

कुछ पैसे देने के बावजूद, दूल्हे के परिवार ने 1 लाख रुपये और मांगे, जिससे झगड़ा शुरू हो गया। विवाद तेजी से बढ़ा और दोनों पक्षों ने लाठी-डंडों का इस्तेमाल किया, जैसा कि वायरल फुटेज में कैद है। स्थिति इतनी बिगड़ गई कि शादी रद्द करनी पड़ी। दुल्हन के परिवार ने बिना शादी की शपथ लिए ही उसे घर ले गए, जिससे समारोह का दुखद अंत हो गया। 

दिलचस्प बात यह है कि यह कोई अकेली घटना नहीं है। हाल ही में उत्तर प्रदेश के बरेली में एक शादी में उस समय विवाद हो गया जब मेहमानों ने पाया कि बिरयानी में चिकन लेग पीस नहीं थे। एक साधारण शिकायत से शुरू हुआ विवाद एक अराजक झगड़े में बदल गया, जिसमें मेहमानों ने लात-घूंसे, यहां तक कि कुर्सियां भी फेंकी। अफवाह यह है कि दूल्हे ने खुद ही इसमें शामिल होकर जश्न को पूरी तरह से अफरा-तफरी में बदल दिया क्योंकि दोनों परिवार आपस में भिड़ गए।

G.NEWS 24 : क्वांटिटी नहीं क्वालिटी आउट ऑफ़ बॉक्स यही नई शिक्षा नीति का सार : केंद्रीय गृह मंत्री शाह

प्रदेश में एक साथ 55 कॉलेजों में प्रधानमंत्री कॉलेज ऑफ़ एक्सीलेंस का वर्चुअल शुभारंभ...

क्वांटिटी नहीं क्वालिटी आउट ऑफ़ बॉक्स यही नई शिक्षा नीति का सार : केंद्रीय गृह मंत्री  शाह

भोपाल। केंद्रीय गृह और सहकारिता मंत्री अमित शाह ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्ष 2047 तक भारत को विश्व में हर क्षेत्र में अव्वल रखने का लक्ष्य रखा है। इसके लिए शिक्षा की नींव मज़बूत होना आवश्यक है। इसी दिशा में वर्ष 2020 में नई शिक्षा नीति का आग़ाज़ किया गया। इसमें क्वांटिटी नहीं क्वालिटी, ऑर्थोडॉक्स के बदले आउट ऑफ़ बॉक्स को सार मानते हुए नीति निर्माण किया गया। ये गर्व का विषय है कि मध्यप्रदेश में इस नीति को देश में सबसे पहले लागू किया। यह भविष्य के 25 सालों में देश के विद्यार्थियों को विश्व के विद्यार्थियों से स्पर्धा योग्य बनाएगी। यह भी गर्व करने की बात है कि मध्यप्रदेश ने इंजीनियरिंग और मेडिकल शिक्षा को अपनी मातृ भाषा में पठन-पाठन का अवसर यहाँ के विद्यार्थियों को मुहैया कराया है। 

उद्देश्य सभी वर्ग के लोगो को प्लेटफार्म देखकर समान अवसर उपलब्ध कराना है। उन्होंने कहा कि उच्च शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार से प्रधानमंत्री कॉलेज ऑफ़ एक्सीलेंस के सभी तयशुदा मानदंडों की पूर्ति संबंधी जानकारी ली थी। उन्होंने आशा व्यक्त की कि प्रधानमंत्री कॉलेज ऑफ एक्सीलेंस गुणवत्तापूर्ण उच्च शिक्षा के सुप्रतिष्ठित संस्थानों के रूप में देश में मध्यप्रदेश का नाम रोशन करने में समर्थ होंगे। केन्द्रीय गृह मंत्री श्री शाह ने कहा कि इन एक्सीलेंस कालेजों की विशेषता यह है कि इनमें नई शिक्षा नीति के अनुरूप सभी कोर्स उपलब्ध होंगे और ये कालेज सभी संसाधनों से युक्त होंगे। इनसे युवा पीढ़ी को लाभ मिलेगा। 

मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा कि नई शिक्षा नीति के ज़रिए विद्यार्थियों को काग़ज़ी शिक्षा नहीं वरन् जीवन में बदलाव के लिए ज़रूरी व्यावसायिक शिक्षा प्राप्त करने का अवसर प्रदान किया गया है। ये प्रधानमंत्री कॉलेज ऑफ़ एक्सीलेंस युवाओं के जीवन की दिशा तय करेंगे। श्री शाह के हाथों इन कॉलेजों का शुभारंभ वो भी मालवा की धरती से होना प्रसन्नता और गर्व की बात है। भगवान कृष्ण ने भी मालवा की भूमि में रह कर 64 कलाओं, 18 पुराणों 14 विद्याओं और चार वेदों की शिक्षा दीक्षा प्राप्त की है। छह माह से भी कम समय में इन कॉलेजों का विधिवत शुभारंभ होना सरकार की प्रतिबद्धता दर्शाता है। उन्होंने सभी 55 कॉलेजों में शुरू किए जा रहे विभिन्न पाठ्यक्रमों और लगभग 450 करोड़ रुपयों की लागत से किए गए विकास कार्यों से विद्यार्थियों को अवगत कराया।

 उच्च शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने प्रदेश के सभी प्रधानमंत्री कॉलेज ऑफ़ एक्सीलेंस में संचालित पाठ्यक्रमों,उपलब्ध संसाधनों,संकायों के संचालन के लिए मानव संसाधन और यहाँ विकसित किए जा रहे विद्यावनों के बारे में जानकारी दी। केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री सावित्री ठाकुर, जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट, सांसद शंकर लालवानी, सांसद कविता पाटीदार, विधायक रमेश मेंदोला, मधु वर्मा, गोलू शुक्ला सहित अन्य जनप्रतिनिधि और संभागायुक्त दीपक सिंह, आईजी अनुराग, पुलिस कमिश्नर राकेश गुप्ता, कलेक्टर आशीष सिंह और बड़ी संख्या में विद्यार्थिगण उपस्थित थे। 

आरंभ में अतिथियों ने माँ सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का विधिवत शुभारम्भ किया। इससे पहले केन्द्रीय मंत्री श्री शाह ने परिसर में मध्यप्रदेश हिंदी ग्रन्थ अकादमी महाविद्यालय के काउंटर का वर्चुअल उद्घाटन तथा भारतीय ज्ञान परंपरा प्रकोष्ठ का शुभारंभ के साथ ही प्रधानमंत्री कॉलेज आफ एक्सीलेंस विषयक पुस्तिका का विमोचन किया। इस दौरान प्रधानमंत्री कॉलेज आफ एक्सीलेंस पर एक वीडियो फ़िल्म का भी प्रदर्शन किया गया। एसीएस उच्च शिक्षा के.सी. गुप्ता ने आभार माना।