Featured

recent/hot-posts

G.NEWS 24 : एंबुलेंस न मिलने पर पत्नी को कंधे पर लादकर अस्पताल पहुंचा पति

प्रदेश के उर्जाधानी जिले सिंगरौली में...

एंबुलेंस न मिलने पर पत्नी को कंधे पर लादकर अस्पताल पहुंचा पति

सिंगरौली। सरई थाना क्षेत्र के बिलवानी गांव में एक युवक की पत्नी की तबीयत अचानक खराब हो गई, तमाम कोशिशों के बाद जब एंबुलेंस नहीं मिली तो वह कंधे पर लादकर अस्पताल ले गया. प्रदेश के उर्जाधानी जिले सिंगरौली से एक दुर्भाग्यपूर्ण खबर सामने आई है, यहां एक आदिवासी व्यक्ति को अपनी पत्नी को ईलाज कराने के लिए करीब 10 किलोमीटर तक कंधे पर लादकर चलना पड़ा. सरकारी एंबुलेंस के लिए उसने कई बार प्रयास किया लेकिन नहीं मिली, जिसके बाद उसे यह कदम उठाना पड़ा, घटना का वीडियो अब सोशल मीडिया में वायरल हो गया है, वीडियो वायरल होने के बाद अब स्वास्थ्य विभाग की किरकिरी होने लगी है. 

दरअसल सिंगरौली जिले के सरई थाना क्षेत्र के बिलवानी गांव में आदिवासी युवक की पत्नी की तबियत अचानक खराब हो गई, तमाम कोशिशों के बाद जब एम्बुलेंस नहीं मिली तो पत्नी को कंधे पर लादकर 10 किलोमीटर दूर तक पैदल चल दिया, सरई सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचा, जहां डॉक्टरों ने इलाज किया अब हालात में सुधार बताई जा रही है. इस वाक्या को जिसने भी देखा डंग रह गया ,स्थानीय लोगों ने देखा इसका वीडियो बना लिया और इसे सोशल मीडिया में वायरल कर दिया, घटना आज यानी गुरुवार का बताया जा रहा है.

G News 24 : जालियां वाला बाग के शहिदों को नमन,भावपूर्ण श्रद्धांजलि

 इतिहास में 13 अप्रैल का दिन एक दुखद घटना के साथ दर्ज है...

जालियां वाला बाग के शहिदों को नमन,भावपूर्ण श्रद्धांजलि 

देश को आजादी ये आज़ादी अनगिनत कुर्बानियां एवं शहीदों के बलिदानों के बाद मिली है उन्होंने जो जुल्मों सितम सहे,आंदोलनों किए और लाखो लोगों की कुर्बानियों दी,तब जाकर मिली है ये आजादी इसकी कीमत पहचानो। 

देश की आजादी के इतिहास में 13 अप्रैल का दिन एक दुखद घटना के साथ दर्ज है। वह वर्ष 1919 का 13 अप्रैल का दिन था, जब पंजाब के अमृतसर जिले में ऐतिहासिक स्वर्ण मंदिर के नजदीक जलियांवाला बाग नाम के इस बगीचे में एक शांतिपूर्ण सभा के लिए जमा हुए हजारों भारतीयों पर अंग्रेज हुक्मरान जनरल डायर ने अंधाधुंध गोलियां बरसाई थीं। इस गोलीबारी में सैकड़ों लोग मारे गए थे। अंग्रेजों की गोलीबारी से घबराई बहुत सी औरतें अपने बच्चों को लेकर जान बचाने के लिए कुएं में कूद गईं। निकास का रास्ता संकरा होने के कारण बहुत से लोग भगदड़ में कुचले गए और हजारों लोग गोलियों की चपेट में आए।

पुनः भावपूर्ण श्रद्धांजलि। समस्त देशवासियों को बैसाखी की बहुत बहुत शुभकामनाए...

G News 24 : ग्वालियर में दो लेन के एक और ओवरब्रिज का निर्माण प्रस्तावित !

 सेतु बंधन योजना के अंतर्गत होगा 10 फ्लाईओवर का निर्माण...

ग्वालियर में दो लेन के एक और ओवरब्रिज का निर्माण प्रस्तावित !

ग्वालियर। केंद्र सरकार की सेतु बंधन योजना के अंतर्गत प्रदेश में प्रस्तावित 10 फ्लाईओवर व अंडर ब्रिज के निर्माण के लिए सलाहकार एजेंसी के चयन का टेंडर भले 15 अप्रैल को खोला जाएगा मगर चुनाव आचार संहिता लगी होने के कारण कार्यादेश जून में ही जारी हो सकेगा। चयन एजेंसी की देखरेख में ही मप्र रोड डेवलपमेंट कारपोरेशन द्वारा निर्माण कार्य शुरू कराया जाना है। 

वर्तमान में इंदौर में 6 लेन के चार, भोपाल और धार में फोरलेन के दो और विदिशा, सिवनी और ग्वालियर में दो लेन के एक-एक ओवरब्रिज का निर्माण प्रस्तावित है। ग्वालियर में दो लेन का एक अंडरब्रिज भी बनाया जाना है। बता दें कि इनक कार्यों के लिए केंद्र से राशि मिल चुकी है और इंदौर सहित कुछ जिलों में फ्लाईओवर का निर्माण शुरू भी कराया गया है।

बाकी बचे प्रोजेक्ट के लिए सलाहकार एजेंसी के चयन की दरकार है। दरअसल, प्रदेश के 10 शहरों में कुल 21 फ्लाईओवर का निर्माण 850 करोड़ रुपये की लागत से प्रस्तावित किया गया था। कुछ शहरों में गत वर्ष निर्माण कार्य शुरू करा दिए गए थे। अब पांच शहरों में 10 फ्लाईओवर और अंडर ब्रिज के निर्माण की प्रक्रिया मप्र रोड डेवलपमेंट कारपोरेशन ने शुरू की है। 

इनकी प्राथमिक लागत 608.27 करोड़ रुपये आंकी गई है। निर्माण कार्य शुरू होने से पहले सलाहकार एजेंसी मिलना जरूरी है, जो सभी आरओबी की ड्राइंग-डिजाइन आदि तैयार करेगी। इसके लिए गत पांच मार्च को टेंडर जारी किए गए थे, जिन्हें 15 अप्रैल को खोला जाएगा, मगर आचार संहिता लगी होने के कारण एजेंसी का वर्क आर्डर जून माह में ही जारी होगा।

G News 24 : इनोवा सवार ने 6 लोगों को टक्कर मार दी, इसके बाद कार खंभे से टकराकर स्वत: ही रुक गई

 हादसे में एक शख्स बुरी तरह घायल है जिसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है...

इनोवा  सवार ने 6 लोगों को टक्कर मार दी, इसके बाद कार खंभे से टकराकर स्वत: ही  रुक गई 

ग्वालियर। शहर के रॉक्सी टॉकीज से माधवगंज की ओर जा रही तेज रफ्तार इनोवा   सवार ने 6 लोगों को टक्कर मार दी। इसके बाद कार आगे जाकर बिजली के खंबे से टकरा गई। गाड़ी का नंबर MP 09 CT 6851 है। सूत्रों के अनुसार वाहन चालक नशे में था। जिस वजह से यह बड़ी दुर्घटना हो गई। इस हादसे में एक शख्स बुरी तरह घायल हो गया है जिसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

घटना देर शाम की बताई जा रही है। बताया जा रहा है कि कार चालक के नशे में होने की वजह से गाड़ी पर उसका नियंत्रण नहीं रहा। इसके बाद जो उसके सामने आता गया वह उसे टक्कर मारकर बढ़ता गया। इस दौरान काफी लोगों ने उसे रोकने का प्रयास किया लेकिन वह नहीं रुका। जैसे ही खंभे से उसकी गाड़ी टकराई, भीड़ ने उसे कार से बाहर निकाला और उसकी जमकर पिटाई कर दी। वहीं मामले की जानकारी मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंची और आरोपी ड्राइवर को भीड़ से छुड़ाकर थाने ले गई। फिलहाल पुलिस इस पूरे मामले की जांच में जुट गई है। साथ ही नशेड़ी कार चालक के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

G News 24 : थ्रेसर की चपेट में आने से मां के सामने ही 6 साल की बेटी का सिर धड़ से अलग हुआ

हादसे के वक्त बच्ची के मां-बाप खेत पर गेंहू की गहाई कर रहे थे...

थ्रेसर की चपेट में आने से मां के सामने ही  6 साल की बेटी का सिर धड़ से अलग हुआ

शहडोल। मध्य प्रदेश के शहडोल में एक किसान को थ्रेसर मशीन में गेंहू की गहाई करना इतना मंहगा पड़ा कि 6 साल की बच्ची का सिर धड़ से अलग हो गया। इस दर्दनाक हादसे में बच्ची ने तड़प-तड़पकर दम तोड़ दिया। यह ह्रदय विदारक घटना शहडोल जिले के धनपुरी थाना क्षेत्र के घिसलि टोला की है। मामले की जानकरी लगते ही मौके पर पहुची धनपुरी पुलिस ने मामले की पड़ताल शुरू कर दी कि बच्ची की मौत कैसे और किन परिस्थितियों में हुई है। लेकिन बच्ची के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

दरअसल, शहडोल जिले के धनपुरी थाना क्षेत्र के घिसलि के रहने वाले किसान गजाधर लोधी गेंहू की खेती करते हैं। इसी क्रम में आज वह अपने ही परिवार की थ्रेसर मशीन से गेंहू की फसल की गहाई (दाने निकालना) करा रहे थे। इसी दौरान पास के खेत में खेल रही उनकी 6 साल की मासूम बच्ची राखी जिसके गले में में एक गमछा भी पड़ा था। खेलते-खेलते राखी के गले का वही गमछा थ्रेसर मशीन के बोल्ट में जा कर फंस गया। इसी गमछे के कारण मासूम बच्ची का सिर मशीन के पास जाकर फंस गया। मशीन में लगी पंखियों में बच्ची की गर्दन फस गई। पंखे की गति इतनी तेज रही कि बच्ची का सिर धड़ से अलग हो गया। इससे बच्ची की दर्दनाक मौत हो गई। 

इस मामले की जानकारी लगते ही मौके पर पहुंची धनपुरी पुलिस ने मर्ग कायम कर शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और मामले की जांच में जुट गई है। पुलिस ये पता लगाने की कोशिश में है कि बच्ची की मौत कैसे और किन परिस्थितियों में हुई होगी। इस पूरे मामले में धनपुरी थाना प्रभारी खेम सिंह ने बताया कि एक 6 साल की बच्ची का थ्रेसर मशीन की चपेट में आने से सिर धड़ से अलग हो गया। इससे उसकी मौत हो गई। मामले में मर्ग कायम कर आगे की वैधानिक कार्रवाई की जा रही है।

G News 24 : रीवा में 6 साल का बच्चा 40 फुट गहरे बोरवेल में गिरा,बचाव अभियान जारी

 खेतों में कटी हुई गेहूं की फसल पर खेल रहा था...

रीवा में 6 साल का बच्चा 40 फुट गहरे बोरवेल में गिरा,बचाव अभियान जारी

रीवा। मध्य प्रदेश के रीवा जिले में शुक्रवार को एक बच्चा बोरवेल में गिर गया। बच्चे को बचाने के लिए अभियान जारी है। अधिकारियों ने बताया कि यह घटना उत्तर प्रदेश की सीमा से लगे मनिका गांव में शाम लगभग तीन बजे हुई जब बच्चा खुले बोरवेल के पास खेल रहा था। रीवा की जिलाधिकारी प्रतिभा पाल ने बताया कि राज्य आपदा आपातकालीन मोचन बल (एसडीईआरएफ) की एक टीम को लगभग 40 फुट की गहराई पर फंसे बच्चे को बचाने के लिए सेवा में लगाया गया है।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनिल सोनकर ने बताया कि एक पाइप के माध्यम से बोरवेल के अंदर ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है। उन्होंने बताया कि बच्चे की स्थिति पर नजर रखने के लिए एक सीसीटीवी कैमरा भी बोरवेल के भीतर भेजा गया, लेकिन कुछ रुकावट के कारण कैमरा उस तक नहीं पहुंच सका। बोरवेल करीब 70 फुट गहरा है और बच्चे को बचाने के लिए समानांतर गड्ढा खोदा जा रहा है।

एडिशनल एसपी अनिल सोनकर ने बताया कि बच्चा अपने दोस्तों के साथ खेतों में कटी हुई गेहूं की फसल पर खेल रहा था इसी दौरान वह बोरवेल में गिर गया। बाकी बच्चों ने उसकी मदद करने की कोशिश की। जब वे नहीं कर सके तो तुरंत मयंक के माता-पिता को सूचित किया, जिसके बाद उन्होंने पुलिस और प्रशासन को सूचना दी, सूचना मिलते ही थाना प्रभारी और एसडीएम मौके पर पहुंचे। 2 जेसीबी, कैमरामैन की एक टीम और एसडीआरएफ की एक टीम बनारस से भेजी गई है और वे जल्द ही यहां आएंगी। बताया जा रहा है कि मनका गांव में बोरवेल में गिरे बच्चे को सकुशल बाहर निकालने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। कलेक्टर प्रतिभा पाल और पुलिस अधीक्षक विवेक सिंह मौके पर पहुंचकर राहत और बचाव कार्य की लगातार निगरानी कर रहे हैं।

G News 24 : हिंदू धर्म को तबाह करने का प्रयास वालों को जनता सबक सिखाएगी: पीएम मोदी

 मोदी ने कांग्रेस पर ऋषिकेश में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए जमकर हमला बोला...

हिंदू धर्म को तबाह करने का प्रयास वालों को जनता सबक सिखाएगी: पीएम मोदी

ऋषिकेश। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर हिंदू धर्म को तबाह करने का प्रयास करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि  इसके लिए जनता उसे सबक सिखा कर रहेगी । उत्तराखंड में लोकसभा चुनाव के लिए 19 अप्रैल को होने वाले मतदान से पहले यहां एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस पार्टी विकास और विरासत दोनों की विरोधी है । उन्होंने कहा,‘‘ कोई भी नहीं भूल सकता कि कांग्रेस पार्टी ने प्रभु राम के अस्तित्व पर सवाल उठाए हैं। यह कांग्रेस ही है जिसने पहले राम मंदिर का विरोध किया, जितने अड़ंगे डाल सकते थे, डाले और अदालत में भी रूकावटें डालने को कोशिश कीं।’’ 

उन्होंने कहा, लेकिन राम मंदिर बनाने वालों ने कांग्रेस के सारे गुनाह माफ कर उनके घर जाकर उन्हें मंदिर में भगवान की प्राण प्रतिष्ठा के लिए निमंत्रण भेजा लेकिन उन्होंने उसका भी बहिष्कार कर दिया । मोदी ने कहा कि अब तो कांग्रेस ने सार्वजनिक रूप से घोषणा कर प्रण लिया है कि हिंदू धर्म में निहित शक्ति का विनाश करेंगे । उन्होंने कहा, ‘‘यह कांग्रेस शक्तिस्वरूपा मां धारी देवी, मां चंद्रबदनी देवी, मां ज्वाल्पा देवी की शक्ति को खत्म करना चाहती है । उत्तराखंड की आस्था को तबाह करने की साजिशें चल रही हैं और कांग्रेस की ये बातें आग में घी डालने का काम करेंगी।’’ 

उन्होंने कहा कि उत्तराखंड की संस्कृति की रक्षा करना हम सभी का दायित्व है । प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘‘आप सभी को भूलना नहीं है कि यह वही कांग्रेस है जो कहती रही है कि हर की पौड़ी मां गंगा के किनारे नहीं है, वह एक नहर के किनारे बसी है। ये गंगा जी के अस्तित्व पर सवाल उठा रहे हैं। इन्हें उत्तराखंड के लोग सबक सिखा कर रहेंगे। प्रधानमंत्री ने कहा कि उनके नेतृत्व वाली स्थिर सरकार ने पिछले 10 वर्षों में पहले के मुकाबले देश को बहुत मजबूत किया है । उन्होंने कहा कि उससे पहले जब तक देश में कमजोर और अस्थिर सरकारें रहीं, तब तक भारत में आतंकवाद ने पैर पसारे लेकिन उनकी मजबूत सरकार में आतंकवादियों को उनके घर में घुसकर मारा जाता है । उन्होंने कहा,‘‘आज युद्ध क्षेत्र में तिरंगा भी सुरक्षा की गारंटी बन जाता है।’’ 

मोदी ने कहा कि उनकी मजबूत सरकार ने सात दशकों बाद जम्मू—कश्मीर से धारा 370 खत्म की, तीन तलाक के खिलाफ कानून बनाया, महिलाओं को लोकसभा और विधानसभा में आरक्षण दिया और पूर्व सैनिकों को 'ओआरओपी' (वन रैंक, वन पेंशन) का लाभ दिया । उन्होंने जनता से विकसित भारत के संकल्प को पूरा करने के लिए उत्तराखंड की पांचों सीटों पर एक बार फिर भाजपा प्रत्याशियों को विजयी बनाने को कहा । 2014 और 2019 में भी प्रदेश की पांचों सीटें भाजपा के खाते में ही गयी थीं।