महिला की सनसनीखेज हत्या की घटना का हुआ खुलासा…

पुलिस ने महिला की हत्या करने वाले आरोपी को छः घण्टे के अन्दर किया गिरफ्तार

 

ग्वालियर। दिनांक 27.02.2022 को फरियादी परमाल बंजारा निवासी काली माता मंदिर के सामने गोल पहाड़िया ने थाना जनकगंज आकर रिपोर्ट की थी कि उसकी बहिन पपीता उर्फ सबिता पत्नि स्व0 प्रकाष बंजारा मेेरे घर के पास स्थित मकान में अपने बच्चों के साथ निवास करती है, आज प्रातः 0730 बजे मेरी भतीजी ने बताया कि पपीता बुआ का शव घर से कुछ दूर स्थित झाड़ियों के पीछे पड़ा हुआ है। वहां जाकर देखने पर ज्ञात हुआ कि किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा मेरी बहिन की गला काटकर हत्या कर दी गई है। फरियादी की रिपोर्ट पर से थाना जनकगंज पुलिस द्वारा अज्ञात आरोपी के विरूद्व अप.क्र. 196/2022 धारा 302 भादवि का प्रकरण पंजीबद्व कर विवेचना में लिया गया।

उक्त सनसनीखेज हत्या की घटना को गंभीरता से लेते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ग्वालियर अमित सांघी द्वारा अति. पुलिस अधीक्षक (शहर पष्चिम) सत्येन्द्र सिंह तोमर को थाना पुलिस बल की टीम बनाकर उक्त हत्या के अज्ञात आरोपी की पतारसी कर गिरफ्तार करने हेतु निर्देशित किया गया था। वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशानुसार नगर पुलिस अधीक्षक लश्कर आत्माराम शर्मा के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी जनकगंज निरी. संतोष यादव के नेतृत्व में उक्त अंधेकत्ल का पर्दाफाश करने हेतु टीम को लगाया गया। पुलिस टीम को विवेचना के दौरान आये मुखबिर की सूचना तकनीकी साक्ष्यों के आधार पर ज्ञात हुआ कि मृतक महिला के एक व्यक्ति से अवैध संबंध थे तथा घटना से पूर्व उक्त व्यक्ति को महिला के साथ देखा भी गया है। पुलिस टीम द्वारा मुखबिर सूचना पर से उक्त व्यक्ति को बिजली घर रोड, गोल पहाड़िया से पकड़कर उक्त हत्याकाण्ड के संबंध में पूछताछ की तो उसके द्वारा उक्त हत्या करना स्वीकार किया।

पकड़े गये आरोपी ने पुलिस को बताया कि उक्त मृतक महिला से उसके पूर्व से अवैध संबंध थे तथा उसको लगता था कि मृतिका के अन्य लोगों से भी अवैध संबंध हैं। जिसके चलते मेरा उससे विवाद भी हुआ था। दिनांक 26.02.2022 को मैने उसे रात में मिलने के लिये घर के पास स्थित सूनसान स्थान पर बुलाया था, जहां मैने छुरे से उसका गला रेतकर उसकी हत्या कर दी थी। उसके बाद में मौके से भाग गया था। पुलिस टीम द्वारा आरोपी की निषादेही पर घटना में प्रयुक्त छुरा तथा खून लगे कपड़ों को आरोपी के पास से जप्त किया गया। मृतिका के संबंध में जानकारी लेने पर पुलिस को ज्ञात हुआ कि मृतका के पति प्रकाश की मौत दस साल पहले बिलौआ में स्थित खदान में काम करते समय ब्लास्ट से मृत्यू हो गई थी और पति की मौत के बाद वह अपने बेटे रवि और बेटी खुशी के साथ मायके में मां के पास रह रही थी।