टॉप 5 यूएस कंपनियों के CEO के साथ की मुलाकात…

PM Modi के विजन के कायल हुए अमेरिकी कारोबारी

वॉशिंगटन। अमेरिका दौरे पर पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को टॉप 5 यूएस कंपनियों के सीईओ के साथ मुलाकात की। करीब एक घंटा चली इस मीटिंग में अमेरिकी कारोबारी पीएम मोदी के मुरीद हो गए। वो बार-बार पीएम मोदी के विजन और भारत की तारीफ करते रहे। मीटिंग के बाद उन्होंने कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत संभावनाओं की खान बन गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जिन पांच कंपनियों के शीर्ष अधिकारियों से मुलाकात की, उनमें एडोब के सीईओ शांतनु नारायण और जनरल एटॉमिक्स के सीईओ विवेक लाल भारतीय मूल के अमेरिकी हैं। पीएम मोदी और एडोब के सीएओ के साथ हुई बैठक के बारे में विदेश मंत्रालय ने बताया कि प्रधानमंत्री और शांतनु नारायण के बीच चर्चा युवाओं को स्मार्ट शिक्षा प्रदान करने और भारत में अनुसंधान को बढ़ाने के लिए प्रौद्योगिकी का लाभ उठाने पर केंद्रित थी। 

पीएम मोदी से मिलने के बाद सभी कारोबारियों ने दिल खोलकर भारत की तारीफ की। ब्लैक स्टोन कंपनी के चेयरमैन सीईओ स्टीफन ए श्वार्जमैन ने कहा कि मोदी सरकार विदेशी निवेशकों के लिए बेहद अनुकूल है। इसके अलावा बाकी चार सीईओ ने भी भारत के प्रति सकारात्मक रुख दिखाया। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी के विजन को जानने की हमेशा से इच्छा होती है और ये मुलाकात बेहतरीन थी। जनरल एटॉमिक्स के सीईओ विवेक लाल ने मीटिंग के बाद कहा, ‘यह एक बेहतरीन मुलाकात थी। हमने प्रौद्योगिकी, भारत में नीतिगत सुधारों और निवेश के दृष्टिकोण से अपार संभावनाओं पर चर्चा की’। 

वहीं, ब्लैक स्टोन के CEO ने कहा कि यह (मोदी सरकार) विदेशी निवेशकों के लिए एक बहुत ही अनुकूल सरकार है। जो लोग रोज़गार पैदा करने के लिए भारत में पूंजी लगाना चाहते हैं, उनके सहयोग के लिए भारत सरकार को उच्च ग्रेड मिलनी चाहिए। फर्स्ट सोलर के सीईओ मार्क विडमार ने कहा कि स्पष्ट रूप से प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में औद्योगिक नीति के साथ-साथ व्यापार नीति में एक मजबूत संतुलन बनाने के लिए काम किया गया है, यह भारत में विनिर्माण स्थापित करने के लिए फर्स्ट सोलर जैसी कंपनियों के लिए एक आदर्श अवसर है। इसी तरह, एडोब के सीईओ शांतनु नारायण ने प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि भारत में विस्तार कैसे किया जाए, इस बारे में प्रधानमंत्री मोदी के दृष्टिकोण के बारे में जानकर हमेशा बहुत खुशी होती है। जिन प्रमुख विषयों पर हमने बात की उनमें इनोवेशन में निरंतर निवेश एक था। यह प्रौद्योगिकी आगे बढ़ाने का तरीका है।