बिजली कंपनी की हो रही मौज...

मध्यप्रदेश बिजली वितरण कंपनी में 'वसूली भाभी' का बोलबाला 

इंदौर। प्रदेश की मध्य क्षेत्र बिजली वितरण कंपनी ने ग्रामीण इलाकों की महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए निष्ठा विद्युत मित्र योजना शुरू की है। जिसमें बिजली कंपनी को चोरी की रोकथाम, बिजली बिल वसूली से लेकर नए कनेक्शन में मदद मिली है। इसी के साथ मध्य प्रदेश की महिलाओं को अपनी आमदनी बढ़ाने का अवसर मिला है। विद्युत मित्र योजना से जुड़ी महिलाओं को गांवों में वसूली भाभी के नाम से जाना जाने लगा है। प्रदेश के मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने भोपाल, नर्मदापुरम, ग्वालियर और चंबल संभाग के 16 जिलों में महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए इस विशेष योजना निष्ठा विद्युत मित्र योजना को शुरू किया है। 

इसमें प्रदेश की ग्रामीण आजीविका मिशन के अंतर्गत सेल्फ हेल्प ग्रुप्स में रजिस्टर महिलाओं को निष्ठा विद्युत मित्र का रुप दिया गया है। प्रदेश में अब तक 200 से ज्यादा महिलाओं को आर्थिक लाभ पहुंच रहा है और वह अपने घर की जरुरतों को पूरा कर पा रही हैं। प्रदेश के उर्जा मंत्री प्रद्युम सिंह तोमर ने बताया कि यह योजना बेहतर परिणाम के साथ महिलाओं को आत्मनिर्भर बनने का मौका दे रही है। योजना में निष्ठा विद्युत मित्रों को बिजली की वसूली और नए कनेक्शन, राजस्व वसूली, बिजली चोरी रोकथाम आदि जैसे काम दिए गए हैं। उर्जा मंत्री ने बताया कि मध्य प्रदेश के मध्य विद्युत वितरण कंपनी के कार्यक्षेत्र में 224 निष्ठा विद्युत मित्रों ने 31 लाख से भी ज्यादा की राजस्व वसूली की है। इसी के साथ लोगों तक नए कनेक्शन भी पहुंचाए हैं। 

इन महिलाओं को लोग गांवों में वसूली भाभी के नाम से जानते हैं। योजना के अंतर्गत काम करने वाली महिलाओं को सेल्फ हेल्प ग्रुप्स द्वारा वसूल की गई राशि का 15 प्रतिशत प्रोत्साहन राशि के रुप में दिया जाता है। वहीं नए कनेक्शन जारी करवाने के लिए 50 रुपए प्रति कनेक्शन के लिए दिए जाते हैं। तीन फेज के सिंचाई पंप कनेक्शन जारी करवाने के लिए दौ सो रुपए प्रोत्साहन राशि के रुप में दिए जाते हैं। साथ ही बिजली चोरी की सूचना देने पर और वह सही पाए जाने पर बिल की राशि उपभोक्ता द्वारा दिए जाने पर 10 बिल का 10 प्रतिशनत प्रोत्साहन के रुप में दिया जाता है।