मतदान दल प्रशिक्षण प्राप्त करने में कोताही न बरतें…

मतदान कर्मी निष्पक्ष होकर करायें मतदान : कलेक्टर

मुरैना। विधानसभा उपनिर्वाचन 2020 को स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शान्तिपूर्ण सम्पन्न कराने के लिये मतदान कर्मियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। मतदान कर्मी निष्पक्ष होकर मतदान करायें। मतदान के दौरान किसी भी प्रकार की त्रुटि न हो, इसलिये प्रशिक्षण के हर बिन्दुओं को गंभीरता से समझे, समझ में नहीं आये तो उसे बार-बार पूछे। यह निर्देश शुक्रवार को पीठासीन, मतदान अधिकारी पी-1, पी-2, पी-3 को प्रशिक्षण के दौरान कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन श्री अनुराग वर्मा ने दियेे। प्रशिक्षण का आयोजन शासकीय उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय क्रमांक-1 मुरैना में दिया जा रहा है। 

प्रशिक्षण बतौर जिला पंचायत के सीईओ श्री तरूण भटनागर ने कहा कि प्रशिक्षण ऐसा प्राप्त करें कि निर्वाचन के दौरान गलती न हो। उन्होने कहा कि प्रशिक्षण  प्राप्त करने मे जो समझ में नहीं आये उसे द्वारा पूछ लें। ताकि मन में कोई शंका न रहे और मतदान के दौरान असुविधा का सामना न करना पड़े। उन्होने कहा कि 1726 मतदान केन्द्रों मे से अधिकतर बेवकास्टिंग द्वारा मतदान केन्द्रों को जोड़ा जायेगा। जिसकी लिंक राज्य निर्वाचन आयोग सहित जिला निर्वाचन अधिकारी एवं राजनैतिक लोग भी देख सकेगें। 

इसके लिये मतदान केन्द्र पर सीसीटीव्ही कैमरा लगाये गये है। उसके नीचे वोटिंग कम्पार्ट नहीं बनाये। क्योंकि मतदान कर्मी अपने मत का उपयोग करेगा, तो मतदान करने की गोपनीयता भंग होने का डर रहेगा। उन्होने कहा कि पोलिंग एजेन्ट एवं पीठासीन अधिकारी वोटिंग कम्पार्ट के अन्दर नहीं जाये। जब मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर रहा हो। ई.व्ही.एम एवं व्ही.व्हीपैट एवं निर्वाचन सामग्री प्राप्त करने के बाद मतदान दल सुरक्षा के अधीन अपने निर्दिष्ट मतदान केन्द्र के लिये प्रस्थान कर जाते है। 

मतदान दलों को कड़ाई से निर्देश दिया जाता है कि वे विवरण के समय से मतदान केन्द्र में मॉकपोल के पूर्व किसी भी परिस्थिति में व्हीव्हीपैट का परीक्षण न करें, क्योंकि उन्हे जो व्ही.व्ही.पैट प्रदान किये गये है, उनका परीक्षण पहले से ही हो चुका है। वास्तविक मतदान से पहले, मतदान केन्द्र में निर्वाचन लड़ रहे अभ्यर्थियों के मतदान अभिकर्ताओं की उपस्थिति में मॉकपोल संचालित किया जाता है। मॉकपोल के बाद, मॉक पोल के आंकड़ो को हटा दिया जाता है और रिजक्ट सेक्शन को ग्रीन पेपर सील, स्पेशल टेग, एड्रेस टेग तथा स्ट्रिप सील से सीलबंद कर दिया जाता है। मतदान के बाद क्लोज बटन दबाना न भूलें।