पश्चिम बंगाल के नए राज्यपाल की दो टूक ...

किसी भी तरह के झगड़े में नहीं उलझने वाले हैं सीवी आनंद बोस

पश्चिम बंगाल में तत्कालीन राज्यपाल जगदीप धनखड़ बनाम ममता बनर्जी की लड़ाई खूब चर्चा में रही. विधानसभा चुनाव से पहले और उसके बाद दोनों के बीच तल्खी लगातार देखी गई. इसी बीच अब पश्चिम बंगाल को सीवी आनंद बोस के तौर पर अपना नया राज्यपाल मिल गया है, जो  केरल कैडर के 1977 बैच के (सेवानिवृत्त) भारतीय प्रशासनिक सेवा अधिकारी हैं. 

बोस ने मोदी सरकार के कई अहम प्रोजेक्ट्स में काम किया है और उनकी कई सलाहों को सरकार ने लागू भी किया. पश्चिम बंगाल का इतिहास देखते हुए अब ममता से उनके रिश्तों को लेकर सवाल उठ रहे हैं. इसी बीच सीवी आनंद बोस ने राज्यपाल बनने के बाद अपना पहला बयान दिया है. 

पश्चिम बंगाल के नए राज्यपाल सीवी आनंद बोस ने ये साफ कर दिया है कि वो किसी भी तरह के झगड़े में नहीं उलझने वाले हैं. उन्होंने राज्यपाल का पद संभालने के बाद इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए कहा कि वो केंद्र और राज्य सरकार के बीच एक ब्रिज की तरह काम करेंगे. जिससे तमाम मुद्दों का हल आपसी सहयोग से निकाला जा सके.