कांग्रेस के षड्यंत्र को उजागर करें...

देश और प्रदेश के विकास को मुद्दा बनाएं : मुख्यमंत्री 

भोपाल । कांग्रेस ने अनुसूचित जनजाति हो या अन्य पिछड़ा वर्ग, सबके साथ षड्यंत्र किया है। किसी को भी आगे नहीं बढ़ने दिया क्योंकि पार्टी नहीं चाहती थी कि उनके साथ कोई चुनौती पेश कर सके। एक समय था, जब विदेश में भारत की चर्चा केवल भ्रष्टाचार को लेकर की जाती थी। प्रधानमंत्री को अंडर अचीवर कहा जाता था। महीनों सरकार के स्तर पर कोई निर्णय नहीं होता था लेकिन 2014 के बाद स्थिति तेजी से बदली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश का मान-सम्मान बढ़ा है। प्रदेश का कायाकल्प हुआ है। ऐसा कोई क्षेत्र नहीं है, जिसमें हमने उपलब्धि प्राप्त न की हो। हमें देश और प्रदेश के विकास को मुद्दा बनाना होगा। यह बात मुख्यमंत्री श‍िवराज सिंह चौहान ने बुधवार को भाजपा के मीडिया विभाग के प्रदेश स्तरीय प्रशिक्षण वर्ग में बढ़ता भारत-बढ़ता मध्य प्रदेश विषय को संबोधित करते हुए कही।

उन्होंने कहा कि देश और प्रदेश में हुए परिवर्तन की जानकारी मीडिया कार्यकर्ताओं को जनता तक पहुंचानी चाहिए। प्रधानमंत्री के नेतृत्व में एक गौरवशाली, वैभवशाली, संपन्न, समृद्ध और शक्तिशाली भारत का निर्माण हो रहा है। आज भारत दुनिया की पांचवी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है और विकास दर सबसे तेज है। वर्ष 2003 से पहले मध्य प्रदेश में डकैतों का आतंक था। हमारी सरकार आते ही छह माह में डकैतों का सफाया कर दिया गया। माफियाओं के अवैध कब्जे पर बुलडोजर चल रहे हैं और अब तक 79 दुष्कर्मियों को फांसी की सजा सुनाई जा चुकी है। पहले प्रदेश में सड़कें नहीं होती थीं और खेतों में से होकर गाड़ियां निकलती थीं।

अब प्रदेश में तीन लाख किलोमीटर सड़कें हैं। कांग्रेस के जमाने में दो हजार 900 मेगावाट बिजली थी। आज 22 हजार 500 मेगावाट बिजली उपलब्ध है। दुनिया का सबसे बड़ा फ्लोटिंग सोलर एनर्जी प्लांट ओंकारेश्वर में बन रहा है। सिंचाई 45 लाख हेक्टेयर में हो रही है। अनाज का उत्पादन रिकार्ड तोड़ रहा है। 56 हजार करोड़ की लागत वाली पेयजल परियोजनाएं चल रही हैं। 24 स्थानों के लिए रोप वे स्वीकृत हुए हैं। प्रदेश की विकास दर 19.76 प्रतिशत है और प्रति व्यक्ति वार्षिक आय एक लाख 76 हजार रुपये पर पहुंच गई है। सभी क्षेत्रों मंे विकास हो रहा है। इसे जन-जन तक पहुंचाने की जिम्मेदारी मीडिया कार्यकर्ताओं की है।

वहीं, प्रदेश प्रभारी मुरलीधर राव ने मध्य प्रदेश में मीडिया परिदृश्य और हमारी भूमिका विषय पर कहा कि पार्टी में मीडिया की जिम्मेदारी संभाल रहे सभी कार्यकर्ताओं को सरकार की योजनाओं का अध्ययन होना चाहिए। इंटरनेट मीडिया पर भी सक्रियता बढाएं। हम चुनावी मोड पर है। इस दृष्टि से हमारी तैयारियां भी अधिक होना चाहिए। अपनी बात तथ्यों और तर्कों के साथ प्रभावी ढंग से रखने के साथ ही विरोधियों को मुखरता से जवाब दें। मीडिया के साथ कार्य और व्यवहार विषय पर पार्टी के प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने कहा कि वर्तमान और समसामयिक मुद्दों पर अध्ययन करें और अपडेट रहते हुए अपने जिला और प्रदेश नेतृत्व को घटनाओं की जानकारी से अवगत कराएं। विपक्षी दलों के झूठ को बेनकाब करें।

भाजपा के राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री शिवप्रकाश ने कहा कि देश की आजादी के बाद वामपंथियों और हमारी विचारधारा के विरोधियों ने अंग्रेजों के काम को ही आगे बढ़ाया। पंडित जवाहरलाल नेहरू के शासनकाल में ये लोग खूब फले-फूले और उनकी सरकार में भी शामिल रहे। आजादी के बाद एक ऐसी पूरी पीढ़ी तैयार हो गई, जो हमारे धर्म और संस्कृति को अवैज्ञानिक, तथ्यहीन तर्क के विरुद्ध बताती है। इनकी मान्यता है कि जो भारत के इतिहास और संस्कृति को जितनी गालियां देगा, वो उतना ही बड़ा बुद्धिजीवी है। 1952 में जब हमारी यात्रा शुरू हुई, तब दुनिया में समाजवाद, साम्यवाद और पूंजीवाद ही थे लेकिन आज पूरी दुनिया एकात्म मानववाद के बारे में सोच रही है।

जाति, धर्म और क्षेत्र से ऊपर उठकर संपूर्ण समाज भारतमाता की जय बोल रहा है, यह हमारे विचार की सफलता है। स्थानीय भाषाओं को सम्मान मिल रहा है और मैकाले का सिद्धांत समाप्त हो रहा है। हमारी वैचारिक श्रेष्ठता सारी दुनिया में स्थापित हो रही है लेकिन हमारे विचार के विरोधी आज भी हैं, मीडिया कार्यकर्ताओं को इसे समझना चाहिए। हमें इन ताकतों से लड़ना और जीतना है। इसके लिए हमें अध्ययन करके तैयारी करनी होगी। जनमत और विचार की श्रेष्ठता हमारे साथ है, लेकिन हमें अपनी क्षमता और योग्यता को बढ़ाना होगा।

वहीं, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी एक राजनीतिक दल है और इस नाते हमारे कामों, विचारों तथा गतिविधियों का प्रचार-प्रसार हमारी आवश्यकता है। पार्टी क्या काम कर रही है, संगठन में क्या गतिविधि हो रही हैं, इन बातों को समाज तक पहुंचाने की जिम्मेदारी मीडिया विभाग की है। अपनी बात जनता तक पहुंचाने के लिए हमें सभी माध्यमों का उपयोग करना होगा।