गोरमी पुलिस ने अंधे मर्डर की गुत्थी सुलझाई...

पत्नी ने आशिक के साथ की पति को करेंट से मार डाला

भिण्ड। विगत 14 नवंबर दिन सोमबार की दरम्यानि रात्रि करीब एक से दो बजे के बीच डायल-100 के जरिये किसी महिला ने सूचना दी कि मेरे पति की अज्ञात लोगों ने हत्या कर दी है, तभी पुलिस बिना देर किये घटनास्थल की और रवाना हो गई, जहाँ देखा एक व्यक्ति मृत पड़ा है, और उसकी पत्नी शव पर विलाप कर रही है, तभी पुलिस ने मर्ग कायम कर विवेचना प्रारम्भ कर दी है।

गोरमी थाना प्रभारी सुधाकर तोमर ने आज प्रेसनोट जारी करते हुये कहा कि मृतक कृष्णपाल उर्फ  टिंकू केवट की पत्नी द्वारा रात्रि एक व ढेड बजे के बीच डायल 100 पर सूचना दी कि उसके पति की कुछ अज्ञात लोगो ने हत्या कर घर के पीछे वाले रास्ते पर फेंक दिया है, उक्त सूचना पर थाना प्रभारी गोरमी समस्त दल बल के साथ मौके पर पहुँचे, मौके पर घटना की तस्दीक की l 

मृतक कृष्णपाल उर्फ  टिंकू अपने घर के पीछे वाले रस्ते पर मृत अवस्था में दोनो हाथ साड़ी से बंधे हुये थे जिसे खीचकर लाया गया था, मृत व्यक्ति के गले पर निशान व पैर के अंगूठों पर करेंट लगने जैसे निशान थे, प्रकरण की गम्भीरता को देखते हुये वरिष्ठ अधिकारियो को सम्पूर्ण घटना से अवगत कराकर फरियादी नेकराम केवट पुत्र गम्भीर केवट उम्र 38 साल निवासी ग्राम सिकरोदा गोरमी की रिपोर्ट पर से हत्या का मामला दर्ज कर जाँच पड़ताल शुरू कर दी गई।

पुलिस कप्तान शैलेन्द्र सिंह चौहान एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कमलेश खरपुस के निर्देशन में अंधे कत्ल की पतारसी हेतु टीम गठित की गई, पतारसी के दौरान मृतक की पत्नी पर सदेंह होने पर मृतक की पत्नी से पुलिसिया अंदाज में पूछताछ करने पर मृतक की पत्नी के द्वारा ही हत्या की साजिश रचकर अपने पति की हत्या की गई, मृतक टिंकू उर्फ कृष्णपाल केवट की पत्नी का गाँव सिकरौदा के लडक़े के साथ कुछ महीनो से प्रेम प्रसंग होकर शारीरिक संबध बन गये थे मृतक की पत्नी व गांव का प्रेमी मृतक टिंकू उर्फ  कृष्णपाल केवट को मौत के घाट उतारकर खुशहाल जिंदगी जीना चाह रहे थे, इस कारण मृतक टिंकू उर्फ  कृष्णपाल केवट को अपने रास्ते से हटाने का प्लान बना चुके थे, इस प्लान में मृतक की पत्नी व उसके प्रेमी ने अपने ही गांव के शातिर बदमाश राजू जिस पर अपनी ही पत्नी का हत्या कर हत्या का सबूत मिटाने के साथ थाना पर अन्य अपराधो में कुल छह अपराध पंजीबद्ध है।

मृतक की पत्नी व उसका प्रेमी मृतक का ठिकाने लगाने के प्लान के मुताबिक दिनांक 13 नवंबर को मृतक टिंकू उर्फ कृष्णपाल केवट के द्वारा अपने दोस्तो के साथ अत्यधिक शराब पीने से बेहोशी की हालत में होने से मृतक की पत्नी ने अपने प्रेमी को मोबाईल पर बताया कि आज अच्छा मौका है इसको ठिकाने लगाने का महिला व उसके प्रेमी ने अपने गांव के शातिर बदमाश को शामिल कर लिया, महिला ने उक्त बदमाश को अपने साथ संबंध बनाने का लालच देकर उक्त घटना को अंजाम दिया। उक्त दिनांक को मृतक अत्यधिक नशे में होने के कारण बेहोशी हालत मे अपनी चारपाई पर सो रहा था l 

मृतक की पत्नी व गांव के शातिर बदमाश के साथ मिलकर उसे उसके पैर व गला चारपाई से बाँधकर उसके पैरो मे करेंट जब तक लगा कर रखा जब तक वह मर नहीं गया। प्लान के मुताबिक मृतक टिंकू उर्फ  कृष्णपाल केवट को क्वारी नदी में लाश को ठिकाने लगाना था, इसलिये मृतक की पत्नी व शातिर बदमाश लाश को ठिकाने लगाने के लिये घर के पीछे वाले रास्ते से ले जा रहे थे, तभी किसी की आहट सुनकर घबराकर वहाँ से भागकर अपने अपने घर  चले गये, बाद में गाँव के लोगों के द्वारा शोर करने पर मृतक की पत्नी पहुँचकर रोका फर्जी ड्रामा करते हुये डायल-100 को पुलिस को सूचना दी।हत्या में शामिल की गई सामग्री गोरमी पुलिस ने मृतक की हत्या करने में शामिल बिजली का तार, एक रस्सी, तीन मोबाइल जब्त कर आरोपियों को सलाखों के पीछे भेज दिया है।

अंधे मर्डर की गुत्थी सुलझाने में इनका रहा विशेष योगदान

इस अंधे कत्ल का खुलासा करने में गोरमी थाना प्रभारी सुधाकर सिंह तोमर, उपनिरीक्षक मनीराम नादिर, सउनि देवेन्द्र सिंह भदौरिया, प्रधान आरक्षक कौशलेन्द्र सिंह, मनीष सिंह, शिवकुमार तोमर, पंकज शुक्ला, विकास शर्मा का विशेष योगदान रहा।