शिविर में दूसरे दिन हुए 63 पंजीयन…

सेवा करना ही मेरा उद्देश्य रहा है : श्री तोमर


ग्वालियर। ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने नेत्र शिविर के द्वतीय दिन सिविल अस्पताल हजीरा में भ्रमण कर मरीजों से मिलकर कहा कि सेवा करना ही मेरा उद्देश्य  रहा है अंतिम सांस तक दीन दुखियों की सेवा करता रहूंगा। नेत्र शिविर में पूरी रात जागकर जनसेवा का कार्य किया है उससे मन काफी प्रफुल्लित है। मैंने भी अपने सहयोगियों  से अनुरोध किया है की बारी बारी से सभी लोग रात-दिन रुक कर मोतियाबिंद का ऑपरेशन कराने आए मरीजों का माता पिता की तरह ख्याल रखें। 

उन्हें किसी भी प्रकार की परेशानी ना हो इसका विशेष ध्यान रखा जाए। सभी मरीजों के लिए चाय पानी, नास्ता व  खाना की व्यवस्था की गई है। ऊर्जा मंत्री श्री तोमर ने मंगलवार को अस्पताल पहुंचकर सभी मरीजो से बारी बारी से मिलकर उनका हाल चाल पूछा व एक बुजुर्ग माताजी के पैर दबाकर उनसे कहा कि आपकी आंखों का नि:शुल्क ऑपरेशन किया जा रहा  है। ऑपरेशन के बाद आपको फिर से वैसे ही दिखने लगोगा जैसे पहले दिखता था। आप मन मे किसी भी प्रकार की कोई शंका न रखे। इसके साथ ही उन्हीने सम्बंधित डॉक्टर्स को निर्देशित किया कि ऑपरेशन में उपयोग होने वाले किसी भी सामान की कमी ना रहे। 

समय रहते सभी व्यवस्थाएं पूर्ण कर ली जाये। प्रतिदिन पंजीयन किया जाकर सभी जांचे कर उनका सफल ऑपरेशन किया जाए। शिविर के द्वतीय दिवस 63 पंजीयन किये गए है, जिनकी सभी जांचे कर ऑपरेशन के लिए कुछ को कल की तथा कुछ को आगे का समय दिया गया। यह शिविर 24 नवम्बर 2022 तक चलेगा। जिसमे मितियाबिंद के नि:शुल्क ऑपरेशन किए जाएंगे।