मंत्री भार्गव पर लगाए गंभीर आरोप...

कांग्रेस नेता ने केरोसिन डालकर की आत्मदाह की कोशिश


सागर। 2018 विधानसभा चुनाव में पीडब्ल्यूडी मंत्री गोपाल भार्गव के खिलाफ चुनाव लड़े कमलेश साहू ने गढ़ाकोटा में केरोसिन डालकर आत्मदाह की कोशिश की है. शनिवार दोपहर कमलेश साहू के निर्माणाधीन मकान पर राजस्व और पुलिस अमला पहुंचा था और निर्माण सामग्री जब्त कर प्रकरण बनाने की बात कही. इसी बात को लेकर कांंग्रेस नेता कमलेश साहू और प्रशासनिक अमले में जमकर विवाद हुआ. कमलेश साहू ने केरोसिन डालकर आग लगाने की कोशिश की. मौके पर मौजूद पुलिस अमले ने आत्मदाह की कोशिश को नाकाम कर दिया. कमलेश साहू का आरोप है कि मंत्री गोपाल भार्गव के इशारे पर तहसीलदार द्वारा गैर कानूनी तरीके से कार्रवाई की जा रही है और प्रताड़ित किया जा रहा है, क्योंकि मौजूदा नगर पालिका चुनाव में कांग्रेस पहली बार सभी 23 वार्डों में प्रत्याशी खड़े करने में कामयाब रही है. इसी बौखलाहट के चलते उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा है।

ये  है मामला: कांग्रेस नेता कमलेश साहू का कहना है कि वह नगर पालिका चुनाव में कांग्रेस के एक वार्ड प्रत्याशी का प्रचार कर रहे थे. उसी दौरान उन्हें सूचना मिली कि गुंजोरा रोड पर उनके परिवार के निर्माणाधीन मकान पर राजस्व और पुलिस का अमला पहुंचा है. राजस्व अमले का कहना है कि आपके द्वारा अवैध तरीके से ईंट भट्टा लगाया गया है और गिट्टी भी अवैध तरीके से एकत्रित की गई है. इस पर प्रकरण बनाया जाएगा. कमलेश साहू ने प्रशासनिक अमले को बताया कि उनके मकान का निर्माण चल रहा है. उसी के लिए ईंट भट्टा लगाया गया है. मिट्टी बुलाई गई है लेकिन राजस्व हमला प्रकरण दर्ज कर निर्माण सामग्री जब्त करने की कार्रवाई करने लगा, जो की पूरी तरह अनुचित थी। 

इसी बात को लेकर मैंने आत्मदाह का प्रयास किया है.मौके पर मौजूद पुलिस ने किया बीच-बचाव: जैसे ही कांग्रेस नेता कमलेश साहू ने अपने ऊपर केरोसिन डालकर आग लगाने की कोशिश की तो मौके पर मौजूद पुलिस बल ने उनसे केरोसिन छीन कर आग लगाने का प्रयास विफल किया.  कमलेश साहू ने मंत्री गोपाल भार्गव पर गंभीर आरोप लगाए हैं. उन्होंने कहा है कि गढ़ाकोटा में अब तक नगर पालिका चुनाव में भाजपा निर्विरोध चुनाव जीती थी, लेकिन इस बार उनके प्रयास के चलते सभी 23 वार्डों में कांग्रेस प्रत्याशी खड़े करने में सफल रही है. इसी बात की बौखलाहट के चलते मंत्री गोपाल भार्गव के खेसारी पर तहसीलदार कुलदीप पाराशर द्वारा गैरकानूनी तरीके से मुझे प्रताड़ित किया जा रहा है।

वहीँ एएसपी ज्योति ठाकुर का कहना है कि इस मामले में अभी तहसीलदार द्वारा कोई रिपोर्ट पेश नहीं की गई है. जो रिपोर्ट पेश की जाएगी, उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी. कमलेश साहू के भाई के मकान पर ईंट भट्टे का निरीक्षण करने पटवारी और राजस्व अधिकारी गए थे. जिस पर कमलेश साहू द्वारा आपत्ति दर्ज कराई गई थी. राजस्व अमले ने जब उन्हें ईंट भट्टे से संबंधित कागजात दिखाने के लिए कहा गया, तो उन्होंने केरोसिन डालकर आत्मदाह का प्रयास किया है. वहां मौजूद पुलिस बल ने उन्हें ऐसा करने से रोका. उसके बाद वह अपने घर चले गए. जैसे ही हमें रिपोर्ट प्राप्त होगी, उसके आधार पर हम कार्रवाई करेंगे।