लालबत्ती लगी गाड़ियां हुई जब्त...

फर्जी एसडीएम के बाद फर्जी जज चढ़ा पुलिस के हत्थे 

इंदौर l मध्य प्रदेश के इंदौर में फर्जी एसडीएम पकड़े जाने के बाद फर्जी जज पुलिस के हत्थे चढ़ा है। फर्जी जज अपनी गाड़ी में लाल बत्ती लगाकर चलता था। जिसे देखकर पुलिस भी इसे सच में अधिकारी समझ बैठती थी। इस मामलें का खुलासा तब हुआ जब नकली जज ने एक व्यक्ति से देवास कोर्ट में चल रहे केस को खत्म करने के नाम पर करीब 2 लाख रुपये से ज्यादा की रकम ली। और उसकी शिकायत पर क्राइम ब्रांच ने कार्रवाई की। 

इंदौर क्राइम ब्रांच को एक व्यक्ति ने शिकायत की थी कि उनका एक मामला कोर्ट में विचाराधीन है। और इस मामलें को निपटाने के लिए राजीव कुमार लाहोटी ने खुद को जज बताकर कोर्ट में चल रहे केस को खत्म करने के लिए 2 लाख 90 हजार रुपए मांगे। जिसके बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर पूरे मामले की जांच की। अपने आप को देवास कोर्ट का जज बताते हुए फरियादी को झूठे विश्वास में लिया और कहा की देवास कोर्ट में कोई केस हो तो उसे मैं खत्म करवा दूंगा। नकली जज ने केस खत्म करने के एवज में फरियादी से 2 लाख 90 हजार रुपये उसने ले लिए। 

बताया जा रहा है कि पैसे लेने के बाद भी न तो उसका कोई काम किया और न उसे पैसे वापिस किए। जिसके बाद क्राइम ब्रांच इंदौर ने आरोपी राजीव कुमार लोहाटी को गिरफ्तार कर उसके पास से दो लालबत्ती न्यायधीश लिखी कर जब्त कर धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया।जानकारी के अनुसार राजीव लाहौटी गुना के चांचौड़ा का रहने वाला है। लेकिन बड़े भाई की मौत हो जाने के बाद वह इंदौर शिफ्ट हो गया था। क्राइम ब्रांच ने उससे जो कार जब्त की है, वह भी गुना पासिंग ही है। पुलिस ने उससे लाल बत्ती लगी दो कार जप्त की हैं।