रुपए डबल करने का झांसा देकर ...

11 लाख ठगने वाले पांच लोगों को पुलिस ने दबोचा  

ग्वालियर। डबल रुपए करने का झांसा देकर ठगी करने वाले गिरोह को क्राइम ब्रांच व मुरार थाना पुलिस ने पकड़ा है। पकड़े गए गिरोह के पांच सदस्यों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। प्रारंभिक पूछताछ में पकड़े गए ठगों से 11 लाख की ठगी का खुलासा हुआ है। पुलिस अफसरों की माने तो पकड़े गए ठगों से कई घटनाओं का खुलासा हो सकता है। एएसपी राजेश डंडोतिया, सीएसपी मुरार ऋषिकेश मीणा ने बताया कि चौरसिया कॉलोनी गुढा निवासी पुष्पेन्द्र राजपूत पुत्र प्रताप सिंह राजपूत ने शिकायत की थी कि उनके साथ पांच युवकों ने नोट डबल करने के नाम पर ठगी की है। शिकायत पर पड़ताल की तो पता चला कि यह गिरोह पिछले कुछ दिन से लोगों को झांसे में लेकर ठगी की वारदातों को अंजाम दे रहा है। इसका पता चलते ही टीआई दामोदर गुप्ता, शैलेन्द्र भार्गव के नेतृत्व में दो टीमेें तैनात कर ठगों की तलाश की तो क्राइम ब्रांच व मुरार थाना पुलिस ने पांच ठगों को दबोच लिया। 

मुरार पुलिस और क्राइम ब्रांच की पकड़ में आए ठगों की पहचान आकाश बघेल निवासी गुढ़ा-गुढ़ी का नाका, कालू  उर्फ जितेन्द्र बघेल, लालू उर्फ नंदकिशेार, धर्मवीर और अभिषेक गुर्जर निवासी बिलौआ के रूप में हुई। पकड़े गए ठगों से पूछताछ के बाद पांच लोगों से 11 लाख रुपए की ठगी का खुलासा हुआ है। पुलिस को सनी प्रजापति ने बताया कि इन ठगों ने उसके साथ दो लाख, व मनीष कुशवाह से दो लाख, अंश सिकरवार से पांच लाख रुपए तथा एक अन्य से ढाई लाख रुपए की ठगी की है। अपने परिचित को झांसे में लेकर मशीन से रुपए डबल करने का झांसा देते थे और फिर कागज की गड्डी पर आगे और पीछे नोट लगाकर मशीन से छापना बताकर रुपए छपने की बात बताते थे और फिर नोट निकाल कर उन कागजों पर ज्यादा कैमिकल डालकर आग लगा देते थे और पीडि़त को आग लगने से नुकशान होने की कह कर ठग लेते थे। 

जैसे ही शिकायत मिली तो आरोपियों की तलाश में एसआई अमित शर्मा, रजनी रघुवंशी, प्रधान आरक्षक अर्चना, आरक्षक प्रमोद शर्मा, प्रदीप यादव, रूपेश शर्मा, जेनेन्द्र गुर्जर, कपिल, आकाश पाण्डेय, शैलेन्द्र, श्याम, राहुल, योगेन्द्र ङ्क्षसह, नीरज यादव, अनिल मावई, राजवीर सिंह गुर्जर, जोतेन्द्र और शिवनारायण को लगाया और चार घंटे में पांचों आरोपियों को दबोच लिया। एसएसपी अमित सांघी ने बताया कि नोट डबल करने के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह के पांच सदस्यों को क्राइम ब्रांच व मुरार थाना पुलिस ने दबोचा है। पकड़े गए ठगों से पूछताछ की जा रही है और उनसे पूछताछ के बाद अन्य वारदातों का खुलासा हो सकता है।