सिंधिया ने राजस्व एवं जलसंसाधन मंत्री के साथ किया बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में  दौरा…

संकट की घड़ी में हम पूरी दृढ़ता से जनता के साथ खड़े हैं : श्री सिंधिया

ग्वालियर। भारत सरकार के नागरिक उड्डयन एवं इस्पात मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपने पूर्व निर्धारित कार्यक्रम निरस्त करके ग्वालियर-चम्बल अंचल में आई बाढ़ से प्रभावित जनता से मिलने के लिए तत्काल कार्यक्रम बनाकर  दौरे पर आ गए। सिंधिया के साथ भिंड ज़िले के प्रभारी मंत्री एवं राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत, जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट, श्योपुर -मुरैना के प्रभारी मंत्री भारत सिंह कुशवाह, नगरीय प्रशासन राज्य मंत्री ओपीएस भदौरिया भी शामिल रहे। सिंधिया ने श्योपुर ज़िले, मुरैना जिले के दिमनी एवं अम्बाह विधानसभा के कई गांव, भिंड ज़िले के अटेर विधानसभा में कई गांव का दौरा करने के साथ ही तीनो ज़िलों के जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ पृथक-पृथक बैठक करके बाढ़ से प्रभवित जनता को तत्काल राहत उपलब्ध कराने एवं भविष्य में इस प्रकार की आपदा से कैसे बचाव किया जाए, इस विषय मे विस्तृत कार्य योजना बनाने के निर्देश दिए। 

सिंधिया ने कहा कि पहली प्राथमिकता हमारी ये होनी चाहिए कि जो पीड़ित परिवार राहत शिविरों में रह रहे हैं, उनके खाने एवं रहने का अच्छा प्रबंध किया जाए, इनके साथ जो मवेशी आये हैं, उनके लिए भी उचित मात्रा में चारा का प्रबंध किया जाए। इसके साथ ही जिला प्रशासन नुकसान हुए फसलों एवं मकान का भी सर्वे कराए, सर्वे करते समय जमीनी अमले को निर्दश दिया जाए कि सर्वे कार्य पूर्ण रूप से मानवीय दृष्टिकोण से किया जाए, थोड़ी उदारता बरती जाए। हमारा लक्ष्य होना चाहिए कि हम पीड़ित के घाव पर न केवल मरहम लगाएं, बल्कि उनके दर्द को भी  दूर करना है। सिंधिया ने कहा कि अब जब बाढ़ का पानी धीरे धीरे उतर रहा है, इसके बाद बीमारियों के फैलने का भी खतरा रहता है, इसके लिए ज़रूरी है कि अभी से ही हेल्थ कैम्प लगाने की व्यवस्था की जाए, ताकि बीमारियों की रोकथाम की जा सके। साफ पीने के लिए पानी के लिए हैंड पंप लगाए जाएं। 

सिंधिया ने चम्बल नदी के किनारे रहने वाले उन ग्रामों को चिन्हित करने के निर्देश दिए जो कि प्रत्येक वर्ष बाद से पीड़ित होते हैं, ऐसे ग्रामों के लोगों को सम्पूर्ण रूप से विस्थापित करने के लिए जमीन का चयन किया जाए, ताकि हमेशा के लिए बाढ़ की समस्या से निजात मिल सके। सिंधिया ने मध्यप्रदेश शासन के मंत्रियों के साथ चर्चा करके लोगों को आश्वत किया कि प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी, केंद्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर जी, हमारे सभी विधायक एवं भाजपा के कार्यकर्ता पूरे मनोयोग से पीड़ित परिवारों की सेवा एवं मंदद के लिए कृतसंकल्पित हैं। मध्यप्रदेश की हमारी जनकल्याणकारी सरकार संकट की घड़ी में पूरी मुस्तेदी एवं दृढ़ता के साथ खड़ी है, हमारा उद्देश्य पीड़ित जन के चेहरे पर पुनः मुस्कान लाना है। सिंधिया ने जिला प्रशासन को ये भी निर्देश प्रदान किया कि सर्वे का कार्य तत्परता से करके पीड़ित लोगों को मुआवजा भी जल्दी से जल्दी प्रदान किया जाए।