चीनी राजदूत की ब्रिटेन को चेतावनी...

अमेरिकी नक्शेकदम पर रेडलाइन क्रॉस न करें :झेंग जेगुआंग


चीनी राजदूत ने एकबार फिर ब्रिटेन को चेतावनी दी है l चीनी राजदूत ने ब्रिटेन से कहा है  कि वह अमेरिकी नक्शेकदम पर ताइवान को लेकर रेड लाइन क्रॉस न करे. अगर उसने ताइवान के मामले में लाइन क्रॉस की तो उसको गंभीर परिणाम भुगतने होंगे. दरअसल, ब्रिटेन की विदेश मंत्री लिज ट्रस ने हाल में ताइवान को लेकर टिप्पणी की थी. ब्रिटेन में प्रधानमंत्री की रेस में आगे चल रहीं लिज ट्रस ने कहा था की चीन क्षेत्र में शांति और स्थिरता के लिए खतरा हैं. इस पर पलटवार करते हुए ब्रिटेन में चीन के राजदूत झेंग जेगुआंग ने ब्रिटेन को मामले में दखल न देने की चेतावनी दे डाली. 

एक अंग्रेजी अखबार में चीनी राजदूत झेंग जुआंग के हवाले से लिखा गया, ''ताइवान का सवाल सिद्धांत का एक प्रमुख मुद्दा है. ब्रिटेन के पास इस तथ्य की अवहेलना करने और अमेरिका के नक्शेकदम पर चलने का कोई कारण नहीं है. ताइवान की रक्षा करने में मदद करने का आह्वान करना बेहद गैर-जिम्मेदार और हानिकारक है.'' झेंग ने आगे कहा  है कि , ''चीन के लोग किसी भी कीमत पर अपनी राष्ट्रीय संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता की मजबूती से रक्षा करेगी.  ताइवान की स्वतंत्रता का मतलब युद्ध है जिससे गतिरोध होगा.'' इससे पहले भी चीनी राजदूत ने ब्रिटेन के नेताओं को ताइवान दौरे की योजना बनाने पर चेतावनी दी थी. ब्रिटेन के कुछ नेता नवंबर-दिसंबर में ताइवान दौरे की योजना बना रहे थे. 

बता दें कि चीन ताइवान पर अपना अधिकार बताता है. चीन कहता है कि ताइवान उसका एक प्रांत है और अगर जरूरत पड़ी तो वह बलपूर्वक उसे ले लेगा. वहीं इस द्वीपीय देश की राष्ट्रपति साई इंग वेन कह चुकी है कि ताइवान एक संप्रभु देश है, जिसकी स्वतंत्रता की घोषणा करने की आवश्यकता नहीं है.जम्मू के सिदरा में एक ही परिवार के 6 लोगों की घर में मौत,