कलेक्टर ने दिए अभियान की सभी तैयारियाँ समय रहते पूर्ण करने के निर्देश…

नागरिकों में देशभक्ति जागृत करने के लिए चलाया जायेगा “हर घर तिरंगा” अभियान : श्री सिंह

ग्वालियर। नागरिकों में देशभक्ति की भावना जागृत करने के उद्देश्य से 11 अगस्त से 17 अगस्त तक “हर घर तिरंगा” अभियान चलाया जायेगा। अभियान के तहत ग्वालियर जिले में 4 लाख झण्डे लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने कहा है कि शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्र में हर घर, हर संस्थान पर राष्ट्रीय ध्वज फहरे इसके लिये रणनीति बनाकर समय सीमा में सभी तैयारियाँ की जाएँ। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने प्रति सोमवार आयोजित होने वाली अंतरविभागीय समन्वय समिति की बैठक मंी संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया है कि निर्धारित समय तक 4 लाख झण्डे तैयार कराने के साथ-साथ उनके वितरण की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाए। 

शहरी क्षेत्र में झण्डों के वितरण के केन्द्र नगर निगम तय कर उसका व्यापक प्रचार-प्रसार करे ताकि आम नागरिकों को आसानी से तिरंगा प्राप्त हो सके। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने यह भी निर्देशित किया है कि हर घर तिरंगा अभियान की जानकारी जनमानस को हो, इसके लिये व्यापक प्रचार-प्रसार करने के साथ ही क्राइसेस मैनेजमेंट, एनजीओ, खेल संस्थाओं, चेम्बर ऑफ कॉमर्स, कैट संस्था के साथ ही धर्म गुरूओं और समाज के सभी वर्गों के साथ बैठकें आयोजित कर सभी को इस पुनीत अभियान से जोड़ा जाए ताकि अभियान के दौरान सभी घरों और संस्थाओं पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया जा सके। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने यह भी निर्देशित किया है कि ग्रामीण क्षेत्र में हर पंचायत स्तर तक झण्डे पहुँचाने और हर घर पर झण्डा फहराने की व्यवस्था जनपद पंचायत के सीईओ और एसडीएम संयुक्त रूप से इस कार्य को अंजाम दें। 

उन्होंने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे शहरी क्षेत्र में साइकिल रैली, स्कूलों में वाद-विवाद प्रतियोगिता, निबंध प्रतियोगिता, रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन भी करें। इसके साथ ही प्रत्येक स्कूल में प्रार्थना सभा के समय शिक्षकगण बच्चों को हर घर तिरंगा अभियान की जानकारी देने के साथ ही झण्डे के महत्व के संबंध में भी उन्हें बताएँ। बच्चों के माध्यम से भी घर – घर तक हर घर तिरंगा अभियान की जानकारी पहुँचाई जाए। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने बैठक में बाढ़ नियंत्रण के संबंध में की गई तैयारियों की भी विस्तार से समीक्षा की। उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्र के साथ-साथ सभी ब्लॉक स्तर पर भी बाढ़ नियंत्रण कक्ष स्थापित कर सुरक्षा दल तैनात किया जाए। 

सभी केन्द्रों पर आवश्यक उपकरण भी उपलब्ध हों, यह भी सुनिश्चित किया जाए। अनुविभागीय अधिकारी अपने-अपने अनुभाग क्षेत्र में बाढ़ नियंत्रण में सभी तैयारियाँ रखें। इसके साथ ही जितने भी तलाशय अथवा नदियाँ हैं उनके जल स्तर पर भी सतत निगरानी रखी जाए। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने पर्यावरण संरक्षण के लिये संचालित अंकुर अभियान की समीक्षा के दौरान कहा कि 28 अगस्त को वृक्षारोपण का महाअभियान शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्र में चलाया जायेगा। अभियान के तहत शहरी क्षेत्र में एक स्थान पर वृहद  वृक्षारोपण का कार्यक्रम आयोजित करने के साथ ही 10 स्थानों पर वृक्षारोपण के कार्यक्रम आयोजित किए जाएँ। 

इसके साथ ही ग्रामीण क्षेत्र में भी न्यूनतम 10 स्थानों पर सामूहिक वृक्षारोपण के कार्यक्रम आयोजित किए जाएं। वृक्षारोपण के इस कार्यक्रम में प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी ऑनलाइन जुड़ेंगे, जिनका उदबोधन शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्र में नागरिक सुनें, ऐसे प्रबंध भी किए जाएं। कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि अंकुर अभियान के तहत वृक्षारोपण के लिये आवश्यक है कि पहले वृक्षारोपण करने वालों का पंजीयन हो और इसके पश्चात वृक्ष रोपित करते हुए फोटो वेबसाइट पर अपलोड भी किया जाए। उन्होंने नगर निगम के अधिकारियों को निर्देशित किया है कि शहरी क्षेत्र में लक्ष्य अनुरूप पंजीयन एवं वृक्षारोपण का कार्य कराया जाए। ग्रामीण क्षेत्र में पंचायत स्तर तक अंकुर अभियान के तहत वृक्षारोपण के कार्य को हाथ में लिया जाए। 

सीएम हैल्पलाइन के प्रकरणों के निराकरण में इस बार ग्वालियर जिले को चौथी रैंक प्राप्त हुई है। विभागीय अधिकारियों द्वारा सीएम हैल्पलाइन के प्रकरणों के निराकरण में अच्छा कार्य किया गया है। उन सभी को बधाई देते हुए कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने कहा कि हैल्पलाइन में जो भी प्रकरण प्राप्त होते हैं उनका निराकरण तत्परता से संतुष्टिपूर्वक अधिकारी करें ताकि जिले की रैंकिंग और अच्छी हो सके। सामाजिक न्याय अधिकारिता मंत्रालय नईदिल्ली द्वारा संचालित नशामुक्त भारत अभियान के तहत कलेक्ट्रेट कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित अंतरविभागीय समन्वय समिति की बैठक में एडीएम इच्छित गढ़पाले ने सभी अधिकारियों को नशामुक्ति की शपथ दिलाई।