मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने मतदान स्थल एवं स्ट्रांग रूम का किया निरीक्षण…

भारत के 16वें राष्ट्रपति के पद हेतु निर्वाचन 18 जुलाई को

भोपाल। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी अनुपम राजन ने आज विधान सभा में राष्ट्रपति पद के निर्वाचन की तैयारियों के संबंध में मतदान स्थल एवं स्ट्रांग रूम का निरीक्षण किया। आगामी 18 जुलाई को भारत के 16वें राष्ट्रपति पद के लिये निर्वाचन होना है। निरीक्षण के दौरान अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी राजेश कौल उपस्थित थे। राष्ट्रपति निर्वाचन के संबंध में मतपेटी, मतपत्र एवं निर्वाचन सामग्री भारत निर्वाचन आयोग द्वारा उपलब्ध करायी जा रही है। निर्वाचन सामग्री प्राप्त करने के लिये मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय, मध्यप्रदेश से प्रमोद शुक्ला, उप मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी एवं बी.डी. सिंह परस्ते, सहायक रिटर्निंग अधिकारी 11 जुलाई को नई दिल्ली के लिए रवाना होंगे। 

13 जुलाई को राष्ट्रपति निर्वाचन में प्रयुक्त होने वाली मतपेटी, मतपत्र, मतदान हेतु विशिष्ट निर्धारित पेन आदि निर्वाचन सामग्री, प्राप्त कर शाम 8:15 बजे इण्डिगो के वायुयान से राजा भोज विमान तल पर आयेंगे। निर्वाचन सामग्री प्रोटोकॉल एवं पूर्ण सुरक्षा में विधान सभा भवन, भोपाल लाई जायेगी। निर्वाचन सामग्री को स्ट्रांग रूम में रखा जायेगा, जहाँ सी.सी.टी.व्ही. कैमरे से सतत् निगरानी की जायेगी। इस प्रक्रिया की वीडियोग्राफी की जाएगी। स्ट्रांग रूम पर सुरक्षा के कडे़ प्रबंध किये गये हैं। राष्ट्रपति चुनाव के लिये मतदान 18 जुलाई को पूर्वान्ह 10 बजे से अपरान्ह 5 बजे तक निर्धारित है। 

मध्यप्रदेश विधान सभा भवन, भोपाल में प्रदेश के सभी विधायक अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। मत अंकित करने के लिये भारत निर्वाचन आयोग द्वारा प्रदत्त निर्धारित विशिष्ट पेन का उपयोग किया जाएगा। मतदान के दौरान विधानसभा परिसर में मीडिया कवरेज हेतु भारत निर्वाचन आयोग द्वारा मीडिया प्रतिनिधियों को प्राधिकार-पत्र जारी किये जा रहे हैं। मतदान के पश्चात् मतपेटी उसी दिन 18 जुलाई को कड़ी सुरक्षा के साथ राज्य सभा सचिवालय नई दिल्ली ले जाकर रिटर्निंग अधिकारी को सौंपी जाएगी। मतपत्रों की गणना 21 जुलाई को नई दिल्ली में की जायेगी।