महाराष्ट्र में 83 और गुजरात में 63 की मौत, MP में भी बिगड़े हालात…

देश के कई राज्यों में बाढ़-बारिश का तांडव !

देश के कई राज्यों में भारी बारिश और बाढ़ से लोगों का बुरा हाल है। गुजरात, महाराष्ट्र, हिमाचल प्रदेश और कर्नाटक में मौसम विभाग ने आज भी भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। महाराष्ट्र का सबसे बुरा हाल है जहां पर अब तक 83 लोगों की मौत हो चुकी है तो वहीं 6 जिलों में मौसम का रेड अलर्ट है। शहर-शहर आफत बरस रही है। नदियां उफान पर हैं। अगले 72 घंटे लोगों पर भारी हैं। तो वहीं गुजरात में अब तक 63 लोगों की मौत हो चुकी है। महाराष्ट्र में 1 जून से लेकर अब तक भारी बारिश के कारण 83 लोगों की मौत हुई हैं जबकि 64 लोग घायल हुए हैं। इन दुर्घटनाओं में बाढ़, भूस्खलन, इमारत गिरने, घर गिरने, समुद्र में डूबने, पानी में डूबने, बिजली गिरने और शॉर्ट सर्किट की घटना शामिल हैं। इस भारी बारिश में अब तक 164 जानवरों की भी मौत हुई है। साथ ही अब तक 5873 लोगों को बचाया जा चुका है यानी उन्हें सुरक्षित जगह भेजा गया है। वलसाड़ समेत 5 जिलों में रेड अलर्ट कर दिया गया है जबकि 8 जिलों में ऑरेंज अलर्ट है। महाराष्ट्र में भी कुदरत का रौद्र रूप देखने को मिल रहा है। तानसा नदी उफनती लहरे हर किसी को डरा रही हैं। भारी बारिश की वजह से पालघर में बहने वाली तामसा नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। जिससे आसपास के इलाकों में खतरा बढ़ गया है। 

महाराष्ट्र : पालघर के जवाहर तालुका के पहाड़ों के बीच से पानी तेजी से नीचे गिर रहा है। उफनती नदियों के साथ झरने भी डराने लगे हैं। महाराष्ट्र के गढचिरौली में बाढ़ के हालात बन गए हैं। वैन गंगा नदी में उफान की वजह से कई गांव पानी में डूब गए हैं। सड़कों पर सैलाब आया हुआ है। सड़क किनारे बनी इमराते पानी में डूब गई हैं। ये इमरात पानी तरह पानी के आगोश में समा गई है। पानी इतना ज्यादा है कि लोगों को आने जाने में मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। महाराष्ट्र के 6 जिलों में रेड अलर्ट जारी किया गया जिनमें पालघर, नासिक, पुणे, रायगड, रत्नागिरी, कोल्हापुर शामिल हैं जबकि ठाणे, सतारा, सिंधुदुर्ग, औरंगाबाद, जालना, चंद्रपुर और गढ़चिरौली में भी तेज बारिश की चेतावनी जारी की गई है। 7 जिलों में ऑरेंज अलर्ट ठाणे, सतारा, सिंधुदुर्ग, औरंगाबाद, जालना, चंद्रपुर, गढ़चिरौली। पिछले 10 दिनों से महाराष्ट्र में बारिश मुसीबत बनी हुई है। ऐसे में रेड अलर्ट वाले जिलों में लोगों की मुसीबत और बढ़ सकती है। 

गुजरात : गुजरात में आसमानी आफत कहर बनकर टूटी है। अगले 4 दिन गुजरात पर बहुत भारी पड़ने वाला है। जल प्रलय के आगे सबकुछ थम सा गया है। जामनगर, कच्छ, मोरबी, नर्मदा, नवासारी, सूरत गुजरात के अलग-अलग जिलों में हालात कमोबेश एक जैसे ही हैं। हर तरफ भारी बारिश की वजह से प्रलय जैसे हालात बन गए हैं। कहीं बाढ़ गांव के गांव डुबो रही है तो कहीं लोग सैलाब के बीच फंस गए हैं। भारी बारिश की वजह से गुजरात के तापी का डोसवाड़ा डैम ओवर फ्लो होने लगा है। डैम ओवर फ्लो होने से पानी का तेज बहाव डराने लगा है। डैम का पानी आसपास के गांवों को डुबोने लगा है जिससे लोगों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। लिहाजा प्रशासन ने आसपास के 12 गांवों के पानी भरने का खतरा मंडरा रहा है। मौसम विभाग ने गुजरात के 5 जिलों में रेड अलर्ट जारी किया है। सूरत, तापी, नवसारी, डांग, वलसाड इसके अलावा गुजरात के 8 जिलों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। गिर सोमनाथ, अमरेली, भावनगर, आणंद, वडोदरा, भरुच, नर्मदा और छोटा उदयपुर में अगले 4 दिन तेज बारिश लोगों की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। गुजरात में भारी बारिश की वजह से लैंडस्लाइड भी होने लगा है। 

डांग जिले में लैंडस्लाइड की वजह से सोमवार को सपुतारा वघाई रोड बंद हो गया। जिससे लोगों को आने जाने में भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। तेज बारिश और बाढ़ के हालात को देखते हुए गुजरात के गई जिलों में NDRF की टीमों को तैनात कर दिया गया है। पुल के ऊपर से पानी का तेज बहाव सबकुछ बहा ले जाने पर आमादा है। ओल नदी में पानी का बहाव इतना तेज है कि लोग पुल पार करने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे हैं। इस बीच एक युवक ने पुल पार करने का जोखिम उठाया तो पुल से बाइक सवार गिर गया जैसे ही बाइक सवार युवक पुल पार करने की कोशिश की वो बाइक के साथ नदी में बहने लगा और लोगों की धड़कने बढ़ गईं। होशंगाबाद के नर्मदापुरम में बाइक के साथ युवक पानी के तेज बहाव में पुल से नीचे गिर गया। कुछ दूर तक युवक पानी के बहाव के साथ बहता रहा। ऐसा लगा युवक का बचना नामुकिन हैं। हालांकि किसी तरह युवक तैर कर सैलाब से बाहर निकल गया और उसकी जान बच गई। 

मध्य प्रदेश : भारी बारिश की वजह से एमपी के रायसेन का बारना डैम ओवर फ्लो करने लगा है जिसके बाद सोमवार को डैम के 6 गेट खोल दिए गए जिससे आसपास के इलाके पानी में डूब गए। सड़कों पर पानी भर गया। लोगों के सामान भी पानी में डूब गए। डैम से पानी छोड़े जाने की वजह से नेशनल हाइवे 145 पर बना पुल पानी में डूब गया है। बारना नदी पर बने पुल के ऊपर से पानी बहने लगा है जिससे यातायात भी प्रभावित हुआ। बारना डैम से सोमवार को  25 हजार क्युसिक पानी छोड़ा गया है। ऐसे में अगर ऐसे ही तेज बारिश हो रही तो डैम से और पानी छोड़ना पड़ेगा। नदी का तेज बहाव है और बीच में एक युवक फंसा खड़ा रहा।

हिमाचल प्रदेश : हिमाचल के कांगड़ा जिले में शाहपुर इलाके में सोमवार को चांबी नदी में तेज बहाव के बीच एक ट्रैक्टर ट्रॉली पलट गयी। पूरा ट्रैक्टर ट्रॉली पानी में डूब गई। ट्रैक्टर का सिर्फ थोड़ा सा हिस्सा नजर आ रहा था। सैलाब के बीच घिरा युवक जान बचाने के लिए ट्रैक्टर के ऊपरी हिस्से पर चढ़कर लोगों से मदद की गुहार लगाने लगा। युवक को बीच नदी में फंसा देख स्थानीय लोग मदद के लिए आगे आए और युवक की जान बचा ली। 

दक्षिण भारत : उत्तर भारत में बारिश कहर बनकर टूट रही है तो वहीं दक्षिण में भी सैलाब सितम ढा रहा है। केरल के इडुक्की में भारी बारिश के बीच दो लोग सैलाब को पार करने की कोशिश करने लगे। ये जिस जगह से पानी के तेज बहाव के बीच आगे बढ़ रहे हैं उसके चंद कदम दूरी पर खाई है। दोनों एक दूसरे के सहारे धीरे-धीरे आगे बढ़ने लगे। एक बार तो पानी के तेज बहाव में इनके कदम लड़खड़ा गए। ऐसा लगा कहीं ये पानी में बह ना जाए। हालांकि दोनों ने एक-दूसरे को संभाला और सैलाब से जंग जीतकर सुरक्षित बाहर निकल गए।