बीजेपी प्रतिनिधिमंडल आयोग से रखी ये मांग…

निकाय और पंचायत चुनाव में नया पेंच, वोटर लिस्ट को लेकर निर्वाचन आयोग पहुंची BJP

भोपाल। मध्य प्रदेश में अधिसूचना जारी होने से पहले ही पंचायत और निकाय चुनाव का बिगुल बज चुका है। चुनाव की अधिसूचना जारी नही हुई है, लेकिन उससे पहले ही अब वोटर लिस्ट को लेकर सियासत शुरू हो गई है। गुरुवार को भोपाल में बीजेपी का एक प्रतिनिधिमंडल राज्य निर्वाचन आयोग पहुंचा, जहां उन्होंने आयुक्त से मुलाकात कर वोटर लिस्ट में गड़बड़ियों की शिकायत की। बीजेपी का आरोप है कि हजारों की संख्या में लोगों के नाम वोटर लिस्ट से काटे गए हैं। 

यह गड़बड़ी पूरे प्रदेश में है। हर विधानसभा में 5 से 6 हजार लोगों के नाम वोटर लिस्ट से काट दिए गए हैं। बीजेपी के प्रतिनिधिमंडल ने इस पूरे मामले की जांच कर कारण बताने और दोबारा नाम जोड़ने की मांग की है। बीजेपी प्रतिनिधिमंडल की यह भी मांग है कि स्थानीय निकायों के मतदान केंद्रों की सूची अविलंब घोषित की जाए और मतदान केंद्रों की घोषणा के साथ ही बीएलओ के नाम भी घोषित किए जाएं। दोनों प्रक्रिया के बाद मतदाता सूचियों का प्रारंभिक प्रकाशन कर बूथ केंद्रों पर प्रदर्शित किया जाए और आपत्तियां बुलाकर अंतिम प्रकाशन हो। 

बता दें मध्य प्रदेश में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद मध्य प्रदेश में निकाय और पंचायत चुनाव का रास्ता साफ हो गया है। राजधानी भोपाल सहित जबलपुर समेत बड़े शहरों में आरक्षण सूची का प्रकाशन किया जा चुका है। संभव हो कि जल्द ही निर्वाचन आयोग अधिसूचना जारी कर दे। इससे पहले बीजेपी के प्रतिनिधि मंडल ने वोटर लिस्ट में गड़बड़ी को लेकर आयोग में शिकायत दर्ज कराई है। अब देखना होगा आयोग इस आपत्ति पर क्या एक्शन लेता है।