महापौर पद अनुसूचित जाति वर्ग की महिला के खाते में जाने के बाद से…

मुरैना नगर निगम के महापौर पद की सीट आरक्षित होने से बढ़ी चुनावी हलचल

मुरैना। नगर निगम के महापौर पद आरक्षण में अनुसूचित जाति वर्ग की महिला के खाते में जाने के बाद से भाजपा, कांग्रेस समेत बसपा के लोगों में हलचल तेज हो गई है। 24 घंटे में तीन दलों के 19 चेहरे चुनाव पटल पर उभरकर सामने आए हैं। इनमें भाजपा से 10 दावेदार,कांग्रेस से 5 व बसपा से 4 महिला अभ्यर्थियों के बायोडाटा मेयर पद के टिकट के लिए तैयार हैं। रविवार की चुनावी हलचल में देखने को मिला कि भारतीय जनता पार्टी में सबसे ज्यादा 10 प्रत्याशी मेयर पद के टिकट की कतार में हैं। इस समय में चर्चा में जो नाम चल रहे हैं उनमें पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष शीला-यशवंत वर्मा, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष गुड्‌डी-राकेश खटीक,भाजपा जिला उपाध्यक्ष भावना जालौन,अजा प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष मुकेश जाटव की पत्नी, दिलीप पिप्पल की पत्नी,सुनील जाटव जौरा रोड की पत्नी भाजपा नेता रामस्वरूप जाटव की पत्नी,पूर्व नपा अध्यक्ष अजीत जाटव की पत्नी,पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष शोभाराम बाल्मीकि की पत्नी, व पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष मुरारीलाल खस की पत्नी टॉप लिस्ट में हैं। 

कहा जा सकता है कि तीन पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष अब मेयर का पद संभालने की तैयारी में हैं। महापौर पद का टिकट पाने के लिए शक्ति प्रदर्शन शुरू हो गए हैं। शनिवार को केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर के मुरैना प्रवास के दौरान भाजपा के चुनावी दावेदारों ने छोटी-छोटी रैलियां कर उनके समक्ष अपनी सक्रियता का प्रदर्शन किया। मेयर के टिकट के लिए दावेदारों की दौड़ भाजपा के संभागीय संगठन मंत्री से लेकर प्रांतीय संगठन मंत्री, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा, केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर समेत केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया तक शुरू हो गई है।नगर निगम मुरैना के महापौर पद का चुनाव लड़ने के लिए कांग्रेस में 5 नेताओं के नाम सामने आए हैं। इनमें कांग्रेस नेता राजेन्द्र सोलंकी की पत्नी, पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष राजेश कथूरिया की पत्नी, कांग्रेस नेता राजेश जाटव की पत्नी,नरोत्तम माहौर की पत्नी समेत विजय सागर की पत्नी के नाम प्रमुखता से चल रहे हैं। 

टिकट के लिए जाटव, खटीक व माहौर बिरादरी की तरफ से खास दावेदारी है। इसमें राजेन्द्र सोलंकी व राजेश कथूरिया के नाम वजन लिए हुए हैं क्योंकि ये दोनों कांग्रेस नेता पहले भी चुनाव लड़ चुके हैं। कांग्रेस के टिकट तय कराने के लिए जिला कांग्रेस कमेटी के प्रस्ताव प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ के पास सीधे जाएंगे।जिनका मेलजोल पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ से सीधा-सीधा नहीं है ऐसे कांग्रेस नेता,महापौर का टिकट पाने के लिए पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के दरबार में हाजिरी देंगे। टिकटों पर ताकत लगाने के लिए कांग्रेस विधायक राकेश मावई की पूछपरख बढ़ गई है। महापौर पद के चुनाव में बसपा भी अपना प्रत्याशी घोषित करेगी। इसके लिए बहुजन समाज पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रमाकांत पिप्पल की पत्नी ममता मौर्य एडवोकेट,बसपा नेता डा.विद्याराम काैशल की पत्नी गीता कौशल,बसपा नेता अमृत लाल टैगोर की पत्नी माला टैगोर समेत बसपा जिला अध्यक्ष दीपेन्द्र बौद्ध की मां मीना बौद्ध के नाम टिकट की क्यू में आ गए हैं।