ज्ञानवीर इंस्टीट्यूट सागर में हुई परीक्षा के संबंध में…

मुझे और मेरे परिवार को बदनाम करने की कोशिश कर रहा विपक्ष : गोविंद सिंह राजपूत

भोपाल। प्रदेश के राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजूपत ने गुरुवार को कहा कि विपक्ष मुझे और मेरे परिवार को बदनाम करने की कोशिश कर रहा है। ज्ञानवीर इंस्टीट्यूट सागर में हुई परीक्षा के संबंध में मीडिया में जो भ्रांतिया फैलाई गई हैं, वह विपक्ष की साजिश का एक हिस्सा है। श्री राजपूत ने कहा कि कांग्रेस से बहुत सारे विधायक और पूर्व मंत्री जिनके भी कालेज हैं, उनके यहां भी परीक्षाओं के सेंटर होंगे। वहां भी परीक्षाए चल रही हैं। उन्हें यह बात भलीभांति पता है कि उस परीक्षा सेंटर में जब किसी संस्थान को भवन और कम्प्यूटर किराए पर दिया जाता है तो उसमें भवन स्वामी का कोई हस्तक्षेप नहीं होता है। श्री राजपूत ने कहा कि मेरे बेटे की ज्ञानवीर इंस्टीट्यूट में संपन्न हुई परीक्षा को लेकर भी भ्रांतियां फैलाई गई हैं। 

मध्यप्रदेश में बहुत सारे कालेज हैं जिसके कम्प्यूटर सेंटर किराए से दिए जाते हैं, जहां परीक्षा संपन्न होती है। हमारे कालेज में भी इसी तरह की बेंगलुरू की एक एजेंसी ने कालेज में कम्प्य़ूटर सेंटर किराए से लिया था, उस पर परीक्षा चल रही है, जो बहुत दिनों तक चलती है। इस परीक्षा का पूरा संचालन वह कंपनी करती है, जिसने इस परिषर को किराए पर लिया होता है। उस कंपनी के लोग ही सर्वर पर बैठते हैं और उन्हीं के लोगों का सुपरविजन परीक्षा के दौरान होता है। पार्दिशिता को दृष्टिगत रखते हुए कालेज के सभी कमरों में सीसीटीवी कैमरे लगा रखे हैं।

 परीक्षा केंद्र के बाहर पुलिस का पहरा होता है, साथ ही दो शसकीय आब्जर्वर भी मौजूद होते हैं। परीक्षा केंद्र पर सुरक्षा व्यवस्था इतनी चाक-चौबंद रहती है कि अगर कोई व्यक्ति परिवार का भी एक सेंकेंड के लिए भी वहां चला जाए तो उसे गेट पर रोक दिया जाता है। इतना ही नहीं, परीक्षा में शामिल होने आया कोई विधार्थी, निर्धारित समय से भी दो मिनट लेट हो जाए तो उसे परीक्षा हाल में प्रवेश नहीं करने दिया जाता। इतनी व्यवस्था के बाद भी मीडिया के जरिए विपक्ष मुझे बदनाम करने की कोशिश कर रहा है जो एक घृणित कृत है। श्री राजपूत ने कहा कि अंतर कलह से जूझ रहा विपक्ष अब इस तरह की घटिया राजनीति में उतर आया है, यह देखकर आश्चर्य हो रहा है।