घट रहे उल्लंघन...

ITMS परियोजना का दिख रहा असर, जागरूक हुए नागरिक

 

ग्वालियर। ग्वालियर स्मार्ट सिटी द्वारा ग्वालियर शहर के यातायात को सुगम व्यवस्थित करने के उद्देश्य से आईटीएमएस प्रणाली को लागू किया गया है। इस परियोजना का असर अब शहर के यातायात में दिखने लगा है। इस परियोजना के अंतर्गत यातायात नियमों का पालन नहीं करने वालों को ई॰ चालान भेजे जाने का भी प्रावधान है। वर्तमान में हेलमेट ना पहनने पर, रेड लाइट पर स्टॉप लाइन पार करने पर तथा निर्धारित  गति से ज़्यादा गति पर वाहन चलाने पर चालानी कार्यवाही की जा रही है।

वाहन चालकों की जागरूकता चालानी कार्यवाही के चलते ग्वालियर शहर में यातायात नियमों का पालन अब बेहतर ढंग से किया जा रहा है। स्मार्ट सिटी सी॰ई॰ओ॰ जयति सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि जुलाई माह से अब तक कुल 54000 चालान बनाए गये हैं जिसमें 23000 चालानों का भुगतान किया जा चुका है। परियोजना के शुरुआती दौर में जहां प्रतिदिन 750-800 चालान बनाए जा रहे थे वहीं अब यह संख्या यातायात नियमों के पालन के चलते घट कर 250-300 तक रह गई है गति सीमा से तेज वाहन चलने वाले वाहनों की संख्या भी 350-400 से घट कर प्रतिदिन 30-40 रह गई है।

ग्वालियर स्मार्ट सिटी तथा यातायात पुलिस  द्वारा  लोगों में जागरूकता के लिये अभियान भी चलाए जा रहे हैं  तथा उसके नतीजन उल्लंघन कम हो रहे हैं। साथ ही उल्लंघन कम होने से होने वाले हादसों में भी गिरावट आई है। श्रीमती सिंह ने बताया कि यातायात के सुगम व्यवस्थित होने में आईटीएमएस परियोजना लाभकारी सिद्ध हुई है तथा शहर का यातायात पहले की अपेक्षा ज़्यादा सुरक्षित हुआ है। शहर के युवाओं में नियमों को लेकर सजगता आई  है तथा वे अपने साथियों को भी हेलमेट लगाने के लिये प्रेरित कर रहे हैं।