श्री कन्याल ने की निर्माण कार्यों की समीक्षा…

शहर के विकास के लिए संकल्पित होकर अच्छे से अच्छा कार्य करें इंजीनियर : निगमायुक्त

 

ग्वालियर। नगर निगम आयुक्त किशोर कन्याल ने सोमवार को नगर निगम द्वारा शहर में किए जा रहे विभिन्न निर्माण कार्यों की समीक्षा की तथा सभी इंजीनियरों को गुणवत्तापूर्ण कार्य करने और समय सीमा में कार्य करने के निर्देश दिए। निगमायुक्त ने कहा कि इंजीनियर अच्छा सोचें और शहर विकास शहर हित के लिए अच्छे से अच्छा कार्य करें। उन्होंने कहा कि इंजीयिर अपनी रचनात्मकता विकास कार्यों में अच्छा करने में दिखाएं। इस समय सभी के लिए एक मौका है, अच्छे कार्य के लिए मैं हमेशा सभी इंजीनियरों के साथ हूं। बैठक में अपर आयुक्त वित देवेन्द्र पालिया, अधीक्षण यंत्री जनकार्य जे.एन. पारा सहित सभी कार्यपालन यंत्री, सहायक यंत्री एवं उपयंत्री एवं संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

बालभवन में आयोजित बैठक में निगमायुक्त ने विभिन्न वार्डों में चल रहे विकास कार्यों को लेकर जानकारी ली तथा जिन सडकों का निर्माण होना हैं उन पर शीघ्र कार्य प्रारंभ करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही ऐसी सभी प्रमुख सडकों को चिन्हित करने के निर्देश दिए जहां डाम्बरीकरण या पेंचरिपेयरिंग का कार्य होना है। निगमायुक्त ने इंजीनियरों से कहा कि आप अपने अपने क्षेत्र में भ्रमण पर निकलते हैं और यदि सडकों पर गडडे दिखें तो शिकायत का इंतजार करें और स्वयं ही उन गडडांे को ठीक कराने की कार्यवाही करें। इसके साथ ही जहां निर्माण कार्य होना हैं, वहां का स्थल निरीक्षण, मिटटी की जांच एवं मटेरियल की जांच आदि कार्य आवश्यक रुप से करें जिससे निर्माण की गुणवत्ता बनी रहे तथा निर्माण के दौरान नियमित रुप से निरीक्षण करें और समय समय पर निर्माण कार्य की भी गुणवत्ता की जांच कराते रहें।

निगमायुक्त ने कहा कि यह शहर हम सभी का है और हमें भी इस शहर में रहना है तो क्यों हम ऐसा कार्य करें कि हमेशा शहरवासी याद रखें कि किस इंजीनियर या किस अधिकारी द्वारा यह कार्य कराया गया था। उन्होंने कहा कि हमेशा नया सोचें और कुछ नया करने का प्रयास करें। निगमायुक्त ने अन्य बिन्दुओं पर भी चर्चा की तथा आवश्क दिशा निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। निगमायुक्त ने नगर निगम द्वारा किए जा रहे विकास कार्यों की समीक्षा के दौरान इंजीनियरों के साथ सभी ठेकेदारों से भी चर्चा की तथा उन्हें समय सीमा में गुणवत्ता पूर्ण करने के निर्देश दिए। बैठक के दौरान ठेकेदारों की समस्याएं सुनकर उनका निराकरण करने का भी आश्वासन दिया।