BJP के प्रदेश अध्यक्ष का गांधी-गोडसे पर अजीब बयान...

गोडसे-आप्टे अवॉर्ड को बताया अभिव्यक्ति की आजादी

 

ग्वालियर एक दिवसीय प्रवास पर आए भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा ने गांधी की पुण्यतिथि पर गोडसे-आप्टे सम्मान पर एक अजीब बयान दिया है। उनका कहना है कि देश में हर किसी को अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता है। पर इसके बाद बचाव करते हुए यह भी कहा कि ऐसे ही किसी को भारत रत्न नहीं दिया जाता। यह तो आप भी जानते हैं। मैं कह दूं कि आप आज से भारत रत्न है तो क्या वो हो जाएंगे। गांधी पर भी वीडी शर्मा बोले हैं। उनका कहना है कि गांधी का नाम का उपयोग करने वालों ने कुछ नहीं किया है, लेकिन भाजपा और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गांधी जी के विचारों को चरितार्थ किया है। स्वच्छ भारत, आत्म निर्भर भारत इसके ही उदाहरण हैं। 

हाल ही में सिंधिया और केपी यादव विवाद पर भी प्रदेशाध्यक्ष बोलने से बचते हुए नजर आए। उनका कहना था कि यह बहुत मामूली बात है। भाजपा बड़ा संगठन​​ है। मेरी केपी से बात हुई है। मामला सुलझा लिया जाएगा। रविवार को भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा एक दिन के प्रवास पर ग्वालियर आए हैं। ग्वालियर में आने के साथ ही उन्होंने सबसे पहले बूथ विस्तारक केन्द्र पहुंचकर यहां कार्यकर्ताओं से बातचीत की। यहां अभी तक किए गए काम से वह काफी संतुष्ट नजर आए। पर इसके बाद भी उन्होंने बूथ विस्तारक का काम 5 फरवरी तक बढ़ा दिया है। 

वैसे रविवार को ही अभियान समाप्त होना था। वीडी शर्मा का कहना है कि बूथों का डिजिटलाइजेशन जरूरी है और तकनीकी रूप से कुछ काम अभी बाकी है। इसलिए समय बढ़ा दिया है। इसके बाद उन्होंने मीडिया से भी बात की और सवालों के जवाब दिए।वीडी शर्मा ने कहा कि रोड पर खड़े हुए व्यक्ति को कोई भी भारत रत्न के नाम से कुछ भी दे तो क्या उसे भारत रत्न मिल जाएगा। फिर भी हिंदू महासभा पर कार्रवाई न होने की बात को वह टाल गए और उनका कहना था कि देश में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता है। उन्होंने यह भी कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार हमेशा गांधी के विचारों पर चलने वाली पार्टी है। 

कुछ लोग गांधी नाम का फायदा उठाते हैं लेकिन देश के प्रधानमंत्री और भाजपा उनके विचारों और सपनों को साकार करने में लगे हुए हैं। हाल ही में गुना-शिवपुरी सांसद केपी यादव के सिंधिया समर्थकों द्वारा उनकी अनदेखी करना और भेदभाव पूर्ण व्यवहार के साथ ही प्रोटोकॉल का पालन न करने के आरोप लगाते हुए लेटर राष्ट्रीय अध्यक्ष भाजपा को लिखा था। इसके बाद काफी बवाल भी मचा। इस पर वीडी शर्मा का कहना था कि भाजपा बड़ा संगठन है और यह बात बहुत मामूली है। केपी से उनकी बात हुई है और मामला सॉल्व कर लिया जाएगा।