सरकार की उच्च प्राथमिकता वाली योजनाओं की समीक्षा…

उच्च प्राथमिकता वाली योजनाओं में लापरवाही बर्दाष्त नहीं : निगमायुक्त

ग्वालियर। सीएम हेल्प लाइन, पीएम स्वनिधी योजना एवं पेंशन सरकार की उच्च प्राथमिकता वाली योजनायें हैं। इन योजनाओं में लापरवाही कतई बर्दाश्त नही होगी, समय सीमा में सभी का निराकरण करना सुनिश्चित करें। उक्ताशय के निर्देश नगर निगम आयुक्त किशोर कन्याल ने आज सीएम हेल्प लाइन, पीएम स्वनिधी योजना एवं पेंशन, स्वच्छता की समीक्षा को लेकर आयोजित बैठक में संबंधित अधिकारियों को दिये। निगम मुख्यालय में आयोजित सीएम हेल्प लाइन की समीक्षा बैठक में अपर आयुक्त अतेन्द्र गुर्जर, उपायुक्त डॉ. प्रदीप श्रीवास्तव सहित अन्य सभी संबंधित अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे। 

बैठक में उपायुक्त एंव नोडल अधिकारी सीएम हेल्प लाइन डॉ. प्रदीप श्रीवास्तव ने बताया कि सीएम हेल्प लाइन में नवबंर माह की 1800 शिकायतें लंबित हैं, जिसको लेकर निगमायुक्त ने विभागवार अधिकारियों से लंबित शिकायतों का कारण पूछा तथा आगामी एक सप्ताह में सभी शिकायतों के निराकरण करने के निर्देश दिये। निगमायुक्त ने निर्देशित करते हुए कहा कि नवबंर माह की सभी शिकायतों का निराकरण एक सप्ताह में पूर्ण कर लिया जाये। 

इसके अगले सप्ताह से प्रतिदिन आने वाली सीएम हेल्प लाइन की शिकायतों का निराकरण उसी दिन किया जाएगा।  निगमायुक्त ने नोडल अधिकारी सीएम हेल्प लाइन प्रदीप श्रीवास्तव को निर्देशित करते हुए कहा कि जो अधिकारी सीएम हेल्प लाइन में आने वाली शिकायतांे का निराकरण संतुष्टिपूर्ण नहीं कर रहे हैं, या परफोरमेंस सही नहीं दे रहे हैं तो उनको बदलने की कार्यवाही का प्रस्ताव तैयार किया जाए। वहीं पीएम स्वनिधि योजना की समीक्षा के दौरान निगमायुक्त ने बताया कि 20 हजार वाले ऋण में हमारी रैंक प्रथम है। 

परंतु 10 हजार वाले ऋण में हम काफी पीछे है। इसलिए संबंधित अधिकारी बैंको से समनव्य बनाकर कार्य करें जिससे ज्यादा से ज्यादा ऋण स्वीकृत होकर हितग्राही के बैंक खाते में ऋण की राशि जा सके। इसके साथ ही पेंशन के भौतिक सप्यापन को लेकर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि पेंशन के भौतिक सप्यापन का कार्य तेजी से किया जाए जिससे पात्र हितग्राही शासन की योजना से वंचित न रहे। अगर आवशयकता पडे तो घर-घर जाकर सत्यापन का कार्य किया जाए।