कलेक्टर ने विभागीय अधिकारियों की बैठक लेकर दिए निर्देश…

कोविड की तीसरी लहर को देखते हुए सभी तैयारियां युद्ध स्तर पर की जाएँ : श्री सिंह

ग्वालियर। कोविड-19 की तीसरी लहर की संभावनाओं को देखते हुए कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने आम जनों से अपील की है कि वे सावधानीपूर्वक रहें। घर से बाहर निकलते समय मास्क का उपयोग अनिवार्यत: करें। सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखें। जिन लोगों ने भी कोविड-19 से बचाव के लिये टीकाकरण नहीं कराया है, वह टीकाकरण अवश्य करा लें। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने मंगलवार की शाम कलेक्ट्रेट कार्यालय के सभाकक्ष में कोविड-19 के संबंध में बैठक लेकर यह बात कही है। उन्होंने कहा है कि हम सबको कोविड-19 की तीसरी संभावित लहर को देखते हुए सभी प्रबंधन के कार्य युद्ध स्तर पर प्रारंभ करना होंगे। 

कलेक्टर ने यह भी निर्देश दिए हैं कि प्रथम व द्वितीय लहर में जिस प्रकार अधिकारियों ने अपने दायित्वों का निर्वहन किया था, वे सभी अधिकारी तैयार रहें। इंसीडेंट कमाण्डर, प्रभारी अधिकारी, सहायक इंसीडेंट कमाण्डर के नियुक्ति आदेश शीघ्र प्रसारित किए जायेंगे। इसके साथ ही कंट्रोल कमाण्ड सेंटर भी पूर्व की भाँति अपना कार्य प्रारंभ करेगा। वीडियो कॉलिंग के माध्यम से भी स्वास्थ्य सलाह देने का कार्य प्रारंभ किया जाएगा। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने जिले के समस्त शासकीय, अर्द्धशासकीय और निजी संस्थाओं को भी कहा है कि वे अपने यहाँ कार्यरत समस्त स्टाफ को मास्क पहनना अनिवार्य करें। 

इसके साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने यह भी कहा है कि सभी कार्यालय प्रमुख यह भी सुनिश्चित करें कि उनके यहाँ कार्यरत समस्त स्टाफ को कोरोना के दोनों टीके लग गए हैं। प्रशासन द्वारा गठित दल आकस्मिक रूप से निरीक्षण करेगा। निरीक्षण के दौरान अगर कोई भी कर्मचारी टीकाकरण से वंचित पाया गया तो संबंधित कार्यालय के विरूद्ध दण्डात्मक कार्रवाई की जायेगी। कलेक्टर ने यह भी कहा है कि शादी समारोह या अन्य समारोह में भी मास्क अनिवार्य करने के साथ-साथ सोशल डिस्टेंसिंग का पालन अवश्य होना चाहिए। 

शहर में बिना मास्क के घूमने वालों के विरूद्ध चालान की कार्रवाई की जायेगी। इसके साथ ही बिना मास्क के घूमते पाए जाने पर खुली जेल में भी भेजा जायेगा। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देशित किया है कि वह नर्सिंग कॉलेज, प्राइवेट अस्पताल तथा शासकीय अस्पतालों में साढ़े 6 हजार ऑक्सीजन युक्त बैड की व्यवस्था सुनिश्चित करें। इसके साथ ही ऑक्सीजन, आवश्यक दवाओं की व्यवस्था भी समय रहते पूरी कर लें। कलेक्टर ने यह भी कहा है कि स्कूल, कॉलेज भी 50 प्रतिशत क्षमता के साथ संचालित हों और वहाँ पर भी सोशल डिस्टेंसिंग तथा मास्क अनिवार्य किया जाए। 

इसके साथ ही एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन और बस स्टेण्ड पर बाहर से आने वाले सभी लोगों की जाँच हो, यह भी सुनिश्चित किया जाए। बैठक में एडीएम इच्छित गढ़पाले को भी कहा गया कि प्रशासन की ओर से जो भी प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किए जाना है वह तत्परता से किए जाएं। बैठक में सीईओ जिला पंचायत आशीष तिवारी, एडीएम इच्छित गढ़पाले, एडीएम एच.बी. शर्मा, अपर आयुक्त नगर निगम अतेन्द्र सिंह गुर्जर, मुख्य चिकितसा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मनीष शर्मा सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे। 

कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने शहरवासियों से अपील की है कि बुधवार एक दिसम्बर को जिले में संचालित टीकाकरण के महाअभियान में जो लोग भी टीकाकरण से शेष रह गए हैं वे अपने निकटतम टीकाकरण केन्द्र पर पहुँचकर टीका अवश्य लगवाएँ। टीकाकरण ही कोविड-19 से बचाव का सबसे सशक्त माध्यम है। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने जिले के सभी जनप्रतिनिधियों, सामाजिक संस्थाओं, गणमान्य नागरिकों, मीडिया से जुड़े साथियों और क्राइसेस मैनेजमेंट समिति के सभी सदस्यों से भी अपील की है कि वे लोगों को प्रेरित कर टीकाकरण केन्द्र पर भेजें। शतप्रतिशत टीकाकरण के लक्ष्य को जितनी जल्द प्राप्त किया जाएगा, उतना ही कोविड के खतरे से हम उबर पायेंगे।