ग्वालियर स्मार्ट सिटी की बोर्ड मीटिंग में हुई विकास कार्यों की समीक्षा…

अंतर्राज्यीय बस टर्मिनल, बायोडायवर्सिटी पार्क जैसी परियोजनाओ से मिलेगा शहर को स्मार्ट स्वरुप : श्रीमती सिंह

ग्वालियर। ग्वालियर स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कोरपोरेशन लिमिटेड की आज गुरुवार को बोर्ड मीटिंग कमांड कंट्रोल सेंटर में सम्पन्न हुई। बैठक में ग्वालियर स्मार्ट सिटी के अन्तर्गत किये जा रहे विकास कार्यों की बिन्दुवार समीक्षा संचालक मंडल द्वारा की गई। बैठक में सीईओ स्मार्ट सिटी जयति सिंह, बोर्ड मीटिंग में निदेशक मंडल के निदेशक प्रशान्त मेहता सहित अन्य सम्बंधित अधिकारी उपस्थित रहे। वही कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह, निगमायुक्त किशोर कान्याल सहीत अन्य सदस्यो ने विडीओ कॉनफ़्रेंसिंग के माध्यम से अपनी भागीदारी दी। बैठक की शुरुआत में स्मार्ट सिटी द्वारा कराये जा रहे विकास कार्यो की प्रगति की विस्तृत जानकारी से निदेशक मंडल को अवगत कराया गया। 

बैठक में सीईओ स्मार्ट सिटी श्रीमती सिंह ने अंतर्राज्यीय बस टर्मिनल को बनाये जाने को लेकर विस्तृत जानकारी बोर्ड से साझा की। श्रीमती सिंह नें जानकारी देते हुये बताया कि स्मार्ट सिटी मिशन के ट्रांजिट ओरियंटेड डेवलपमेंट के अंतर्गत यह एक महत्वपूर्ण परियोजना है जिसका लाभ शहरवासियो को मिलेगा।  आइएसबीटी का स्वरुप हेरिटेज थीम पर आधारित होगा तथा इसका निर्माण ग्रीन बिल्डिंग काँन्सेप्ट के तहत किया जायेगा। उर्जा बचत, जल संरक्षण, प्राकृतिक प्रकाश जैसे ग्रीन घटक इसके निर्माण में अहम भूमिका निभायेगे। इस परियोजना की निविदा प्रक्रिया पूर्ण की जा चुकी है। बैठक में इस परियोजना की आगामी कार्ययोजना हेतु सर्वसम्मति से बोर्ड द्वारा स्वीकृति प्रदान की गई। 

जिसके बाद अब यह परियोजना जल्द ही शुरू हो सकेगी। बैठक में बोर्ड के समक्ष ग्वालियर स्मार्ट सिटी द्वारा बायोडायवर्सिटी पार्क डेवलपमेंट परियोजना के बारे में विस्तार से चर्चा की गई। इस परियोजना को निदेशक मंडल द्वारा आज आयोजित बैठक में सैद्धान्तिक स्वीकृति प्रदान की गई। कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह द्वारा शहरवासियों के लिए महत्वपूर्ण आईएसबीटी परियोजना को आगामी कार्ययोजना बनाकर क्रियान्वित करने के लिए निर्देशित किया गया। साथ ही श्री सिंह ने बायोडायवर्सिटी पार्क की प्रारंभिक रिपोर्ट पर संतुष्टि जाहिर करते हुए विस्तृत प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार करने के लिए भी निर्देशित किया। श्रीमती सिंह नें स्मार्ट सिटी द्वारा शहर में किये जा रहे विकास कार्यो की भी सिलसिलेवार जानकारी बोर्ड के समक्ष साझा की।  

बोर्ड अधिकारियों ने ऐसे प्रोजेक्ट को प्राथमिक रूप से पूर्ण कराये जाने के निर्देश दिये जो शहर के विकास में अपनी अहम भूमिका रखते हैं। बोर्ड के सदस्यो नें निर्देशित किया की स्मार्ट सिटी द्वारा जो भी विकास कार्य शहर में करवाये जा रहे है और जो कार्य अंतिम चरण में है उन्हे शीघ्र अति शीघ्र गुणवत्ता के साथ समय सारणी तैयार कर पूर्ण कराये जाने को निर्देशित किया, ताकि शहर की जनता को इन कार्यो का लाभ मिल सके। बैठक के अंत में फ़साड़ लाइटिंग और हेरिटेज संरक्षण सहीत अनेक ऐसे कार्यों की भी प्रशंसा की गई जो ग्वालियर स्मार्ट सिटी द्वारा किये जा रहे हैं।