कल्याणकारी योजनाओं का लाभ देना सुनिश्चित करें…

सबसे गरीब को योजनाओं का लाभ सबसे पहले दिलाएं : राज्यपाल

शहडोल/अनूपपुर। प्रदेश के राज्यपाल मंगु भाई पटेल ने कहा है कि शासन द्वारा संचालित कल्याणकारी योजनाओं का लाभ सबसे पहले जो सबसे ज्यादा गरीब है, उन्हें मिलना चाहिए। उन्होंने कहा है कि कल्याणकारी योजनाओं की शुरुआत सबसे ज्यादा गरीब लोगों से होनी चाहिए। राज्यपाल ने कहा है कि समाज के ऐसे लोग जो निरक्षर अनपढ़ हैं, जिन्हें योजनाओं की जानकारी नहीं है, ऐसे लोगों को योजनाओं का लाभ दिलाना सभी अधिकारी अपनी जिम्मेदारी समझे तथा कल्याणकारी योजनाओं का लाभ देना सुनिश्चित करें। प्रदेश के राज्यपाल मंगूभाई पटेल आज अमरकंटक में आयोजित बैठक में अधिकारियों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि हर अधिकारी हर दिन अच्छा काम करें तथा अन्य लोगों को भी अच्छा काम करने के लिए प्रेरित करें। राज्यपाल ने कहा कि हर अधिकारी के मन में गरीबों की मदद करने की संवेदना और सेवाभाव होनी चाहिए। 

उन्होंने कहा कि कोरोना काल में मध्य प्रदेश के चिकित्सकों और अन्य अधिकारियों ने सेवाभाव और समर्पित होकर कार्य किया और कई चिकित्सकों, अधिकारी एवं कर्मचारियों ने लोगों की सेवा करते हुए अपना जीवन बलिदान कर दिया। राज्यपाल ने अनूपपुर जिले में कोरोना की स्थिति की जानकारी लेते हुए कहा कि जिन अधिकारियों कर्मचारियों की मृत्यु कोरोना से हुई है, उनके परिजनों को कोरोना योद्धा कार्यक्रम एवं अनुकंपा नियुक्ति योजना का लाभ प्राथमिकता के साथ दिलवाना सुनिश्चित करें। बैठक में राज्यपाल ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस से बचाव के लिए बहुत अच्छा कार्य सब ने मिलकर किया इस बात का मुझे गर्व है। उन्होंने कहा कि सिकलसेल जैसी भयावह बीमारी के बचाव के लिए भी जनजातीय क्षेत्रों में प्रयास होने चाहिए। राज्यपाल ने कहा कि सिकल सेल की बीमारी के प्रति लोगों को जागरूक करने की आवश्यकता है, इसके लिए ग्रामीण क्षेत्रों में निरंतर प्रयास होना चाहिए। राज्यपाल ने अनूपपुर जिले में सिकल सेल से बचाव के लिए किए जा रहे प्रयासों के संबंध में अधिकारियों से जानकारी ली। 

जिस पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि अनूपपुर जिले में भाग 77 हजार लोगों का सिकल सेल की बीमारी का सर्वे हुआ है, जिसमें लगभग 13 हजार लोग सिकलसेल पॉजिटिव पाए गए हैं तथा 1200 मरीज हैं। मरीजों का निरंतर उपचार किया जा रहा है तथा सिकलसेल बीमारी का सर्वेक्षण भी निरंतर चल रहा है। सिकल सेल से पीड़ित लोगों को नि:शुल्क दवाइयां मुहैया कराई जा रही है तथा उन्हें खून बदलने की भी सुविधा मुहैया कराई जा रही है। बैठक में राज्यपाल द्वारा सिकलसेल की बीमारी से बचाव के लिए देश के विशेषज्ञ चिकित्सकों से मार्गदर्शन लेने एवं उनकी सेवाएं लेने के भी निर्देश दिए, वहीं सिकलसेल बीमारी के लोगों में जागरूकता पैदा करने के लिए कॉन्फ्रेंस एवं कार्यशाला भी आयोजित करने की भी बात कही। बैठक में कलेक्टर अनूपपुर सोनिया मीणा ने बताया कि जिले में कोरोना से बचाव के लिए 4 लाख 90 हजार से अधिक व्यक्तियों का प्रथम चरण का टीका लगाया जा चुका है। 

उन्होंने बताया कि अनूपपुर जिले में तेजी से टीकाकरण किया जा रहा है। द्वितीय चरण के टीकाकरण का कार्य भी प्रगति पर है। बैठक में कलेक्टर ने अनूपपुर जिले में ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने की प्रगति की जानकारी से भी राज्यपाल को अवगत कराया। बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि शहडोल संभाग में कमिश्नर शहडोल संभाग राजीव शर्मा की पहल पर संवेदना अभियान चलाया जा रहा है। कुपोषण की स्थिति से निपटने के लिए चलाए जा रहे इस अभियान के तहत स्वास्थ्य सेवाओं और महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा संचालित सेवाओं को बेहतर से बेहतर बनाने के प्रयास किए जा रहे हैं। बैठक में कमिश्नर शहडोल संभाग राजीव शर्मा, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक शहडोल जोन दिनेश चंद्र सागर, कलेक्टर अनूपपुर सोनिया मीना, पुलिस अधीक्षक अखिल पटेल, अपर कलेक्टर सरोधन सिंह उपस्थित रहे।