स्मार्ट ग्वालियर की स्मार्ट सिटी की ये कैसी व्यवस्था है...

 डिवाइडर से लोग हैं परेशान। वार्ड 33 के लोगों का रास्ता हुआ बंद!

 


निगम ने शिंदे की छावनी से लेकर रामदास घाटी तक पूरे डिवाइडर में एक भी कट ना देकर डिवाइडर से पूरे वार्ड 33 को बंद कर दिया है। और डिवाइडर को बनाने के पीछे दलील दी है कि यह डिवाइडर जाम से मुक्ति दिलाने के लिए बनाया गया है लेकिन डिवाइडर बन जाने के बाद भी जाम तो लग रहा है और इसका कारण है डिवाइडर में के बीच में कहीं भी  कट ना दिया जाना। घटना होने के कारण लोग खलासी पुरा, डूंगरपुर और लक्ष्मण तलैया पहुंचने के लिए या यहां से पालिका बाजार जाने के लिए रॉन्ग साइड का उपयोग करने के लिए मजबूर हैं यही कारण है कि जाम से मुक्ति नहीं मिल रही है। और लोगों का रॉन्ग साइड चलना उनकी मजबूरी भी है। इस वास्तविकता को प्रशासन समझे। डिवाइडर में चार पहिया वाहनों के लिए नहीं, तो कम से कम दो पहिया वाहन चालकों के लिए लगभग आधा किलोमीटर से भी अधिक के इस डिवाइडर में कम से कम एक कट तो दे ही सकते हैं।

इतना लंबा डिवाइडर तो हाईवे पर भी नहीं होता है। उसमें भी आबादी और लोगों की जरूरत के अनुसार डिवाइडर के बीच काट दिया जाता है। इसका उदाहरण देखना है तो बारादरी से लेकर लेकर 7 नंबर चौराहे तक की रोड को देख सकते हैं। जब वहां इस प्रकार की व्यवस्था है तो फिर इस डिवाइडर में क्यों नहीं ? इस डिवाइडर से खलासी पुरा, डोंगर पुरा और लक्ष्मण तलैया तीनों ही क्षेत्रों का रास्ता लगभग बंद हो गया है। यहां से आने जाने वाले दो पिया वाहन चालकों को अच्छा खासा चक्कर लगाना पड़ रहा है। या फिर डिवाइडर के कारण लोगों को रॉन्ग साइड चलने पर भी विवश हैं।

कारण है यदि वार्ड 33(खलासी पुरा, डूंगरपुर और लक्ष्मण तलैया) के किसी वाहन चालक को यदि को फालका बाजार की तरफ जाना है तो उसे या तो शिंदे की छावनी के गोलंबर का चक्कर लगाना पड़ेगा और छप्पर वाला पुल होते हुए फालका बाजार पहुंचेगा, या फिर रॉन्ग साइड होते हुए रामदास घाटी के कट से होकर फालका बाजार पहुंचेगा। इसी प्रकार यदि किसी वाहन चालक को खलासी पुरा डोंगर पुरा या लक्ष्मण तलैया के लिए जाना है तो उसे रामदास घाटी तक रॉन्ग साइड होकर जाना पड़ेगा और फिर वहां के कट से आकर ही वह यहां तक पहुंच सकता है, या फिर शिंदे की छावनी वाले कट से रॉन्ग साइड होकर अपने घर तक पहुंच सकता है।

इसलिए प्रशासन और शासन के जनप्रतिनिधि लोगों की  इस वास्तविक परिस्थिति परेशानी को समझते हुए कृपया करके इस डिवाइडर में एक दो पहिया वाहन चालकों के लिए छोटा कट तो दिया ही जा सकता है। और यह सिर्फ और सिर्फ विधानसभा के जनप्रतिनिधि माननीय मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर के आदेश पर ही संभव हो सकता है। इसलिए लोगों की परेशानी को ध्यान में रखते हुए डिवाइडर में कट दिलवाने की पहल करें।