प्रशासनिक अधिकारियों की रिपोर्ट के बाद डिप्टी रेंजर निलंबित…

वन विभाग की टीम ने जलाई आदिवासियों की झोपड़ी

सागर। जिले के देवरी विकासखंड के चरगुंवा गांव में वन विभाग की टीम द्वारा आदिवासियों की झोपड़ी जलाने का मामला सामने आया है। ये मामला तब सामने आया, जब आदिवासियों ने कांग्रेस विधायक हर्ष यादव से जाकर शिकायत दर्ज कराई। इस मामले में विधायक ने प्रशासनिक अधिकारियों से बात की, जिसके बाद प्रशासनिक अधिकारियों का अमला चिरगुंवा गांव पहुंचा और मौके पर जाकर जांच पड़ताल की। प्रशासनिक अधिकारियों की रिपोर्ट के बाद डिप्टी रेंजर को निलंबित कर दिया गया है। 

बताया जा रहा है कि आदिवासियों और डिप्टी रेंजर के बीच विवाद हुआ था। इस बात को लेकर आदिवासियों की झुग्गी जला दी गई आदिवासियों की घर गृहस्थी का सामान जलकर खाक हो गया है। दरअसल, शुक्रवार शाम को जिले के देवरी विकासखंड के चरगवां गांव के आदिवासी स्थानीय कांग्रेस विधायक हर्ष यादव के पास पहुंचे थे। यहां उन्होंने शिकायत दर्ज कराई थी कि डिप्टी रेंजर निभान सिंह ने आदिवासियों की झोपड़ियां जला दी हैं। इसमें उनका घर गृहस्थी का सामान जलकर खाक हो गया है। इस मामले में कांग्रेस विधायक हर्ष यादव ने तत्काल एसडीएम अमन मिश्रा से बातचीत की थी, और आदिवासियों की समस्या से अवगत कराया था। घटना की गंभीरता देखते हुए एसडीएम अमन मिश्रा और एसडीओपी पूजा शर्मा देर रात चिरगुंवा गांव पहुंचे, और घटना की जांच की थी। 

आदिवासियों ने एसडीएम अमन मिश्रा को बताया कि कुछ आदिवासियों ने नई झोपड़ियां बनाई थी, जिसको लेकर डिप्टी रेंजर निभान सिंह से विवाद हो गया था। इसी बात से नाराज निभान सिंह ने सभी आदिवासियों की झोपड़ियां जला दी। जिसमें उनका जीवन यापन का सभी सामान नष्ट हो गया है। एसडीएम अमन मिश्रा और एसडीओ की पूजा शर्मा ने मामले की जांच कर जिला प्रशासन को घटना की रिपोर्ट सौंपी थी। घटना की रिपोर्ट के बाद दक्षिण वन मंडल अधिकारी द्वारा डिप्टी रेंजर निभान सिंह को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।