गृहमंत्री नर्रोत्तम मिश्रा करेंगे उद्घाटन…

दस दिवसीय अंतराष्ट्रीय ''सायबर क्राइम इन्वेस्टीगेशन एवं इंटेलीजेंस समिट" आज से

भोपाल। मध्यप्रदेश पुलिस की डीजीपी रिसर्च एंड पॉलिसी सेल द्वारा सॉफ्ट क्लिक्स, क्लियरट्रेल टेक्नोलॉजी (नॉलेज पार्टनर) एवं यूनिसेफ के संयुक्त तत्वाधान में मध्यप्रदेश पुलिस अकादमी भौंरी में अंतराष्ट्रीय स्तर की दस दिवसीय ''सायबर क्राइम इंवेस्टीगेशन एवं इंटेलीजेंस समिट'' 21 सितंबर से एक अक्टूबर तक आयोजित होगी। सीआईआईएस-2021 में भारत के 25 से अधिक राज्यों की कानून प्रवर्तन एजेंसियों सहित मध्यप्रदेश पुलिस के पुलिस अधिकारी भाग लेंगे। सेमीनार में प्रशिक्षण देने के लिए अंतर्राष्ट्रीय स्तर के विषय विशेषज्ञ भी आ रहे हैं। इनमें यूरोपियन राष्ट्रों व संयुक्त राज्य अमेरिका में सायबर क्राइम पर प्रशिक्षण दे चुके विशेषज्ञ भी शामिल है। 

सेमीनार का उद्घाटन 21 सितंबर को प्रात: गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा  करेंगे। समापन एक अक्टूबर महामहिम राज्यपाल महोदय द्वारा किया जाएगा। इस सेमीनार में ऑनलाइन गेमिंग और गेम्बलिंग, किप्टोकरेंसी और क्रिप्टो-ट्रेड अपराधों जैसे महत्वपूर्ण विषयों के साथ वित्तीय धोखाधडी, एन्क्रिप्टेड व्हीओआईपी संचार पर अपराध को हल करने, ड्रोन तकनीक इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IoT), आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस (AI), मशीन लर्निंग (ML) और अन्य विषयों पर मंथन होगा। मध्यप्रदेश पुलिस की पहल पर क्लियर टेल टेक्नोलॉजी लिमिटेड नॉलेज पार्टनर एवं यूनिसेफ द्वारा एसोसिएट पार्टनर के रूप में इस सेमीनार में सहयोग दिया जा रहा है। 

सेमीनार में साइबर कानून विशेषज्ञ, वरिष्ठ कानून प्रवर्तन अधिकारी, अंतर्राष्ट्रीय विषय प्रशिक्षक और नीति विशेषज्ञ शामिल रहेंगे जो साइबर अपराधों और संबंधित धोखाधड़ी से निपटने में अपने ज्ञान और अनुभव के लिये विश्व स्तर पर प्रसिद्ध है। उद्घाटन सत्र के प्रथम दिन सर्वोच्च न्यायालय के सायबर लॉ एडवोकेट डॉ. पवन दुग्गल, वोयजर इंफोसेक के सीईओ जितेन जैन और वर्जिनिया यूनिवर्सिटी के डायरेक्टर प्रो माधव मराठे द्वारा व्याख्यान दिए जाएंगे। इसके अलावा, महिलाओं और बच्चों के सायबर अपराध से बचाव संबंधी विषयों पर विशिष्ट पैनल द्वारा जिसमें विशेष रूप से यूनिसेफ के वरिष्ठ प्रतिनिधियों द्वारा प्रतिभागियों से पेनल विमर्श किया जाएगा।