राज्य सरकार देशद्रोहियों के खिलाफ उठाये सख्त कदम…

चल-अचल संपत्ति जप्त कर, भारतीय नागरिकता हो समाप्त !

मोहर्रम के पर्व पर उज्जैन में देश विरोधी नारे लगाये जाने का वीडियो वायरल हुआ। इस घटना को लेकर राज्य सरकार के मुखिया ने सख्त चेतावनी देते हुए संबंधित लोगों के खिलाफ जांच कर कड़ी से कड़ी कार्यवाही करने के निर्देश प्रशासनिक अधिकारियों को दिये हैं। जिनके खिलाफ प्रकरण दर्ज कर कार्यवाही की जा रही हैं और घटना के साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं। प्रदेश की धार्मिक नगरी उज्जैन में ही अक्सर साम्प्रदायिक ताकते अमन, शांति भंग करने पर आमादा रहती हैं। पूर्व में भी धार्मिक जुलूस पर पथराव की घटना हुईं थीं। 

आये दिन लव जिहाद के मामले भी अखबारों की सुर्खियों में रहते है। जब भी धार्मिक त्यौहार आते हैं तो उज्जैन में भय का वातावरण, एवं तनाव की स्थिति निर्मित होने लगती हैं और जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन, खुफिया तंत्र सारे फैल हो जाते हैं। इन सब घटनाओं को लेकर राज्य सरकार को ठोस कदम उठाने चाहिए। अन्यथा आने वाले समय में साम्प्रदायिक ताकते के हौसले औऱ भी बुलन्द हो जायेगे। जिस प्रकार राज्य सरकार ने नाबालिग के साथ दुष्कर्म की घटनाओं को लेकर सख्त कदम उठाते हुए फ़ास्ट ट्रेक न्यायालय का गठन कर दोषियों के खिलाफ फांसी की सजा का प्रावधान किया गया। ठीक इसी प्रकार देश विरोधी ताकतों के खिलाफ भी सरकार को कठोर निर्णय लेना होगा। 

देशद्रोही के खिलाफ उसकी समस्त चल-अचल संपत्ति कुर्क कर उसकी भारतीय नागरिकता को समाप्त कर देना चाहिए! देशद्रोही के खिलाफ कठोर कानूनी कार्यवाही होना चाहिए अन्यथा ऐसी घटनाएं निरन्तर बढ़ती जा रही हैं और आये दिन साम्प्रदायिक ताकते अपनी हरकतों से बाज नहीं आते हैं। प्रशासन द्वारा अनुमति नहीं देने के बाद भी धार्मिक जुलूस निकाल दिए जाते हैं और देश विरोधी नारेबाजी की जाती हैं जो लोग ऐसी हरकते कर रहे हैं उन्हें इस देश में रहने का कोई अधिकार नहीं होना चाहिए।