चचेरे भाई को भी उतारा मौत के घाट…

जमीन के विवाद को लेकर भतीजे ने चाचा पर चलाई गोली

मुरैना। जिले में सिविल लाइन थाना क्षेत्र के बिडवा क्वारी गांव में जमीन के विवाद को लेकर बाप-बेटे की गोली मारकर हत्या कर दी गई, बताया जा रहा है कि गोली चलाने वाला आरोपी मृतक का सगा भतीजा है, जिसने इस वारदात को अंजाम दिया है। पुलिस के मुताबिक क्वारी गांव में राजमन और उनके तीन बेटों पर उसके ही भतीजे ने गोली चला दी, जिससे पिता-पुत्र की मौत हो गई, जबकी मृतक के दो बेटे बुरी तरह घायल हो गए, जिन्हें इलाज के लिए ग्वालियर रेफर किया गया है. वहीं वारदात के दौरान आरोपी ने घर में रखे नकद और जेवर की भी लूट की, हालांकि पुलिस ने लूट की वारदात की पुष्टि नहीं की है। वारदात के तुरंत बाद पुलिस बल मौके पर पहुंची और मामले की जांच शुरू की, इस दौरान गांव में भारी पुलिस बल को भी तैनात कर दिया गया था, पुलिस का कहना है कि आरोपियों की तलाश की जा रही है, इस मामले में 9 नामजद सहित अज्ञात लोगों पर हत्या का मामला दर्ज किया गया है। 

बिडवा क्वारी गांव में सुबह करीब 5 बजे गोलियों की आवाज से पूरे गांव में दहशत फैल गई, जब गांव के राममन गुर्जर और उनके परिवार के लोग सो रहे थे, तभी पड़ोस में ही रहने वाले भतीजे गिर्राज लक्ष्मण, धुर्व और उनके परिवार के ही कुछ अन्य साथी हथियारों से लैस होकर पुरानी रंजिश को लेकर चाचा राममन के घर में घुस आये और ताबड़तौड़ गोलियां चला दी.जिसमें घर में सो रहे राममन गुर्जर और उनके लड़के राधे, विष्णु और रामहरि गंभीर घायल हो गए. सभी घायलों को इलाज के लिए जिला अस्पताल भी लाया गया, जहां पर चारों की गंभीर हालत को देखते हुए डॉक्टरों ने उन्हें ग्वालियर के लिए रैफर कर दिया। 

पीड़ित परिवार का कहना है कि हत्या के साथ-साथ आरोपियों ने घर में लूट की वारदात को भी अंजाम दिया, सोने-चांदी के जेवरात, 10 लाख रूपये नकदी, और लायसेंसी बंदूक भी लूट कर ले गये, घटना के कुछ ही देर बाद वह लोग मौके से फरार हो गए, वहीं एएसपी रायसिंह नरवरिया का कहना है कि कुछ साल पहले आरोपी पक्ष के लोगों के साथ मारपीट की गई थी, उसके बाद से ही दोनों परिवारों में काफी दुश्मनी थी, पुरानी दुश्मनी का बदला लेने के लिये ही इस वारदात को अंजाम दिया गया है। सिविल लाइन थाना पुलिस ने इस मामले में पीड़ित परिवार की शिकायत के बाद आरोपी गिर्राज, लक्ष्मण, धुर्व, जयराम, रामनिवास, सत्ते,रामदीन, रघुराज,जगदीश सहित कई अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है, साथ ही सभी आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है। 

आपको बता दें कि बिड़वा क्वारी गांव निवासी रामलखन गुर्जर और राममन गुर्जर आपस मे सगे भाई थे, पिछले 10 माह पहले किसी बात को लेकर दोनों के बीच झगड़ा हो गया था, इस झगड़े में रामवन और उसके लड़कों ने रामलखन की मारपीट कर दी थी. जिसमें वो घायल हो गया था, इलाज के दौरान कोरोना काल मे रामलखन गुर्जर की मौत हो गई. पिता की मौत के बाद उनके बेटे चाचा रामवन उसके लड़कों से दुश्मनी रखने लगे। आज शनिवार को सुबह करीब 5 बजे रामलखन के बेटे अपने रिश्तेदारों के साथ लाठी-फरसे और हथियारों से लैश होकर राममन के घर पर आ गए. उन्होंने आते ही पहले गालियां दी, इसके बाद राइफलों से फायरिंग शुरू कर दी, फायरिंग के दौरान गोली लगने से राममन और उनके बेटे राधे की मौत हो गई, जबकि दो भाई विष्णु और रामहरि गुर्जर घायल है, घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पुलिस पहुंच गई और आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है. गांव मे अभी तनावपूर्ण स्थित है, जिसको लेकर पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया है।