बड़े आयोजन पूर्णतः रहेंगे प्रतिबंधित…

शादी-विवाह के पूर्व एसडीएम या तहसीलदार से लेनी होगी अनुमति : श्री कार्तिकेयन

मुरैना। जिले में लगातार बढ रहे कोरोना के मरीजों को दृष्टिगत रखते हुये जिला आपदा प्रबंधन समूह की बैठक संपन्न हुई। बैठक में मध्यप्रदेश शासन के लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी के अतिरिक्त मुख्य सचिव एवं प्रभारी सचिव जिला मुरैना मलय श्रीवास्तव, चंबल कमिश्नर आशीष सक्सेना, आईजी चंबल रेंज मनोज शर्मा, कलेक्टर बी.कार्तिकेयन, पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार पाण्डेय, मुरैना विधायक राकेश मावई, जौरा विधायक सूबेदार सिंह रजौधा, पूर्व मंत्री रूस्तम सिंह, गिर्राज डण्डोतिया, पूर्व महापौर अशोक अर्गल, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत रोशन कुमार सिंह, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रायसिंह नरवरिया, नगर निगम कमिश्नर अमरसत्य गुप्ता, शिवमंगल सिंह तोमर नागेन्द्र तिवारी सहित विभिन्न मान्यता प्राप्त दलों के सदस्य सहित क्रायसिस मैनेजमेंट कमेटी के पदाधिकारी, जिले के समस्त एसडीएम, कोरोना से जुडे संबंधित अधिकारी और सीएमएचओ, सिविल सर्जन, बीएमओ अन्य स्वास्थ्य से जुडे अधिकारी उपस्थित थे। 

क्रायसिस मैनेजमेंट की कमेटी के निर्णयानुसार मुरैना जिले में कोरोना की गति को रोकने के लिये महत्वपूर्ण निर्णय लिये गये हैं। ये सभी निर्णय आज रात्रि 12 बजे से लागू हो जायेंगे। बैठक में निर्णय लिया गया कि जिले में आने वाले समय में शादी विवाह के कार्यक्रम, नवरात्रि, रमजान, दंगल के कार्यक्रम होने वाले हैं इसलिये इन सभी आयोजन में समिति ने निर्णय लिया है कि जिले में दंगल पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगा। नवारात्रि में भीड भाड़ वाले आयोजन पूर्णतः प्रतिबंधित रहेंगे। 

बाहर से आने वाले लोगों की कोविड जंाच तथा उन्हें होम क्वारेंटाइन 14 दिन रखने के लिये सुझाव दिये गये हैं। बैठक में निर्णय लिया कि जिले के अंतर्गत होने वाले भंडारे, तेरहवीं जैसे आयोजन पर प्रतिबंधित रहेगा। शादी विवाह होने पर संबंधित एसडीएम या संबंधित तहसीलदार से लिखित में अनुमति लेनी होगी और शादी में 100 लोगों से अधिक की अनुमति नहीं होगी जिस व्यक्ति के यहां शादी है उसे प्रशासन को भी सूचना देनी होगी। कमेटी ने निर्णय लिया है कि शादी में खरीददारी (हाट) में मात्र 5 लोग ही खरीददारी के लिये एलाउ रहेंगे इससे ज्यादा बाजार में हाट करने नहीं जायेंगे।