स्मार्ट सिटी के कंट्रोल एवं कमांड सेंटर में आयोजित हुई बैठक में…

कोरोना से निपटने में सहयोग हेतु शहर की संस्थाएँ व प्रबुद्धजन आगे आएँ : श्री तोमर 

ग्वालियर। कोरोना संकट से निपटने में सरकार का सहयोग करने के लिए सामाजिक व स्वयंसेवी संस्थाएँ और शहर के प्रबुद्ध नागरिक आगे आयें । कोरोना संक्रमित मरीजों को जिस अस्पताल में बैड खाली है वहाँ भर्ती कराकर,उनकी भ्रांतियाँ  दूर कर और हौसला बढ़ाकर हम कोरोना के खिलाफ चल रही लड़ाई में बड़ा योगदान दे सकते हैं।  यह बात ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह ने सामाजिक एवं स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों की बैठक में कही । रविवार को  यहाँ स्मार्ट सिटी के कंट्रोल एवं कमांड सेंटर में आयोजित हुई बैठक में ऊर्जा मंत्री श्री तोमर ने कहा कि इस समय सबसे बड़ी जरूरत इस बात की है कि लोगों तक कोरोना के इलाज के लिए शहर की स्वास्थ्य संस्थाओं में उपलब्ध सुविधाओं व बैड इत्यादि की सही –सही जानकारी  पहुँचे । उन्होनें कहा कि हर मरीज को ऑक्सीजन व आई सी यू  बैड की जरूरत नहीं होती । इसी तरह हर मरीज को रेमडेसीवर इंजेक्शन लगाने की जरूरत भी नहीं होती । फिर भी शहर के शासकीय अस्पतालों के साथ साथ निजी स्वास्थ्य संस्थाओं में बेहतर अस्पताल प्रबंधन  के जरिये सरकार के निर्देश पर जिला प्रशासन ने पर्याप्त संख्या में ऑक्सीजनयुक्त व आई सी यू बैड का इंतजाम कराया है । 

अब हम सब की जिम्मेदारी है कि सुपर स्पेशिलिटी अस्पताल का उपयोग  गंभीर मरीजों के उपचार में हो । श्री तोमर ने कहा  कि स्वयंसेवी संस्थाओं को हर रोज ऑक्सीजन युक्त व आई सीयू बैड सहित अस्पतालों एवं कोविड केयर सेंटर की जानकारी उपलब्ध कराई जायेगी । वे अब अपने सामाजिक दायित्व का निर्वहन कर लोगों को सही अस्पताल में पहुँचाने में मदद करे । ऊर्जा मंत्री श्री तोमर ने कहा कि होम आइसोलेशन में स्वास्थ्य लाभ ले रहे मरीजों तक नियमित रूप से दवाईयाँ पहुचाई जा रही हैं साथ ही वीडियो कॉलिंग के जरिये चिकित्सकीय सलाह भी दी जा रही है । उन्होनें बैठक में मौजूद समाजसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों को भरोसा दिलाया कि वे जो कमियाँ बतायेगें उन्हें हम दूर करेगें मगर आप सब कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सकारात्मक सहयोग दे । बैठक में श्री तोमर की पहल पर विभिन्न संस्थाएं कोविड केयर सेंटर खोलने के लिए अपना परिसर देने के लिए आगे आईं है इनमें अचलेश्वर ट्रस्ट सहित अन्य संस्थाएँ शामिल हैं । 

बैठक में सेवा भारती, शिक्षा भारती,रोटरी क्लब, भारत विकास परिषद, फ्रैंड ट्रियाबल सोसायटी, साईं बाबा मंदिर न्यास, महावीर भवन न्यास, रार्ष्टीय स्वयंसेवक संघ, गायत्री परिवार, अचलेश्वर ट्रस्ट,गुरूद्वारा प्रबंध समिति, फूड फोर नीडी ग्रुप, केयर एंड अवेयर, आदर फाउन्डेशन इत्यादि संस्थाओं के प्रतिनिधिगण मौजूद थे । साथ ही संयुक्त संचालक सामाजिक न्याय एवं अस्पताल प्रबंधन के नोडल अधिकारी राजीव सिंह भी बैठक में मौजूद थे । ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्नसिंह तोमर ने बैठक के बाद स्मार्ट सिटी के कंट्रोल कमांड सेंटर में पहुँचकर मरीजों की समस्याओं के समाधान के लिए की जा रही कार्रवाई की वस्तुस्थिति जानी । उन्होनें कुछ मरीजों से भी फोन लगाकर बात की साथ ही कमांड सेंटर में तैनात अमले को निर्देश दिये कि जिस मरीज का फोन आए उसकी समस्या अवश्य नोट करें साथ ही चिकित्सक व अधिकारियों के जरिए उनकी समस्या का समाधान कराएँ । श्री तोमर ने कहा कि कंट्रोल कमांड सेंटर से मरीजों की समस्या के समाधान की वे हर रोज समीक्षा करेगें ।