पहले चरण में 500 बिस्तर लगाए…

5 दिन में 2000 मरीजों के लिए बनकर तैयार हुआ अस्थायी कोविड सेंटर

जहां शहर के अस्पतालों में मरीजो को भर्ती करने के लिए बिस्तर नहीं थे लेकिन 5 दिन में 2 हजार मरीजों के लिए बनने वाला अस्थाई कोविड केयर सेंटर बन कर तैयार है। पहले चरण में 500 बेड लगा दिए गए हैं। 4 अलग अलग चरणों में बनने वाला यह सेंटर शनिवार को बनकर कुछ इस तरह से दिख रहा है कि इसे देख कर शायद हर कोई व्यक्ति राहत की सांस लेगा । रविवार को इस विशाल चिकित्सा परिसर के शुरू होने की संभावना है। परिसर में ऐसे कोरोना संक्रमितों को रखा जाएगा जो होम आइसोलेशन में हैं और जिनके पास घर में जगह या सुविधाएं नहीं हैं।

प्रशासन ने राधास्वामी सत्संग ब्यास को भी कोविड केयर सेंटर बनाने का काम मंगलवार से काम शुरू किया था। शनिवार को लगभग 500 से तकरीबन 2000 बिस्तर को लगाकर उसकी व्यव्य्स्था देखी गई । आईडीए सीईओ विवेक श्रोत्रिय को जिम्मा सौंपा है। सीईओ ने बताया कि देश के किसी भी शहर में एक ही स्थान पर इतने मरीजों को व्यवस्थाएं देने की यह सबसे बड़ी पहल होगी। यहां की मेडिकल संबंधी व्यवस्थाओं के लिए विशेषज्ञों की टीम तैनात रहेगी। 

उधर धार में बनाए गए दत्तात्रेय कॉलेज कोविड केयर सेंटर में भी 100 मरीजों को ठहरने की व्यवस्था पूरी हो गई है। कलेक्टर ने बताया कि परिसर में बिना लक्षण वाले संक्रमितों को रखा जाएगा। उनके भोजन आदि का इंतजाम भी वहीं किया जा रहा है। परिसर में एक स्वस्थ वातावरण बनाने के लिए मरीजों के लिए हर दिन सांस्कृतिक कार्यक्रम भी रखे जाएंगे ताकि वे तनावमुक्त रहें। यदि किसी मरीज को जरूरत पड़ी तो उनको वहीं पर रेमडेसिविर इंजेक्शन भी लगाया जा सकेगा, ऐसा इंतजाम भी किया जाएगा।