उच्च शिक्षा मंत्री को ज्ञापन सौपा…

जनभागीदारी कर्मचारी संघ ने की उच्च शिक्षा मंत्री से मुलाक़ात

भोपाल। जनभागीदारी कर्मचारी संघ के प्रदेश मीडिया प्रभारी हितेश गुरगेला ने जानकारी देते हुवे बताया कि सोमवार को डॉ. मोहन यादव उच्च शिक्षा मंत्री के बंगले पर शासकीय महाविद्यालयीन उच्च शिक्षा जनभागीदारी कर्मचारी संघ के कार्यकारी प्रांताध्यक्ष मनीष दुबे ने भोपाल जिले के जनभागीदारी कर्मचारियों के साथ मुलाकात कर ज्ञापन सौपा जिसमे उच्च शिक्षा मंत्री को ज्ञापन सौपते हुए बताया गया आपके प्रयासों से दिनांक 9/03/2021 को आयुक्त, उच्च शिक्षा द्वारा जारी मध्यप्रदेश शासन की स्थायी कर्मी योजना के एकजाई दिशा-निर्देशों जारी किए गए हैं किंतु आयुक्त कार्यालय द्वारा जारी पत्र में जनभागीदारी/स्ववित्तीय/स्वशासी मद का उल्लेख नहीं किया। 

जिससे प्रदेश भर के शासकीय महाविद्यालयो के हजारों तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी मध्यप्रदेश शासन की कल्याणकारी योजना से वंचित रह गए। तथा उच्च शिक्षा मंत्री को तत्कालीन अपर संचालक (प्रशासन), उच्च शिक्षा जगदीशचंद्र जटिया जी का वह पत्र भी दिखाया जिससे कर्मचारी मध्यप्रदेश सरकार की स्थायी कर्मी योजन से वंचित रह गए। जिस पर उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि जगदीश चंद्र जटिया जी का पत्र में हटवा देता हूँ आप अभी निश्चिंत रहे मेरे होते हुए किसी भी जनभागीदारी कर्मचारी को हटाया नहीं जाएगा और न ही आउटसोर्सिंग के माध्यम से किसी भी महाविद्यालय में कर्मचारियों की नियुक्ति होगी मैं जल्द ही जनभागीदारी कर्मचारियों को बेहतर वेतन भुगतान के लिए नीति तैयार करा रहा हूँ। 

आप सभी थोड़ा संयम रखें मैं जल्द ही आदेश जारी करा दूँगा। अंत मे कार्यकारी अध्यक्ष मनीष दुबे ने उच्च शिक्षा मंत्री को यह भी बताया कि आपने जो पूर्व में हमारे लिए पत्र लिखें थे उन पत्रों पर आयुक्त कार्यालय के अधिकारियों ने गंभीरता से नहीं लिया और आज तक उन पत्रों पर कोई कार्यवाही भी नहीं हुई जिस पर उच्च शिक्षा मंत्री ने पत्रों को लेकर कहा कि मैं इनको दिखवाता हूँ।तत्पश्चात कार्यकारी अध्यक्ष मनीष दुबे सहित भोपाल जिले के कर्मचारियों ने उच्च शिक्षा मंत्री को धन्यवाद ज्ञापित किया। इस मोके पर जनभागीदारी कर्मचारी संघ के पदाधिकारी उपस्तिथ रहे।