निराकरण न करने पर अधिकारियों को नोटिस जारी...

जनसुनवाई में ही उपस्थित रहें HOD : श्री कार्तिकेयन 

मुरैना। पिछली जनसुनवाई 19 जनवरी को कलेक्टर बी. कार्तिकेयन की अध्यक्षता में आयोजित की गई थी, जिसमें कलेक्टर द्वारा 19 ऐसे आवेदन चयनित किये गये थे, जिन्हें अधिकारियों को 24 घंटे के अंदर निराकरण कर अगली जनसुनवाई में निराकरण होकर कलेक्टर के समक्ष बताना था। जिसमें एमपीईबी विभाग और कृषि विभाग के अधिकारी ऐसे आवेदनों का निराकरण समय पर निराकरण नहीं करा सके। 

इस पर कलेक्टर श्री कार्तिकेयन ने विद्युत मंडल के कार्यपालन यंत्री पी.के. शर्मा और कृषि विभाग के उपसंचालक पी.सी. पटेल को कारण बताओ नोटिस तथा दो दिन का वेतन काटने के निर्देश दिये। इस दौरान मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत रोशन कुमार सिंह, अपर कलेक्टर उमेशप्रकाश शुक्ला, संयुक्त कलेक्टर, एसडीएम सहित समस्त जिलाधिकारी उपस्थित थे। कलेक्टर श्री कार्तिकेयन ने समस्त जिलाधिकारियों को निर्देश दिये है कि जनसुनवाई में कार्यालय प्रमुख ही उपस्थित रहेंगे। 

जनसुनवाई में अधीनस्थ कर्मचारी आये तो संबंधित विभाग के अधिकारी के विरूद्ध कार्रवाही की जायेगी। उन्होंने कहा कि किसी भी विभाग का आवेदन प्राप्त होने पर निराकरण जिलाधिकारी को करना होता है, मौके पर जिलाधिकारी उपस्थित न होने पर प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी योजना जनसुनवाई से लोग समय पर लाभ नहीं पा सकते है। इसलिये समस्त जिलाधिकारी जनसुनवाई में कलेक्टर के साथ प्राथमिकता से उपस्थित रहेंगे।