विकास कार्यों की समीक्षा बैठक में दिए निर्देश...

विकास कार्यों में रूचि न लेने वाली एजेन्सियों से वसूली करें : श्री कान्याल

ग्वालियर। जिन कार्य एजेन्सियों द्वारा सरकारी धनराशि लेने के बाबजूद निर्माण कार्य पूरे नहीं कराए जा रहे हैं, उनसे वसूली की कार्रवाई की जाए। साथ ही किसी दूसरी एजेन्सी से इन कामों को पूरा कराएँ। इस आशय के निर्देश जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी किशोर कान्याल ने विकास कार्यों की समीक्षा बैठक में दिए। उन्होंने निर्देश दिए कि जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी, सहायक यंत्री व उपयंत्री अपने प्रभार के गाँवों की ग्राम पंचायतों में नियमित रूप से भ्रमण करें और शेष कामों को वित्तीय वर्ष की समाप्ति से पहले पूर्ण कराएँ। 

जिला पंचायत के सभागार में आयोजित हुई बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री कान्याल ने महात्मा गाँधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा), स्वच्छ भारत मिशन, राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन, जल जीवन मिशन के तहत चल रहे कार्यों की विस्तार से समीक्षा की। साथ ही सीएम हैल्पलाइन में प्राप्त आवेदनों के निराकरण पर भी विशेष बल दिया। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि लेबर बजट के अनुसार जरूरतमंद लोगों को रोजगार मुहैया कराने के लिये पर्याप्त संख्या में काम खोले जाएँ। साथ ही इसका गाँव में प्रचार-प्रसार भी करें, जिससे जरूरतमंद इन कामों के जरिए रोजगार प्राप्त कर सकें। 

राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन एवं मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता योजना की 15 दिन में लक्ष्यपूर्ति करने के निर्देश भी मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने बैठक में दिए। साथ ही स्वच्छ भारत मिशन के तहत निर्माणाधीन सामुदायिक स्वच्छता परिसरों का काम भी जल्द से जल्द पूरा करने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि कार्य के प्रति जिन मैदानी अधिकारियों की उदासीनता सामने आयेगी, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। बैठक में जिला पंचायत के अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ. विजय दुबे सहित जिला पंचायत के अन्य परियोजना अधिकारी, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा एवं जनपद पंचायत के अधिकारी मौजूद थे।