दिव्यांग, वृद्ध एवं अशक्त यात्रियों हेतु...

रेल मंत्री श्री गोयल ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से किया लिफ्टों का लोकार्पण

ग्वालियर। ग्वालियर रेलवे स्टेशन पर नवस्थापित 03 यात्री लिफ्ट का हुआ लोकार्पण। रेलवे स्टेशन पर नव स्थापित की गई लिफ्टों से स्टेशन आने वाले दिव्यांग, वृद्ध एवं अशक्त यात्रियों सहित अन्य यात्रियों को परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ेगा। दिनांक 21.02.2021 को ग्वालियर में आयोजित कार्यक्रम में माननीय रेल, वाणिज्य एवं उद्योग, उपभोक्ता मामलों एवं खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री, भारत सरकार पीयूष गोयल द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से तीन लिफ्टों का लोकार्पण किया गया। इस अवसर पर ग्वालियर स्टेशन पर सांसद विवेक नारायण शेजवलकर द्वारा फीता काटकर ग्वालियर स्टेशन पर यात्रियों हेतु लिफ्ट को रेलवे विभाग की सुपुर्दगी में सौंपा गया। 

सांसद राज्य सभा ज्योतिरादित्य सिंधिया ऑनलाइन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (webex) के माध्यम से कार्यक्रम में उपस्थित रहे। उत्तर मध्य एवं उत्तर पूर्व रेलवे के महाप्रबंधक विनय त्रिपाठी भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग द्वारा  समारोह में मौजूद रहे। कार्यक्रम के दौरान अपने संबोधन में मंडल रेल प्रबंधक ने ग्वालियर क्षेत्र से जुड़ी परियोजनाओं के बारे में जानकारी दी। इसके साथ ही सांसद श्री शेजवलकर को उनके सहयोग के लिए धन्यवाद दिया। सांसद विवेक नारायण शेजवलकर  ने रेलवे द्वारा उपलब्ध कराई जा रही सुविधाओं को सराहा। ज्ञात हो कि, ग्वालियर नगर की विकास गाथा में भारतीय रेल का महत्वपूर्ण योगदान है| ग्वालियर में रेल का आगमन सन 1881 में  हुआ था जब यह शहर आगरा से सीधी लाइन से जुड़ गया था। 

तदोपरांत सन 1889 में इंडियन मिडलैंड रेलवे द्वारा इसको झांसी से जोड़ा गया | लगभग 140 वर्षों के इतिहास में भारतीय रेल ने इस शहर को संपूर्ण राष्ट्र और बड़े शहरों के माध्यम से संपूर्ण विश्व से जोड़ने के कार्य किया है| इस स्टेशन का विकास और इसको अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त बनाकर अपने सम्मानित यात्रियों सुखद यात्रा अनुभव प्रदान करने के लिए भारतीय रेल सदैव तत्पर है। इसी क्रम मे ग्वालियर स्टेशन पर रु 92 लाख की लागत से लगाई गई लिफ्ट रेलवे द्वारा यात्रियों को सुविधा उपलब्ध कराने के प्रयासों की कड़ी में एक महत्वपूर्ण कदम है |  प्लेटफार्म सं 1, 2/3 एवं 4 पर तीन लिफ्टों की स्थापना से स्टेशन आने वाले दिव्यांग, वृद्ध एवं अशक्त यात्रियों सहित अन्य यात्रियों को बहुत सहूलियत होगी| 

इन लिफ्टों की स्थापना रुपए 92 लाख की लागत से की गई है और प्रत्येक लिफ्ट की  क्षमता 15 व्यक्ति/1020 किलोग्राम है| इसके अतिरिक्त ग्वालियर स्टेशन को अत्याधुनिक बनाने के प्रयासों तहत भारतीय रेलवे स्टेशन विकास निगम के माध्यम से इस स्टेशन के पुनर्विकास के कार्य को किया जा रहा है| इस कार्य के तहत, ग्वालियर रेलवे स्टेशन को यात्रियों के लिए एक बेहतर यात्रा अनुभव प्रदान करने के लिए एक विश्व स्तरीय परिवहन केंद्र के रूप में विकसित किया जाएगा। पुनर्विकास से पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा साथ ही रोजगार सृजन के साथ ही और स्थानीय अर्थव्यवस्था पर इसका सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। इस अवसर पर मंडल रेल प्रबंधक के साथ अपर मंडल रेल प्रबंधक(परिचालन) दिनेश वर्मा सहित जेड आर यू सी सी, डी आर यू सी सी सदस्य इत्यादि उपस्थित रहे।