अनुपस्थित कर्मचारियों का वेतन काटने के निर्देश...

स्वास्थ्य सेवाओं में लापरवाही पाए जाने पर होगी सख्त कार्रवाई : कलेक्टर

ग्वालियर। स्वास्थ्य सेवाओं के क्रियान्वयन में लापरवाही बरतने तथा अपने कर्तव्य से बिना अनुमति के अनुपस्थित रहने पर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र चीनौर के समस्त स्टाफ का दो-दो दिन का वेतन काटने के निर्देश कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने जारी किए हैं। बुधवार को कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने अचानक डबरा, भितरवार एवं चीनौर अस्पताल का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान अव्यवस्था पाए जाने पर संबंधित अधिकारियों को तत्काल कार्रवाई करने के निर्देश भी दिए। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने बुधवार को अचानक डबरा पहुँचकर डबरा अस्पताल का निरीक्षण किया। उनके साथ अपर कलेक्टर रिंकेश वैश्य भी थे। कलेक्टर ने डबरा अस्पताल में साफ-सफाई व्यवस्था पर नाराजगी व्यक्त करते हुए अस्पताल को स्वच्छ रखने हेतु विशेष प्रयास करने के निर्देश दिए। 

उन्होंने अनुविभागीय अधिकारी राजस्व डबरा प्रदीप शर्मा को अस्पताल के स्टॉक रजिस्टर की भी जाँच करने के निर्देश दिए। कलेक्टर श्री सिंह ने डबरा अस्पताल के सभी चिकित्सकों को अस्पताल में आने वाले मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधायें प्रदान करने के साथ-साथ मरीजों के साथ आने वाले परिजनों के साथ भी सौहार्द्रपूर्ण व्यवहार करने के निर्देश दिए। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने अस्पताल निरीक्षण के उपरांत एसडीएम कार्यालय का भी निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने डबरा में एंटी माफिया अभियान के तहत की जा रही कार्रवाई की समीक्षा की और निर्देश दिए कि अभियान के तहत प्रभावी कार्रवाई सुनिश्चित की जाए। रेत के अवैध उत्खनन, परिवहन और भण्डारण करने वालों के विरूद्ध भी सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए। 

इसके साथ ही अवैध रेत खनन की रोकथाम के लिये स्थापित किए गए नाकों पर सख्त कार्रवाई करने की व्यवस्था सुनिश्चित करने को कहा। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने डबरा अनुभाग क्षेत्र में सभी पात्र लोगों को आयुष्मान भारत कार्ड उपलब्ध कराने के लिये विशेष प्रयास करने को कहा। राजस्व प्रकरणों के निराकरण की समीक्षा के दौरान निर्देश दिए गए कि सम्पूर्ण अनुभाग क्षेत्र में राजस्व प्रकरणों के निराकरण के लिये विशेष अभियान चलाकर कार्य किया जाए। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने इसके पश्चात भितरवार पहुँचकर अस्पताल का निरीक्षण किया। अस्पताल में उपस्थित मरीजों से भी स्वास्थ्य सेवाओं के संबंध में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने अनुविभागीय अधिकारी राजस्व अश्विनी रावत को निर्देशित किया कि अस्पताल की व्यवस्थाओं  का समय-समय पर निरीक्षण करें एवं साफ-सफाई के साथ-साथ मरीजों को उपलब्ध कराई जा रही दवाओं के स्टॉक का भी सत्यापन करें। 

कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने बुधवार को चीनौर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का भी आकस्मिक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान अस्पताल में ज्यादातर कर्मचारी अनुपस्थित पाए गए। अनुपस्थित पाए गए सभी कर्मचारियों का दो – दो दिन का वेतन काटने के निर्देश कलेक्टर ने जारी किए हैं। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर बिना अनुमति के कर्मचारियों के अनुपस्थित रहने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया है कि स्वास्थ्य सेवाओं के क्रियान्वयन में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। जिले के सभी स्वास्थ्य केन्द्रों पर चिकित्सक एवं मैदानी अमला उपस्थित रहकर स्वास्थ्य सेवायें आम जनों को उपलब्ध कराएँ। भविष्य में स्वास्थ्य केन्द्रों पर बिना अनुमति के कोई भी चिकित्सक अथवा कर्मचारी अनुपस्थित पाया जाता है तो उनके विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई की जायेगी।