करणी सेना प्रदेश कार्यसमिति की बैठक...

PM देश में समानता लाने हम दो हमारे दो का कानून लायें : सूरजपाल अम्मू

ग्वालियर। करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सूरजपाल अम्मू ने कहा है कि वह स्वयं भी किसान हैं, वह केन्द्र द्वारा लाये गये किसान बिल का समर्थन करते हैं। उन्होंने यह भी जोडा कि दिल्ली की सीमाओं पर बैठे हुये किसान नकली किसान हैं। उन्होंने कहा कि देश में लोकतंत्र है और लोगों को भी लोकतंत्र में ही रहकर काम करना चाहिये। सीमाओं पर बैठे किसान दबंगई दिखा रहे हैं। उन्हें यदि बिल पसंद नहीं है तो लोकतंत्र के माध्यम से बात करें । उन्होंने कहा कि बाबरी का ढांचे को तोड दिया गया है अब मथुरा और काशी की गंदगी को भी साफ कर देना चाहिये। उन्होंने कहा कि देश में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने तीन तलाक बिल से लेकर काशमीर में धारा ३७० को समाप्त करना एक बहुत अच्छा कदम है। 

इसे देखकर एक उम्मीद प्रधानमंत्री मोदी से जगी है। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी से मांग करते हुए कहा है कि वह अब देश में समानता लाने के लिये हम दो हमारे दो बच्चों का कानून भी लायें । उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार के मुखिया शिवराज सिंह चौहान मामा इन दिनों गुस्से में हैं और वह मुगलों और अंग्रेजों द्वारा रखे गये नामों को बदल कर भारत का सम्मान कर रहे है और विदेशी आक्रंताओं की निशानी को समाप्त कर हिन्दुत्व को आगे बढा रहे हैं। श्री अंब ने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मांग की कि वह भी करणी सेना के एक फिल्म का विरोध करने पर कार्यकार्यताओं पर लादे गये मुकदमों को वापस लें। उन्होने कहा कि देश के युवाओं को जेएनयू, एएमयू, जम्मू काशमीर , ओबेसी , जैसे नेता नहीं चाहिये। उन्होंने कहा कि युवा अनेक मुददों को लेकर दिशाहीन हो गया है ऐसे में करणी सेना युवाओं को एक दिशा प्रदान करने का काम कर रही है। राष्ट्रीय अध्यक्ष सूरजपाल अम्मू ने कहा है कि उनका दल हिन्दुत्व की बात कहने वाला दल है। यह कोई जाति विशेष का दल नहीं है। उन्होने बताया कि उनका दल २३ राज्यों में काम कर रहा है। 

उन्होंने कहा कि उनका उददेश्य है कि समाज में काम कर रहे हिन्दु की गर्दन ना झुकाऐंगे ना झुकने देंगे। उन्होंने कहा कि देशभर में करणी सेना के १८ लाख सदस्य हैं। मुगलों और अंग्रेजों के नामों को बदलने पर कुछ हिन्दुओं द्वारा विरोध करने के बारे में पूछे एक प्रश्र के उत्तर में सूरजपाल अम्मू ने कहा कि वह मिलावटी हिन्दू हैं जो मुगलों और अंग्रेजों के नामों को हटाने का विरोध कर रहे हैं। इस अवसर पर करणी सेना के पदाधिकारी बॉबी पारिक , महिला मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष कीर्ति राठौर, उपाध्यक्ष विजेता वर्मा, अनु चौधरी , कोषाध्यक्ष दिनेश चौहान, राष्ट्रीय मंत्री पंकज सिंह, मीडिया सह प्रभारी रविन्द्र सिंह पवैया आदि मौजूद थे। इस अवसर पर उन्होंने एक बैठक कर करणी सेना के संगठन को मजबूत करने की बात भी कही।