शहर विकास के लिए महाराज सड़क पर...

विकास का अवलोकन करने पैदल ही चलना पड़ता है : सिंधिया

ग्वालियर। इसे मजबूत लोकतंत्र की ताकत ही कहा जाएगा की जिन्हें महाराज का दर्जा प्राप्त है उन्हें भी सुंदर व स्मार्ट शहर के विकास का अवलोकन करने जमीन पर पैदल चलना ही पड़ता है। आज ऐतिहासिक शहर के महाराज बाड़े पर इस बात को शहरवासियों ने उस वक़्त साक्षात अपनी आंखों से देखा जब सामान्यतः राजश्री ठाट बाट के परिवेश में रहने वाले देश के बेस कीमती महलों में से एक   जयविलास के मालिक राज्यसभा सांसद एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को  पैदल घूमकर ही ग्वालियर की विरासतों का अवलोकन करते उन्होंने देखा । सिंधिया ने रविवार को महाराज बाड़े पर स्मार्ट सिटी द्वारा निर्मित किए गए डिजिटल म्यूजियम एवं तारामण्डल के साथ-साथ टाउन हॉल का भी निरीक्षण करते हुए यह बात कही। 

राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने रविवार को पैदल घूमकर ही ग्वालियर की विरासतों का अवलोकन किया। उन्होंने महाराज बाड़ा, गोरखी, विक्टोरिया मार्केट और टाउन हॉल का निरीक्षण किया। स्मार्ट सिटी द्वारा किए जा रहे कार्यों के साथ-साथ उनके भविष्य के प्रस्तावों पर भी विस्तार से चर्चा की। राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सर्वप्रथम डिजिटल म्यूजियम का निरीक्षण किया। उन्होंने सम्पूर्ण म्यूजियम का अवलोकन करने के पश्चात स्मार्ट सिटी द्वारा तैयार किए गए म्यूजियम की भूरि-भूरि प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी की टीम ने बहुत ही अच्छा म्यूजियम तैयार किया है। इस म्यूजियम के संधारण और देखरेख की जवाबदारी भी अच्छी तरह से होना चाहिए। म्यूजियम में ग्वालियर की कला, संस्कृति और पुरातात्विक महत्व को बहुत ही अच्छी तरह से प्रदर्शित किया गया है।

डिजिटल म्यूजियम न केवल ग्वालियरवासियों के लिये बल्कि ग्वालियर आने वाले हर सैलानी के लिये भी एक जन आकर्षण का केन्द्र बनेगा। राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने इसके पश्चात स्मार्ट सिटी द्वारा तैयार किए जा रहे तारामण्डल का भी अवलोकन किया। उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी तत्परता से तारामण्डल का कार्य पूर्ण करे और इसे आम जनों के लिये लोकार्पित भी करे। ग्वालियर में तारामण्डल की स्थापना बहुत दिनों से अपेक्षित थी, जिसे स्मार्ट सिटी पूर्ण करने जा रही है। यह तारामण्डल हमारे नवयुवकों के लिये एक उपहार होगा और उन्हें शिक्षा की दिशा में भी सहयोगी बनेगा। इस तारामण्डल के बन जाने के पश्चात इसका व्यापक प्रचार-प्रसार भी किया जाए ताकि न केवल ग्वालियर बल्कि आस-पास के प्रदेश व जिले के लोग भी इसका लाभ उठा सकें। राज्यसभा सांसद श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया ने इसके पश्चात गोरखी पहुँचकर स्मार्ट सिटी की भावी योजनाओं के संबंध में विस्तार से जानकारी ली। उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा कि जो भी निर्माण कार्य किए जाएं उसमें हमारी संस्कृति को सहेजने का काम हो। आधुनिकता के साथ-साथ संस्कृति की परवरिश और देखरेख करने की हम सबकी पहली जवाबदारी है। 

श्री सिंधिया ने इसके पश्चात विक्टोरिया मार्केट का भी अवलोकन किया। विक्टोरिया मार्केट की भव्य इमारत में जियोलॉजिकल म्यूजियम बनाया जा रहा है। यह म्यूजियम भारत सरकार द्वारा तैयार किया जा रहा है। इसके बन जाने से भी ग्वालियर में विकास का एक नया अध्याय जुड़ेगा। इस बहुमंजिला इमारत का और बेहतर उपयोग कैसे हो सकता है, इस पर भी गंभीरता से विचार करने की बात उन्होंने कही। राज्यसभा सांसद श्री सिंधिया ने इसके पश्चात ग्वालियर के टाउन हॉल का अवलोकन किया। वर्षों के बाद ग्वालियर के टाउन हॉल को स्मार्ट सिटी द्वारा भव्य स्वरूप प्रदान किया गया है। उन्होंने टाउन हॉल की भव्यता को देखकर स्मार्ट सिटी टीम को पुन: बधाई दी। उन्होंने कहा कि इस टाउन हॉल का बेहतर उपयोग हो और अच्छी से अच्छी गतिविधियां यहाँ नियमित रूप से संचालित की जाएं। ग्वालियर के हृदय स्थल महाराज बाड़े पर बने इस भव्य टाउन हॉल का उपयोग संगीत और कला के लिये किया जाए। 

राज्यसभा सांसद श्री सिंधिया ने स्मार्ट सिटी के अधिकारियों को यह भी कहा कि उनके द्वारा तैयार किए गए सभी प्रोजेक्टों से स्मार्ट सिटी को किस प्रकार आय प्राप्त हो सकती है, इस दिशा में सार्थक प्रयास किए जाएं। इन प्रोजेक्टों से प्राप्त होने वाली आय से ही भविष्य में संधारण का कार्य किया जा सकेगा। उन्होंने महाराज बाड़े के मध्य स्थापित उद्यान के विकास और अन्य योजनाओं को भी तत्परता से प्रारंभ करने की बात कही। श्री सिंधिया ने यह भी कहा कि महाराज बाड़े पर पुरातात्विक महत्व के जो भवन एवं अन्य स्मारक हैं उन्हें पूर्व रूप में लाने के लिये भी अगर कोई कार्य आवश्यक है तो किया जाए। स्मार्ट सिटी की सीईओ जयति सिंह ने श्री सिंधिया को स्मार्ट सिटी द्वारा किए जा रहे सभी प्रोजेक्टों के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने आश्वस्त किया कि स्मार्ट सिटी के सभी प्रोजेक्ट पूर्ण गुणवत्ता के साथ समय-सीमा में पूर्ण होंगे और ग्वालियर के लोगों को इसका बेहतर लाभ भी मिलेगा।