अभिनंदन हिंदी
माणिक, मोती ,कंचन हिंदी,
तिलक राष्ट्र का चंदन हिंदी।
अपनों से भी अपनी लगती,
रेशम सा एक बंधन हिंदी।
श्रेष्ठ,सरल,सुंदर, संस्कारी,
मिश्री सा संबोधन हिंदी।
भाषाओं के वन-उपवन में,
सरस और सम्मोहन हिंदी।
विश्व चेतना बन मुस्काती,
ह्रदय से अभिनंदन हिंदी।
"हिंदी भाषा ही नहीं भावों की अभिव्यक्ति है,
सदियों से हर भारतीय के शब्दों की शक्ति है।"

विश्व हिंदी दिवस के अवसर पर 
आप सभी को हार्दिक  शुभकामनाएं।