अधिकारियों के विरूद्ध दण्डात्मक कार्रवाई के निर्देश...

शहर में अब बिना डस्टबिन वाली दुकानों व ठेलों का होगा चालान !

ग्वालियर। शहर की स्वच्छता की मॉनीटरिंग स्मार्ट सिटी कंट्रोल कमाण्ड सेंटर से करने के साथ ही शिकायतों का संकलन और संबंधित अधिकारियों को भेजकर उसके निराकरण की जो नई व्यवस्था लागू की गई है उसमें संबंधित अधिकारी शिकायतों का 12 घंटे में निराकरण कर रिपोर्ट प्रस्तुत करें। स्वच्छता सर्वेक्षण के दौरान 12 घंटे में शिकायतों का निराकरण करने पर स्वच्छता रैंकिंग में अंक भी निगम को मिलेंग। 

शिकायतों के निराकरण में लापरवाही पाए जाने पर संबंधित अधिकारियों के विरूद्ध दण्डात्मक कार्रवाई की जाएगी। संभागीय आयुक्त एवं नगर निगम प्रशासक आशीष सक्सेना ने गूगल मीट के माध्यम से शहर की स्वच्छता की समीक्षा करते हुए उक्त निदेश दिए है। नगर निगम आयुक्त शिवम वर्मा ने समीक्षा के दौरान भरोसा दिलाया कि स्वच्छता के कार्य को निगम सर्वोच्च प्राथमिकता से कर रहा है। 

शत-प्रतिशत दुकानदारों के यहां डस्टबिन रखवाने का कार्य अभियान के रूप में किया जाएगा इसके साथ निगम की आय बढ़ाने के भी विशेष प्रयास किए जाएंगे। ऑनलाइन टैक्स जमा कराने को ही प्रोत्साहित किया जाएगा। गूगल मीट की समीक्षा के दौरान सीईओ स्मार्ट सिटी जयति सिंह सहित सभी अपर आयुक्त नगर निगम और वार्ड मॉनीटर उपस्थित रहे।