थाना हजीरा पुलिस ने शातिर नकबजन…

पुलिस ने शातिर चोर को चोरी के माल व रिवॉल्वर सहित किया गिरफ्तार

ग्वालियर। थाना हजीरा पुलिस ने शातिर नकबजन व चोर केबल लोधी निवासी राऊपुरा गोरमी को गिरफ्तार कर रिवाल्वर व गोल्ड ज्वेलरी  कीमती 05 लाख रुपए बरामद किया। घटना का संक्षिप्त विवरण - रमा देवी कुशवाह निवासी माधवी नगर गदाईपुरा ग्वालियर में रिपोर्ट की कि मेरी पुत्री शालिनी दामाद सुखदेव सिंह तोमर का मकान माधवी नगर गदाईपुरा में है सुखदेव सिंह आर्मी में नौकरी करते हैं व दमाद व पुत्री पटियाला में रहते हैं। दिनांक 06.10.2020 की रात अज्ञात चोर मकान का ताला तोड़कर मकान में रखी दामाद की लाइसेंसी रिवाल्वर व सोने के जेवर चोरी कर ले गया। थाना हजीरा पर अपराध क्रमांक 347/20 धारा 457, 380 आईपीसी पंजीबद्ध किया। फरियादी अशोक प्रजापति निवासी माधवी नगर गदाईपुरा थाना हजीरा पर रिपोर्ट की कि अज्ञात चोर ने दिनांक 06.10.2020 की रात उसके मकान में घुसकर दो मोबाइल फोन चोरी किए। थाना हजीरा में अपराध क्रमांक 349/20 धारा 457, 380 आईपीसी पंजीबद्ध किया। 

दिनांक 12.10.2020 पुलिस अधीक्षक ग्वालियर अमित सांघी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर मध्य पंकज पांडे, नगर पुलिस अधीक्षक महाराजपुरा ग्वालियर रवि भदौरिया के निर्देशन में पुलिस थाना हजीरा थाना निरी. आलोक सिंह परिहार के नेतृत्व में टीम का गठन किया गया घटनास्थल के आसपास के सीसीटीवी फुटेज निकाल कर अज्ञात चोर की शिनाख्त के प्रयास किए गए तो चोर का नाम पता ज्ञात हुआ कि यह शातिर चोर केबल लोधी निवासी राऊपुरा गोरमी का है जिसे पुलिस थाना हजीरा टीम ने दिनांक 11.10.2020 को डीडी नगर ग्वालियर से गिरफ्तार कर उससे चोरी की रिवाल्वर व सोने के जेवर कीमती 05 लाख रुपए उसके घर राऊपुरा से बरामद किया।

गिरफ्तार किए आरोपी का नाम केबल लोधी उर्फ कोमल लोधी पुत्र भाव सिंह उम्र 19 वर्ष निवासी रामपुरा गोरमी भिंड बरामद संपत्ति का विवरण 01 रिवाल्वर लाइसेंसी, गोल्ड ज्वेलरी 3 सोने की चूड़ी, 07 अंगूठी, 01 सोने की चैन, 02 मोबाइल फोन (कुल कीमत 05 लाख रुपए) आरोपी केबल लोधी का अपराधिक रिकॉर्ड आरोपी केबल लोधी उर्फ केबलिया उर्फ कोमल लोधी राऊपुरा गांव से पढ़ाई करने आया व चार शहर का नाका इंदिरा नगर में किराए से रहता था व 15 वर्ष की उम्र से ही चोरी व नकबजनी करने लगा है। स्मैक पीने व जुआ खेलने की लत लग गई। केवल कक्षा 6 तक पढ़ाई की व उसके बाद पढ़ाई छोड़ दी। थाना गोला का मंदिर व महाराजपुरा की चोरी के प्रकरण में पूर्व में गिरफ्तार पुलिस ने किया था बाल संप्रेक्षण गृह में भी कई महीने रहा है। चोरी करने के बाद अपने गांव में चोरी की रकम से जुआ खेलता है व स्मेक पीता है।