सभी मतदान केन्द्रों पर मुहैया होंगी आवश्यक सुविधायें…

किसी भी मतदान केन्द्र से नहीं मिलनी चाहिये शिकायत : जिला सीईओ 

मुरैना। विधानसभा उपनिर्वाचन 2020 के लिये मतदान 3 नवम्बर को होना है। मतदान संपन्न कराने के लिये मतदान दल 2 नवम्बर को अपने-अपने मतदान केन्द्रों पर दोपहर तक पहुंच जायेंगे। मतदान केन्द्रों पर विद्युत, पेयजल, रैम्प, टेन्ट, व्हीलचेयर, पैट्राॅमैक्स, फर्नीचर, फर्स, गद्दे, कबंल आदि की व्यवस्थायें सुनिश्चित कर अधिकारी 1 नवम्बर को अपने-अपने विधानसभा क्षेत्रों के मतदान केन्द्रांे की सूची बनाकर प्रमाणपत्र पहुंचाये। यह निर्देश जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी तरूण भटनागर ने मंगलवार को नवीन जिला पंचायत भवन में नगरीय निकाय एवं जनपद सीईओ को दिये। इस अवसर पर आयुक्त नगर निगम अमरसत्य गुप्ता, शिक्षा, पीडब्ल्यूडी, समस्त जनपद सीईओ एवं नगरीय निकायांे के सीएमओ उपस्थित थे। जिला सीईओ तरूण भटनागर ने कहा कि सभी अधिकारी अपने-अपने दायित्वों को प्राथमिकता के साथ 1 नवंबर तक मतदान केन्द्र पर आवश्यक व्यवस्थायें सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि कई मतदान केन्द्र ऐसे है जहां अभी भी विद्युत व्यवस्था करना शेष है। उन मतदान केन्द्रों पर आसपास से वायरिंग कराकर विद्युत पहुंचाये। इसके अलावा लाइट जाने पर पैट्राॅमैक्स का प्रबंध रहे। 

मतदान केन्द्रों पर पाॅलिंग पार्टियों के पहंुचने से पूर्व आवश्यक व्यवस्था पूर्ण कर ली जाये। जिला सीईओ श्री भटनागर ने कहा कि मतदान केन्द्रों पर पाॅलिंग पार्टियों के लिये पीने एवं नहाने के लिये पर्याप्त मात्रा में पानी उपलब्ध रहे। इसके लिये मटके तथा हेण्डपम्प न होने पर टेंकरों का प्रबंध करें। जिला सीईओ ने कहा कि कई मतदान केन्द्र ऐसे थे, जिन पर रैम्प बने हुये है, किन्तु वे रैम्प मानक के अनुसार नहीं है। दिव्यांग की व्हीलचेयर पहुंचने में असुविधा न हो। उसे दुरूस्त करायें। उन्होंने कहा कि जिन मतदान केन्द्रों के अन्तर्गत दिव्यांग या 80 वर्ष से अधिक मतदाता है। उन्हें मतदान कराने के लिये उस मतदान केन्द्र पर व्हीलचेयर उपलब्ध रहे। जिला सीईओ ने नगरीय निकाय एवं जनपद सीईओ को निर्देश दिये कि मतदान केन्द्रों पर टेन्ट, बैठने के लिये कुर्सियांे की संख्या 8 से 10 उपलब्ध रहे। जिससे धूप से बचने के लिये सहायक मतदान केन्द्र पर 8 से 10 या बड़े मतदान केन्द्र पर 16 से 20 का टेन्ट लगवायें एवं आवश्यक गद्दे, कंबल का प्रबंध करें। 

जिला सीईओ ने निर्देश दिये कि मतदान दल 2 नवम्बर को दोपहर बाद मतदान केन्द्रों पर पहुंच जायेंगे। उनके लिये रात्रि का भोजन, 3 नवम्बर को सुबह का नाश्ता, दोपहर का भोजन और सायं मतदान समाप्ति के पहले चाय, बिस्कुट का प्रबंध करें। इसके लिये स्व-सहायता समूह या ग्राम पंचायत के सचिव, जीआरएस व्यवस्थायें करें। जिला सीईओ तरूण भटनागर ने कहा कि कोविड को ध्यान में रखते हुये सोशल डिस्टेसिंग का पालन किया जाना है। इसके लिये प्रत्येक मतदान केन्द्र पर चूना या पैन्ट से गोले बनाये जायें। इसके साथ ही प्रत्येक मतदान केन्द्र पर एक स्वच्छता कर्मी रहेगा, जो आने वाले मतदाताओं की थर्मल स्क्रीनिंग करेगा। इसलिये उसके बैठने का प्रबंध मतदान केन्द्र के बार छाया में कुर्सी टेबल लगाकर किया जावे। कोविड को ध्यान में रखते हुये प्रत्येक मतदान केन्द्र पर टेंन्ट एवं कुर्सियों का प्रबंध किया जाये। कई मतदाताओं का किन्हीं कारण बस तापमान अधिक आता है तो उन्हें कुछ समय के लिये वैटिंग कक्ष में बिठाने की सुविधा मिलनी चाहिये। कुछ समय बाद उसका तापमान कम हो सके और वह मतदान कर सकेगा।