अमर्यादित टिप्पणी के विरूद्ध भाजपा ने दिया धरना…

हम गरीब का कल्याण करते हैं और कांग्रेसी खून चूसते हैं : गुप्ता

ग्वालियर 14 अक्टूबर। कांग्रेस नेता द्वारा जिस तरह प्रदेश के लोकप्रिय मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान पर अमर्यादित टिप्पणी की गई है, इस अमर्यादित टिप्पणी से गरीब, मजदूर, किसान का अपमान किया गया है। आज इसके विरोध में भारतीय जनता पार्टी द्वारा धरना दिया जा रहा है, इसकी हम कडे़ शब्दों में निंदा करते हैं। यह बात आज धरने को संबोधित करते हुए पूर्व केबिनेट मंत्री उमाशंकर गुप्ता ने कही। उन्होंने कहा कि हम गरीबों को कल्याण करते हैं, और कांग्रेसी गरीबों का खून चूसते हैं। दिग्गी के दस साल में क्या हुआ? और 15 साल की हमारी शिवराज सरकार ने गरीबों के लिए अनेक कल्याणकारी योजनाएं बनाई।

पिछले 15 महीने के बंटाधार शासन ने लगातार गरीबों को झूठ बोलकर शासन चलाया, एक भी वायदा पूरा नहीं किया। मंत्रालय दलालों के अड्डे बन गए थे। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को अपने मंत्रियों से मिलने तक का समय नहीं था। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को अपनी गरीब जनता के विकास के लिए पैसा नहीं था, लेकिन आइफा के लिए 55 करोड़ थे। पहले ही दिन वचन पत्र को कूड़ादान में फेंक दिया। कांग्रेसी इसलिए अमर्यादित बयान दे रहे हैं कि वह जानते हैं कि शिवराज सरकार अंगद की पैर की तरह है और प्रदेश में इस उपचुनाव में कांग्रेस का सूपड़ा साफ हो जाएगा। सांसद विवेक नारायण शेजवलकर ने कहा कि इस टिप्पणी की जितनी निंदा की जाए, उतनी कम है। 

चांद पर थूकने का क्या हर्ष होता है, यह अब कमलनाथ और उनके नेताओं को अब मालूम चल जाएगा। जनता मानने लगी है कि 15 महीने पहले हमने कांग्रेस की सरकार बनाकर गलती की थी और अब मौका है कि भाजपा की सरकार मजबूती से काम करें। जिलाध्यक्ष कमल माखीजानी ने कहा कि कांग्रेस के पास न तो आचार है, न ही विचार और न ही व्यवहार। कांग्रेस नेताओं की टिप्पणी से केवल मुख्यमंत्री का अपमान नहीं, बल्कि हर गरीब वंचितों का अपमान है। यह बयान हताशा और निराशा का परिचय है। कमलनाथ बताएं कि 15 महीने के अपने कार्यकाल में उन्होंने क्या किया कि व देश के सबसे बडे़ उद्योगपति बन गए।

भाजपा के वरिष्ठ नेता वेदप्रकाश शर्मा ने कहा कि कांग्रेस के नेता अमीर हो सकते हैं, बडे़ व्यापारी हो सकते हैं, साधन संपन्न हो सकते हैं, पर मैं गारंटी से कहता हूं कि वो बुद्धि से कंगाल है। व्यवाहारिक में गरीब है, और मानसिकता से नंगे हैं। उन्होंने कहा कि यदि शिवराज सिंह जी भूखे नंगे हैं तो हम सब कार्यकर्ता शिवराज हैं। कांग्रेस के इस बयान से असंख्य गरीबों को अपमान किया है, जिसकी हम घोर निंदा करते हैं। आज धरने को भाजपा के वरिष्ठ नेताओं बृजेंद्र सिंह जादौन, रामवरन सिंह गुर्जर, विवेक चैहान, नीलिमा शिंदे, रमेश सेन, मोनू पटेरिया, नूतन श्रीवास्तव ने भी संबोधित किया। धरना कार्यक्रम का संचालन शरद गौतम ने एवं आभार महेश उमरैया ने व्यक्त किया।