अधिकारी भयमुक्त होकर करें कार्रवाही...

उप चुनाव स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शान्तिपूर्ण संपन्न कराना हम सब की जिम्मेदारी : कलेक्टर  



मुरैना । मुरैना जिले की 5 विधानसभा सीटों पर उप चुनाव 2020 होना है। इसके लिये पुलिस एवं राजस्व अधिकारी इलेक्शन मोड में आयें और उप चुनाव स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शान्तिपूर्ण संपन्न कराना हम सबकी जिम्मेदारी है। उन्हांेने कहा कि चुनाव आयोग उप चुनाव में छोटी-छोटी गलतियों पर विशेष ध्यान देता है। इसलिये अधिकारी भूलकर भी उप चुनाव में कोई गलती न करें। चुनाव में गलती हुई तो उसे क्षम्य नहीं किया जायेगा। यह निर्देश कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री अनुराग वर्मा ने सोमवार को राजस्व एवं पुलिस अधिकारियों की संयुक्त बैठक में चल रही उप चुनाव की तैयारियों के संबंध में दिये। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक श्री अनुराग सुजानिया, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री हंसराज सिंह, अपर कलेक्टर श्री एसके मिश्रा, संयुक्त कलेक्टर एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री एलके पाण्डे, रिटर्निंग आॅफीसर एवं सहायक रिटर्निंग आॅफीसर, समस्त एसडीओपी पुलिस, टीआई, थाना प्रभारी उपस्थित थे।   

जिला निर्वाचन अधिकारी श्री वर्मा ने कहा कि हम सभी के लिये उप निर्वाचन सर्वोपरि है। इसके लिये चुनाव की तिथि घोषित होने के बाद सभी चुनावी गतिविधियां प्रारंभ हो जायेंगी। इसलिये अधिकारी अभी से इलेक्शन मोड में आयें। उन्होंने कहा कि मुरैना जिले में 5 विधानसभा क्षेत्रों में कुल 1726 पाॅलिंग बूथ बनायें जायेंगे। उन्होंने बताया कि पांचों विधानसभा क्षेत्रों में 5 आरओ, 5 एआरओ तथा 1448 बीएलओ तैनात किये है। उन्होंने बताया कि उप चुनाव स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शान्तिपूर्ण संपन्न कराने के लिये 133 सेक्टर आॅफीसर बनाये गये है। उन्होंने बताया कि इस चुनाव में 11 लाख 75 हजार 227 मतदाता मताधिकार का उपयोग करेंगे। जिनमें 8 हजार 610 सर्विस मतदाता भी शामिल है। उन्होंने बताया कि 65 से ऊपर 74 हजार 274 एवं 13 हजार 432 पीडब्ल्यूडी मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे। कलेक्टर ने बताया कि जौरा विधानसभा क्षेत्र में कुल 370, सुमावली में 348, मुरैना में 376, दिमनी में 315, अंबाह में 317 मतदान केन्द्र बनाये गये है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 को ध्यान में रखते हुये 1 हजार से ऊपर वाले मतदान केन्द्र पर सहायक मतदान केन्द्र बनाये गये है। जिससे कोविड नियमों का पालन हो सके। 

कलेक्टर ने कहा कि उप चुनाव में हर पार्टी की नजर अधिकारियों पर रहती है। इन्हीं चुनावों में अधिकतर एक दूसरे की शिकायतें होती है। हम सभी को स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शान्तिपूर्ण मतदान कराना है। इसके लिये प्रत्येक रिटर्निंग आॅफीसर, सहायक रिटर्निंग आॅफीसर अपने-अपने पुलिस अधिकारियों के साथ मतदान केन्द्रों का भौतिक सत्यापन करें। कई मतदान ऐसे होंगे, जहां वर्षा के बहाव के कारण सड़क संपर्क टूट गये होंगे। वहां पहुंचने के लिये अभी से ज्ञात होने पर सड़कों की मरम्मत कराई जा सकती है। उन्होंने कहा कि राजस्व एंव पुलिस अधिकारी कार्रवाही में कोताही न बरतें। बिना हिचकिचाहट किये हुये कार्रवाही करें। कलेक्टर ने कहा कि वाउण्ड आॅवर कितने किये है, जिला बदर, 107, 116 के प्रकरणों में इलेक्शन के नियमों के निर्देशों का पालन करते हुये कार्रवाही करें।  

पुलिस अधीक्षक श्री अनुराग सुजानिया ने कहा कि राजस्व एवं पुलिस के लिये बाय इलेक्शन चुनौतीभरा रहता है। इसके लिये जनता जिसको वोट देना चाहती है, उसे भयमुक्त होकर मतदान करावें। उन्होंने कहा कि अपराधियांे पर अंकुश लगे, जनता निर्भीक होकर मतदान कर सकें। उन्होंने कहा कि जो ऐसे लोग जिन पर 3 या 3 से अधिक अपराध दर्ज हो उन पर कार्रवाही करें। जो लोग चिन्हित किये गये है, उन्हें जिला बदर करने की कार्रवाही करें। अक्सर वल्नरेबल मैपिंग कहां-कहां पर है, उसे देंखे। जो लोग किसी के दबाव में आकर मतदान से वंचित रहते है तो उन लोंगो को भयमुक्त होकर मतदान करावें।